सन टैन हटाने के लिए ऐसे तैयार करें चीनी और ग्लिसरीन फेसपैक

By arunima kumari
Subscribe to Boldsky

टैनिंग की वजह से त्वचा की रंगत डार्क होती है। यह अकसर सूर्य की पराबैंगनी किरणों के संपर्क में होने की वजह से होता है, या प्रकाश के कृत्रिम सोर्स के संपर्क में आने की वजह से भी स्किन टैन होती है।

सूर्य के अत्यधिक संपर्क से आपकी त्वचा डार्क और सुस्त दिखाई दे सकती है, जिसे स्किन टैन होना कहते हैं। हालांकि टैनिंग को दूर किया जा सकता है और त्वचा की वास्तविक रंगत वापस आ सकती है। ऐसे कई तरीके हैं जिसका इस्तेमाल कर आप स्किन टैन से बहुत कम समय में छुटकारा पा सकते हैं।

sugar-glycerin-face-pack-tanned-skin

वैसे तो बाज़ार में ऐसे कई प्रोडक्ट्स मौजूद हैं जो टैनिंग को हटाने का दावा करते हैं लेकिन इन प्रोडक्ट्स को अपनी त्वचा पर लगाने से पहले आपको सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि टैन त्वचा पहले से ही संवेदनशील होती है और टैनिंग हटाने के लिये बाज़ार से खरीदे गये उत्पादों में केमिकल मौजूद होते हैं, जिससे त्वचा पर रिएक्शन का खतरा बढ़ जाता है।

टैनिंग हटाने का सबसे अच्छा तरीका है घर पर बना फेस पैक जो काफी प्रभावी होता है। जो ना सिर्फ टैनिंग खत्म करने में कारगर होते हैं बल्कि प्राकृतिक पोषक तत्वों और एंटीऑक्सीडेंट से युक्त ये फेस पैक आपकी त्वचा की सेहत के लिए भी फायदेमंद होते हैं।

चीनी और ग्लिसरीन का फेस पैक भी एक ऐसा ही आसान और प्रभावी फेस पैक है जो त्वचा से टैनिंग हटाने में बहुत कारगर है। ये एक स्क्रब के रूप में भी काम करता है।

सामग्री:

• 1 बड़ा चम्मच चीनी
• 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस
• ½ छोटा चम्मच ग्लिसरीन

इस्तेमाल के निर्देश:

• एक कटोरे में 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस निचोड़ें।
• इसमें चीनी और ग्लिसरीन डालें फिर अच्छी तरह मिलाएं।
• इसे स्क्रब के तौर पर त्वचा पर लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें।
• 3 से 4 मिनट तक चेहरे की मसाज करें।
• मसाज के बाद, चेहरे पर लगे फेस पैक को पानी से धो लें।

कितनी बार उपयोग करें:

सप्ताह में कम से कम दो बार इस स्क्रब का इस्तेमाल करें।

यह स्क्रब/पैक कैसे काम करता है?

यह फेस पैक या स्क्रब टैनिंग से छुटकारा पाने का एक बढ़िया तरीका है। शुगर (चीनी) आपकी त्वचा को एक्सफोलिएट करता है और ग्लिसरीन आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने का काम करता है। नींबू के इस्तेमाल से आपकी त्वचा में चमक आती है और आपकी त्वचा की रंगत निखरती है।

त्वचा पर कोशिकाओं की एक मृत परत हो सकती है जो आपकी त्वचा पर टैन की एक परत के रूप में जमा हो सकती है, इससे स्किन डार्क लगता है। चीनी के दानें टैनिंग हटाने का एक प्रभावी तरीका है। इसके अलावा, स्क्रबिंग से ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है, जिससे आपकी त्वचा में प्राकृतिक चमक आती है।

चीनी किस तरह त्वचा के लिये फायदेमंद होता है?

