For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

एमडीएच वाले चाचा नहीं रहें, जानें कैसे पहुंचे फर्श से अर्श तक

|

टीवी पर एमडीएच मसाले का विज्ञापन और विज्ञापन में दिखने वाले देश-विदेश में मशहूर एमडीएच मसाले के संस्‍थापक और इसे घर-घर तक पहुंचाने वाले महाशय धर्मपाल गुलाटी का 98 वर्ष की आयु में द‍िल का दौरा पड़ने से गुरुवार की सुबह को निधन हो गया। बताया जा रहा है कि वह काफी दिनों से बीमार थे और अस्‍पताल में भर्ती थे। वे 98 साल के थे।

सबसे बुजुर्ग अमीर शख्स थे गुलाटी

सबसे बुजुर्ग अमीर शख्स थे गुलाटी

महाशय धरमपाल गुलाटी आईआईएफएल हुरुन इंडिया रिच 2020 की सूची में शामिल भारत के सबसे बुजुर्ग अमीर शख्स थे। कभी उनके पास कुल जमा पूंजी 1500 रुपये ही थी, लेकिन आज उनकी अपनी दौलत 5400 करोड़ रुपये तक पहुंच गई है। खुद उन्हें सालाना 25 करोड़ रुपये का वेतन मिलता था। 98 वर्षीय गुलाटी का वेतन किसी अन्य एफएमसीजी कंपनी के सीईओ के मुकाबले सबसे अधिक थी। उन्हें पद्मभूषण से सम्‍मानित किया गया था।

देश के विभाजन के बाद पाकिस्तान से आए थे भारत

देश के विभाजन के बाद पाकिस्तान से आए थे भारत

महाशय दी हट्टी (MDH) के मालिक धर्मपाल गुलाटी (Mahashay Dharmpal Gulati)परिवार सहित 1947 में देश के विभाजन के बाद पाकिस्तान से भारत चले आए और दिल्ली में आकर तांगा चलाना शुरू किया. भारत आने के समय उनके पास 1500 रुपये ही बचे थे, जिससे उन्होंने 650 रुपये में घोड़ा और तांगा खरीदकर रेलवे स्टेशन पर चलाना शुरू किया। कुछ दिनों के बाद उन्होंने अपने भाई को तांगा देकर करोलबाग की अजमल खां रोड पर मसाले बेचना शुरू कर दिया।

MDH की पहली फैक्ट्री 1959 में लगाई गई

MDH की पहली फैक्ट्री 1959 में लगाई गई

धर्मपाल के मसाले की दुकान के बारे में जब लोगों को यह पता चला कि सियालकोट के देगी मिर्च वाले अब दिल्ली में हैं, उनका कारोबार फैलता चला गया। गुलाटी परिवार ने मसालों की सबसे पहली फैक्ट्री 1959 में राजधानी दिल्ली के कीर्ति नगर में लगाई थी। इसके बाद उन्होंने करोल बाग में अजमल खां रोड पर ऐसी ही एक और फैक्ट्री लगाई। 60 के दशक में एमडीएच करोल बाग में मसालों की मशहूर दुकान बन चुकी थी।

MDH के कार्यालय लंदन और दुबई में भी

MDH के कार्यालय लंदन और दुबई में भी

एमडीएच मसालों के सबसे बड़े ब्रांड में से एक है और 50 विभिन्न प्रकार के मसालों का उत्पादन करता है। MDH एमडीएच के कार्यालय न सिर्फ भारत में बल्कि दुबई और लंदन में भी हैं। एमडीएच के 60 से अधिक उत्पाद बाजार में उपलब्ध हैं लेकिन सबसे अधिक बिक्री देगी मिर्च, चाट मसाला और चना मसाला का होता है।

English summary

Interesting Facts About MDH Owner Mahashay Dharampal Gulati in Hindi

Dharampal Gulati Passes Away: Mr Gulati, also fondly known as dadaji and Mahashayji, was a second-generation entrepreneur; who was born on March 27,1923 in Sialkot (now, Pakistan) and migrated to India after partition.