For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

कहीं आपकी ये आदत तो नहीं है बच्चों से दूरी की वजह, रखें इन बातों का ध्यान

|

दुनिया में हर माता-पिता सिर्फ यहीं चाहते है कि उनके बच्चे पढ़ लिखकर कुछ बन जाएं। इसके लिए माता-पिता अपने बच्चों की अच्छी से अच्छी परवरिश करना चाहते हैं, उन्हें अच्छी शिक्षा देने की कोशिश करते हैं। यहीं कारण है कि आज कल माता-पिता दोनों ही अपने बच्चों के लिए नौकरी कर रहे हैं। और उन्हें अच्छी शिक्षा देने के लिए मेहनत कर रहे हैं। लेकिन अपने बच्चों को ही अच्छी शिक्षा और रहन-सहन देने के पीछे वो अपने बच्चों की अच्छी परवरिश पर बिल्कुल ध्यान नहीं दें पा रहे हैं।

आज कल बच्चों के साथ माता-पिता की बीच की दूरियां बढ़ती जा रही हैं। जिसका कारण खुद पेरेंट्स हैं। काम से वापस लौटने के बाद पेरेंट्स अपने बच्चों को समय नहीं दें पाते। उनके साथ सहीं से व्यवहार नहीं करते। हर वक्त बच्चों के साथ सख्ती से पेश आते हैं। आपकी इन सभी आदतों का बच्चों के ऊपर गलत प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण बच्चे अपने पेरेंट्स से बातें छिपाने लगते हैं। इन्हीं कारणों की वजह से पेरेंट्स और बच्चों के बीच दूरियां आने लगती हैं, जो धीर-धीरे बच्चों के मन में कड़वाहट पैदा कर देती है। इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताएंगे की पेरेंट्स ऐसी कौन-सी गलतियां करते हैं, जिसके कारण बच्चे उनसे दूर होने लगते हैं।

इन कारणों से पेरेंट्स और बच्चों में आती हैं दूरियां

1. बच्चों को अटेंशन न देना: हर बच्चा अपने माता-पिता की अटेंशन पाने की कोशिश करता रहता है। कुछ बच्चे पढ़ाई में, तो कुछ खेल-कूद में अपने आपको आगे रखकर अपने पेरेंट्स की तारीफ पाने की कोशिश करते हैं। ऐसे में जब उन्हें किसी कारण अटेंशन नहीं मिलती, तो वो चिड़चिड़े हो जाते हैं। जिसके बाद वो आपसे, अपने बड़ों से गलत व्यवहार करने लगते हैं।

2. हर वक्त सख्ती से पेश आना: बच्चे प्यार के भूखे होते हैं। उन्हें सबसे ज्यादा प्यार की भाषा ही समझ आती है। बच्चों के साथ हमेशा और हर समय सख्ती से पेश आना और सोचना कि उससे बच्चा सबकुछ अच्छे ढंग से सीखेगा गलत है।
3. बातचीत के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल: जब बच्‍चा आपसे बात करने की कोशिश करें, तो आप पूरी तरह उनकी बातें सुनें। अगर आप बातचीत के दौरान अपना मोबाइल यूज करने लगेंगे तो उन्हें लगेगा की आप उन्हें सीरियस नहीं लें रहे हैं। ऐसा करने से वे आपसे दूरी बनाने लगेंगे।
4. जरुरत पर साथ न देना: बच्चों को जब आपकी जरूरत हो, आप उनका हौसला बढ़ाने के लिए उसके साथ खड़े रहे। ऐसा न करने पर वे डिप्रेशन में जा सकते हैं। इतना ही नहीं उनके और आपके बीच बनी दूरी भी बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी। जिसके खत्म करना मुश्किल हो जाएगा।
5. अपने विचार न रखने देना: कई माता-पिता ऐसे होते हैं, जो अपने बच्‍चों को अपनी बात रखने का मौका ही नहीं देते। जिसके कारण बच्चों के मन में माता-पिता को लेकर नकारात्मक विचार बन जाते हैं। इसलिए जरुरी है कि पेरेंट्स अपने बच्चों को उनकी बात रखने का पूरा मौका दें।

6. बच्चे पर पर्फेक्ट बनने का दबाव: दुनिया में कोई भी पर्फेक्ट नहीं है। लेकिन बहुत कम पेरेंट्स ये बात समझ पाते हैं। जिसके कारण वो अपने बच्चों पर पर्फेक्ट बनने का दबाव बनाए रखते हैं। यही पर्फेक्शन बच्चे के मन में उनके लिए कड़वाहट पैदा कर सकता है। इसलिए बच्चे की छोटी कामयाबी पर भी उसकी तारीफ जरुर करें।
7. बच्चों पर अविश्वास: पेरेंट्स को अपने बच्चों के प्रति विश्वास बनाए रखना चाहिए। कई बार पेरेंट्स अपने हर चीज में अपने बच्चों की कमियां और गलतियां निकालने लगते हैं। जिससे बच्चों का मनोबल तो गिरता ही है। साथ ही अपने पेरेंट्स से उनकी दूरियां भी बढ़ती जाती है।
English summary

What are causes for increasing distance between parents and children in Hindi

These days the distance between parents and children is increasing. The reason for this is the parents themselves. After returning from work, parents are unable to give time to their children. Don't treat them properly. Always be strict with children. All these habits of yours have a wrong effect on the children. Due to which children start hiding things from their parents.
Desktop Bottom Promotion