चीनी-नींबू स्क्रब स्वाभाविक रूप से आपकी त्वचा को हाइड्रेट, एक्सफोलिएट और मॉइस्चराइज़ करने का काम कर सकते हैं। यह त्वचा की सतह पर रक्त प्रवाह में सुधार करता है और मृत त्वचा कोशिकाओं को हटा देता है। चीनी स्क्रब का नियमित उपयोग स्किन से टैनिंग और काले धब्बे को साफ कर सकता है।

चीनी प्राकृतिक रूप से त्वचा में नमी बनाये रखने का काम करता है। इसलिए इसे स्क्रब के रूप में उपयोग करते समय भी, यह वास्तव में त्वचा को हाइड्रेट करने में मदद करता है, स्किन में पूरी तरह से नमी पहुंचाने का काम करता है।

ग्लाइकोलिक एसिड का एक समृद्ध स्रोत होने के नाते, अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड, यह त्वचा में प्रवेश करता है और त्वचा की कोशिकाओं की बाइंडिंग को तोड़ देता है, जिससे सेल टर्नओवर होता है, जिसके परिणामस्वरूप त्वचा फ्रेश और युवा दिखती है। ग्लाइकोलिक एसिड सूर्य से क्षतिग्रस्त हुई स्किन और एजिंग स्किन को ठीक करने में कारगर होती है।

मृत सतह की त्वचा कोशिकाओं को एक्सफोलिएट करने के बाद स्वस्थ और चमकती हुई नज़र आती है। चीनी के दाने ऐसा करने में काफी प्रभावी होते हैं और त्वचा को ड्राई भी नहीं करते हैं। इसके विपरीत दूसरे स्क्रब जैसे नमक से बना स्क्रब संवेदनशील त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है।

Moong Dal Face Pack for Acne, Sun Tan, Dry skin: इस पैक से दूर होगी स्किन की हर परेशानी | Boldsky

ग्लिसरीन टैंनिंग से राहत दिलाने में कैसे मदद करता है?

त्वचा की रंगत निखारने और मॉइस्चराइज़ करने के साथ टैनिंग हटाने में भी ग्लिसरीन काफी असरदार माना जाता है। यह एक बढ़िया क्लींजर होने के नाते, त्वचा को साफ करने में मदद करता है। इसलिए ज़्यादातर क्लींजर और टोनर में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

एक अच्छा हाइड्रेंट होने के नाते, ग्लिसरीन आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज रखने के लिए बहुत अच्छा है। इसकी प्राकृतिक कूलिंग क्वालिटी आपकी टैन त्वचा को राहत देने में मदद करता है।

आम तौर पर, टैंनिंग की वजह से स्किन पर एजिंग के निशान ज़्यादा दिखते हैं। ग्लिसरीन में एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो फाइन लाइन और झुर्रियों को कम करने में मदद करता है। इस गुण के कारण अकसर एंटी-एजिंग फेस पैक में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

ग्लिसरीन काले धब्बे और दाग को भी कम करता है। साथ ही त्वचा पर अगर ड्राई पैच हैं तो उसे भी कवर करने का काम करता है।

त्वचा देखभाल के लिए नींबू के रस के फायदे:

सनबर्न या टैनिंग को ठीक करने के लिए नींबू की तुलना में और कोई बेहतर प्राकृतिक उपचार नहीं है। नींबू में प्राकृतिक ब्लीचिंग गुण होते हैं और आप नींबू के ताज़े रस को सीधे टैनिंग से प्रभावित क्षेत्रों में भी लगा सकते हैं और उसके बाद साफ पानी से धो लें। नींबू में यह गुण सिट्रिक एसिड की उपस्थिति के कारण है, जो टैनिंग को हटाने में बढ़िया काम करता है।

नींबू में विटामिन सी और सिट्रिक एसिड इसे एक अच्छा ब्लीचिंग एजेंट या स्किन वाइटनिंग एजेंट बनाते हैं। इसके अलावा, नींबू का रस मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में भी मदद कर सकता है। हालांकि, हमेशा यह सुनिश्चित करें कि आप सूर्य की रोशनी में बाहर निकलने से पहले अपनी त्वचा पर लगे नींबू के रस को धो लें, नहीं तो इससे जलन का एहसास हो सकता है।

टैनिंग से बचने का सबसे अच्छा तरीका है अपनी त्वचा को सूर्य की पराबैंगनी किरणों से बचाना। इसके लिये आप टोपी, सनस्क्रीन लोशन का इस्तेमाल करें और ऐसे कपड़े पहनें जिससे शरीर के ज़्यादातर हिस्से पर सूर्य की रोशनी सीधे ना पड़े।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    सन टैन हटाने के लिए ऐसे तैयार करें चीनी और ग्लिसरीन फेसपैक | Sugar And Glycerin Face Pack For Tanned Skin

    A tanned skin implies a darkened skin colour. This often happens due to exposure to ultraviolet rays of the sun, or due to exposure to light from artificial sources such as a tanning lamp. Excessive exposure to the sun can make your skin look dark and dull, resulting in a tan.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more