For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

हार से जीत की इबारत लिखने का हुनर है पीवी सिंधु के पास, जानें उनकी कुछ अनसुनी बातें

|

25 अगस्त 2019 का दिन बैडमिंटन प्रेमियों के लिए बेहद खास रहा। भारत की शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ना सिर्फ भारत की उम्मीदों पर खरी उतरी बल्कि सालों से देशवासियों के इंतजार पर विराम लगाते हुए वर्ल्ड चैंपियनशिप का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर, पीवी सिंधु ये कारनाम करने वालो भारत की पहली खिलाड़ी बन गयी। पूरा देश पीवी सिंधु की कामयाबी पर फख्र कर रहा है और इस विशेष मौके पर जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें।

वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल का जिक्र है जरूरी

वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल का जिक्र है जरूरी

सिंधु और उनकी चिर प्रतिद्वंदी ओकुहारा के बीच फाइनल का मुकाबला 37 मिनट तक चला। ये लगातार तीसरा मौका था जब सिंधु इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में देश के लिए मेडल लाने में कामयाब रही हो। लेकिन स्वर्ण पदक का स्वाद चखने के लिए उन्हें 2019 तक का इंतजार करना पड़ा। गौरतलब है कि इससे पहले 2017 और 2018 में रजत तथा 2013 व 2014 में कांस्य पदक जीत चुकीं हैं। सिंधु ने इस मुकाबले में ओकुहारा को कोई मौका नहीं दिया। पूरे मैच के दौरान भारतीय शटलर ने अपना दबदबा कायम रखा और ये एकतरफा मुकाबला 21-7, 21-7 से अपने नाम किया। इस जीत के साथ ही सिंधु ने ओकुहारा के खिलाफ अपना करियर रिकॉर्ड 9-7 कर लिया है। सिंधु ने ये गोल्ड मेडल अपनी मां को समर्पित किया।

Most Read: जानते हैं 200 वनडे खेलकर इतिहास रचने वाली मितली राज कैसे रहती हैं फिट

24 साल की उम्र में जीता वर्ल्ड चैम्पियनशिप का स्वर्ण

24 साल की उम्र में जीता वर्ल्ड चैम्पियनशिप का स्वर्ण

पीवी सिंधु का पूरा नाम पुसरला वेंकट सिंधु है। उनका जन्म 5 जुलाई 1995 को हैदराबाद में हुआ था।

माता पिता भी रहे खिलाड़ी

माता पिता भी रहे खिलाड़ी

पीवी सिंधु ही नहीं बल्कि उनके पिता पीवी रमना भी भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं लेकिन वो वॉलीबॉल के खिलाड़ी थे। सिंधु अपने पिता को ही अपना आदर्श मानती है। पीवी रमना को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। सिंधु की मां पी विजया भी वॉलीबॉल की खिलाड़ी रह चुकी हैं।

Most Read: इमरजेंसी के दौर में शादी के बंधन में बंधे थे सुषमा और स्वराज, परिवार नहीं था तैयार

ट्रेनिंग के लिए करती हैं 56 किलोमीटर का सफर

ट्रेनिंग के लिए करती हैं 56 किलोमीटर का सफर

सिंधु के घर से बैडमिंटन अकेडमी की दूरी लगभग 56 किलोमीटर है लेकिन बुलंद इरादों वाली इस खिलाड़ी ने कभी इसे आड़े नहीं आने दिया। वो रोज समय पर अपनी प्रैक्टिस के लिए अकेडमी पहुंचती है। ये खेल के प्रति उनकी दीवानगी का सबूत है।

8 साल की उम्र में ही थम लिया था बैडमिंटन रैकेट

8 साल की उम्र में ही थम लिया था बैडमिंटन रैकेट

पीवी सिंधु ने आठ साल की उम्र में ही बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था। बहुत कम लोगों को जानकारी है कि सिंधु ने इस खेल की बुनियादी जानकारी महबूब अली से ली थी। इसके बाद उन्होंने पुलेला गोपीचंद की सरपरस्ती में अपने हुनर को तराशा।

ओलंपिक में बढ़ा चुकी हैं देश का मान

ओलंपिक में बढ़ा चुकी हैं देश का मान

रियो ओलंपिक के महिला एकल बैडमिंटन मुकाबले में पीवी सिंधु ने रजत (सिल्वर) मेडल जीता था। वो ऐसा करने वाली भारत की पहली महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बनीं।

Most Read: चाणक्य ने सुंदर पत्नी को इन लोगों के लिए बताया है शत्रु के समान

मिल चुके हैं ये सम्मान

मिल चुके हैं ये सम्मान

पीवी सिंधु को 2013 में अर्जुन अवार्ड और 2015 में पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है। साल 2016 में सिंधु को राजीव गांधी खेल रत्न के लिए उन्हें चुना गया।

ये हैं सिंधु के पसंदीदा खिलाड़ी और एक्टर्स

ये हैं सिंधु के पसंदीदा खिलाड़ी और एक्टर्स

एक इंटरव्यू में सिंधु बता चुकी हैं कि उन्हें चीन के शीर्ष खिलाड़ी लीन-डेन पसंद हैं। उन्होंने अपना पसंदीदा अभिनेता रणबीर सिंह और अदकारा दीपिका पादुकोण को बताया।

Most Read: 'गणपति बप्पा मोरया' के जयकारे में गणेश जी के साथ लिया जाता है भक्त का नाम

English summary

world badminton championship winner pv sindhu intresting and unknown facts

Lesser-known facts about India's star shuttler and former Olympic medalist PV Sindhu.
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more