For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

कीट नहीं खराब करेंगे आपके पौधे, अगर अपनाएंगे यह टिप्स

|

आज के समय में होम-गार्डनिंग का चलन काफी बढ़ गया है। इन दिनों लोग कम स्पेस में ही कई तरह की फल-सब्जियां को उगाने लगे हैं, जिसे किचन गार्डनिंग भी कहा जाता है। मसलन, घर में ही सब्जियां उगाईं और इन्हें अपनी ही किचन में इस्तेमाल कर लिया। यह हेल्दी रहने और पैसों की बचत करने का एक अच्छा तरीका है।

लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि आपके गार्डन एरिया में कुछ ऐसे मेहमान भी आ जाते हैं, जो आपको बिल्कुल भी पसंद नहीं होते हैं, क्योंकि यह आपके पूरे पौधों को खराब कर देते हैं। वहीं, अगर इन पर समय रहते ध्यान ना दिया जाए तो पौधों को खराब होते देर नहीं लगतीं। हालांकि, अगर आप चाहें तो कुछ नेचुरल चीजों की मदद से ही इन कीटों से छुटकारा पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में-

मित्र कीटों से करें दोस्ती

मित्र कीटों से करें दोस्ती

जहां कुछ कीट आपके पौधों को नुकसान पहुंचाते हैं, वहीं ऐसे कई कीट भी होते हैं, जो इन नुकसान पहुंचाने वाले कीटों को खा जाते हैं और आपके पौधों का ख्याल रखने में मदद करते हैं। इसलिए, आप कोशिश करें कि आप अपने गार्डन एरिया की व्यवस्था कुछ इस तरह करें, जिसकी मदद से मित्र कीट आपके गार्डन एरिया में आएं और आपके पौधों को स्वस्थ रखने में मदद करें। एफिड, रेड माइट व कैटरपिलर आपके पौधों को नुकसान पहुंचाते हैं और इनसे बचाव के लिए आप लेडीबग बीटल व ड्रैगन फ्लाई को अपने गार्डन में आकर्षित करें। आमतौर पर, प्लांट पर किसी तरह के केमिकल का छिड़काव करने से यह लेडीबग बीटल व ड्रैगन फ्लाई नहीं आते हैं और आपके पौधों के नुकसान होता है।

सही तरह से पौधों को पानी

सही तरह से पौधों को पानी

पौधों से अधिकतर कीटों से बचाव का एक आसान तरीका है कि आप अपने पौधों को पानी देने का तरीका बदलें। इसके लिए, आप पहले अपने पौधे पर हाथ फिराएं और नीचे की तरफ पानी का स्प्रे करें। ऐसा करने से ही अधिकांश कीट आपके पौधों से हट जाएंगे। इसके अलावा, टूथब्रश व हेयरब्रश की मदद से भी आप पौधों को कीट मुक्त रख सकते हैं।

कबूतर और गिलहरी को कहें बाय-बाय

कबूतर और गिलहरी को कहें बाय-बाय

किचन गार्डनिंग के दौरान कबूतर व गिलहरी की समस्या होना बेहद आम है। इनसे छुटकारा पाना काफी कठिन होता है, हालांकि आप नेचुरल तरीके को अपनाकर इससे भी निजा पा सकते हैं। मसलन, आप कबूतरों को गार्डन एरिया से दूर रखने के लिए आप झाड़ू की कुछ सीख लेकर उसे गमले में रोप दें। इसके अलावा, गिलहरी से मुक्ति पाने के लिए आप गौमूत्र की मदद लें। इसके लिए आप 10-20 एमएल गौमूत्र को एक लीटर पानी में डालकर मिक्स करें और उसे एक स्प्रे बोतल में भर दें। आप इस पानी से पौधे को अच्छी तरह स्प्रे करें। ऐसा करने से गिलहरी आपके पौधों के पास नहीं आएगी। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि अगर गौ-मूत्र अधिक हो जाता है तो इससे पौधों के पत्ते जलने की संभावना रहती है।

नीम का पानी

नीम का पानी

यह भी एक तरीका है, जिसकी मदद से आप कीट नियंत्रण कर सकते हैं। बस आपके इतना करना है कि आप रात में कुछ नीम की पत्तियां भिगो दें और अगली सुबह, आप उस पानी का छिड़काव अपने पौधों पर करें।

हींग करेगी कमाल

हींग करेगी कमाल

हींग की महक भी पौधां से कीटों को दूर रखती है। इसका इस्तेमाल करना बेहद आसान है। बस आपको इतना करना है कि आप एक चुटकी हींग को एक गिलास पानी में डालें और उसे तीन-चार घंटों के लिए ऐसे ही रख दें। अब आप इस पानी को कपड़े की मदद से छान लें और इसे भी एक स्प्रे बोतल में डालकर पौधों पर इसका छिड़काव करें।

English summary

Pest Control Through Own Grown Harvesting Method In Hindi

here we are talking about some pest control through own grown harvesting method. Have a look