For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

बच्चे के लिए पहले काटे बाल और फिर बेचा नींबू पानी, अब बन गई सब इंस्पेक्टर

|

’कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती’, यह लाइनें एनी की जीवन पर पूरी तरह से सही साबित होती हैं। एनी ने कॉलेज के पहले साल में ही शादी कर ली थी, उसका एक बच्चा था लेकिन शादी नहीं चल पाई और एनी को अपना और अपने बच्चे दोनों की देखभाल करने के लिए अकेला छोड़ दिया गया। अपने पति से अलग होने के बाद, वह अपने माता-पिता के पास लौट आई लेकिन उन्होंने उसे वापस लेने से इनकार कर दिया। फिर उसने अपनी दादी के यहाँ शरण ली। कमाने के लिए वह नींबू पानी बेचती थी और गुजारा करती थी। लेकिन वह उसके लिए काफी नहीं था, वह बड़ा सपना देखना चाहती थी। उसने पुलिस के लिए फॉर्म भरे और नींबू पानी बेचने वाली से वह एक सब इंस्पेक्टर बन गई।


अपने बेटे को पालने के लिए, उस सिंगल मदर ने कई जगह हाथ आजमाया और कई तरह के काम किए। वह एक बैंक में सेल्सपर्सन और यहां तक कि पॉलिसी सेलर भी बन गई। बाद में, वह केरल के वर्कला शहर के वर्कला मैदान में नींबू पानी बेचने लगी। वर्षों बाद, एनी उसी जगह पर बतौर सब इंस्पेक्टर बनकर लौट आई। आज एनी ने ना केवल अपने जीवन को पहले से बेहतर बनाया है, बल्कि वह अन्य कई लोगों के लिए भी एक प्रेरणास्त्रोत बनी हैं। तो चलिए जानते हैं एनी के जीवन से जुड़ी 5 मुख्य बातें-
1. एक एकल मां के रूप में, एनी के लिए रहने के लिए एक परमानेंट प्लेस ढूंढना काफी मुश्किल था। वह किराए के घर की तलाश में लगातार इधर-उधर भटक रही थी। इतना ही नहीं, खुद को कुछ असामाजिक तत्वों से बचाने और लोगों की नजरों से बचने के लिए उसने अपने बाल छोटे कर लिए।

2. उसके संघर्ष को देखकर, एक रिश्तेदार ने उसे एक पुलिस अधिकारी के पद के लिए आवेदन करने का सुझाव दिया और परीक्षा के लिए उसे पैसे उधार दिए। उसने परीक्षा पास की और 2016 में पुलिस अधिकारी बन गई।

3. तीन साल बाद, उसने सब-इंस्पेक्टर के पद के लिए परीक्षा पास की और 18 महीने के प्रशिक्षण के बाद, 26 जून को वर्कला पुलिस स्टेशन में प्रोबेशनरी सब-इंस्पेक्टर के रूप में शामिल हुई।

4. एक न्यूज चैनल से बात करते हुए एनी ने बताया कि उन्हें आईपीएस ऑफिसर बनाना उनके पिता का सपना था। इसलिए उसने बहुत मेहनत से पढ़ाई की और नौकरी पाना उसका मिशन बन गया। जीवन में परिस्थितियों पर आंसू बहाने का कोई फायदा नहीं है। हमें छलांग लगानी होगी। हमें तब तक हार नहीं मिलती है जब तक हम यह तय नहीं कर लेते कि हम हार गए हैं।“

5. एनी ने सभी बाधाओं के बावजूद सफलता की महान ऊंचाइयों को हासिल किया और अन्य महिलाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बनीं। एनी ने कहा कि मैंने यह लक्ष्य सभी बाधाओं के खिलाफ हासिल किया। मुझे यह देखकर खुशी होगी कि अन्य महिलाओं को अपने पैरों पर खड़े होने के लिए मेरे जीवन से प्रेरणा मिलती है।

English summary

Lemonade Seller To Sub Inspector Sub Inspector Anie Siva Is Breaking Stereotypes

Here we are talking about a single mother Sp Anie who turns lemonade seller to sub inspector. Know more.