करेक्टर्स - ऐसे चुनें हर स्किन टोन के लिए सही शेड

By Super Admin
Subscribe to Boldsky

मेकअप त्वचा से शुरू होता है; और त्वचा को आसानी से सुंदर बनाना एक चुनौतीपूर्ण काम है। कोई भी त्वचा दाग धब्बों से रहित नहीं होती। यदि आपके चेहरे पर कोई दाग धब्बे नहीं हैं तो भी आपको किसी न किसी कारण से डार्क सर्कल हो जाते हैं।

कंसीलर से कुछ समस्याओं को कम किया जा सकता है परन्तु सभी को नहीं, विशेष रूप से डार्क सर्कल्स की समस्या को। कितना भी मेकअप कर लें ये डार्क सर्कल्स दिखते ही हैं। आँखों की इस समस्या को कैसे दूर किया जाए? इन जिद्दी डार्क सर्कल्स और आँखों की लालिमा से छुटकारा कैसे मिल सकता है?

खैर, यहाँ कलर करेक्शन आपकी बचत के लिए आता है। इस तकनीक का उपयोग मेकअप आर्टिस्ट कई दशकों से करते आ रहे हैं। यह कलर व्हील के सिद्धांत पर आधारित है जिसमें जो कलर एक दूसरे के सामने आते हैं वे एक दूसरे को ढंकते हैं।

corrector

कंसीलर या फाउंडेशन लगाने से पहले करेक्टर्स लगाना चाहिए। इसका उपयोग त्वचा की खामियों को दूर करने के लिए किया जाता है जो कंसीलर नहीं कर पाता। हम सभी दोषरहित त्वचा चाहते हैं, है न? करेक्टर्स यही काम करता है। इसके बारे में नीचे बताया गया है।

करेक्टर्स किस तरह काम करता है

करेक्टर्स मूल रूप से दृष्टि भ्रम उत्पन्न करते हैं। जैसा कि पहले बताया गया है कि कलर व्हील पर जो कलर एक दूसरे के सामने होते हैं वे एक दूसरे के प्रभाव को कम कर देते हैं। उसी प्रकार डार्क स्पॉट या दाग धब्बे का जो रंग है, कलर व्हील पर उसके सामने के रंग का करेक्टर लगाने से त्वचा एक समान दिखाई देने का भ्रम होता है।

इस तकनीक का उपयोग मेकअप आर्टिस्ट बहुत पहले से कर रहे हैं। अब तक यह राज़ मेकअप के कौशल तक ही सीमित था परन्तु अब यह सबके सामने उजागर हो चुका है और अब बाज़ार में कई तरह के करेक्टर्स उपलब्ध हैं।

त्वचा के रंग के अनुसार करेक्टर्स

गोरी त्वचा
इस प्रकार की त्वचा के लिए पीच कलर के करेक्टर्स जादू की तरह काम करते हैं। चाहे डार्क सर्कल्स की समस्या हो या त्वचा के रंग की समस्या, इस प्रकार की त्वचा के लिए यह सबसे शेड है। लालिमा को दूर करने के लिए पेस्टल ऑरेंज करेक्टर का उपयोग करें। क्योंकि त्वचा के इस रंग का झुकाव हलके रंग की ओर होता है अत: ऑरेंज कलर पर आधारित कोई भी रंग इस त्वचा के लिए उपयुक्त है। इस त्वचा पर गुलाबी या नीले रंग के शेड अच्छे नहीं दिखते।

त्वचा के रंग के अनुसार करेक्टर्स

मीडियम स्किन

डार्क सर्कल्स के लिए ऑरेंज करेक्टर्स और लालिमा के लिए हरे रंग के करेक्टर की सलाह दी जाती है। हालाँकि हरे रंग का उपयोग सीमित मात्रा में करना चाहिए। हरे रंग का अधिक उपयोग करने से त्वचा फीकी दिखती है विशेष रूप से जिनकी त्वचा के रंग का झुकाव ऑलिव होता है। ऑलिव त्वचा के साथ पीला और ऑरेंज करेक्टर अच्छा दिखता है।

त्वचा के रंग के अनुसार करेक्टर्स

डार्क त्वचा (गहरे रंग की त्वचा)

गहरे रंग की त्वचा पर डार्क सर्कल्स को कवर करने के लिए लाल रंग सबसे उपयुक्त होता है। ऑरेंज का उपयोग भी किया जा सकता है। गहेरे त्वचा पर नीले या हरे करेक्टर्स का उपयोग न करें क्योंकि इससे त्वचा रुखी और बेजान दिखती है।

English summary

करेक्टर्स - ऐसे चुनें हर स्किन टोन के लिए सही शेड | Correctors – The Right Shade For Each Skin Tone

Check out the importance of correctors in achieving the right shades, according to the skin type.
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more