बंगलुरु के मार्केट में बिक रही है प्‍लास्‍टिक की चीनी, लोगों के उड़े होश

Posted By:
Subscribe to Boldsky

बाजार में प्‍लास्‍टिक के बनें चावल, कंकड़ से भरी दालें, रंग पुती हुई सब्‍‍जियां काफी अरसे से बिक रहे हैं। लेकिन अब एक नई बात सामने आ गई है, वह यह कि अब मुनाफाखोरों ने अपने फायदे के लिये चीनी में महीन प्‍लास्‍टिक मिलाना शुरु कर दिया है।

जो लोग कल को धडल्‍ले से दूध, खीर या चाय में चीनी मिलाते थे, वे आज बड़ा ही संभल संभल कर चीनी खरीदने लगे हैं।

sugar

आंध्र प्रदेश में प्‍लास्‍टिक के चावल बिकने की काफी खबर उड़ी थी। अभी यह मामला पूरी तरह से खत्‍म नहीं हुआ था कि बंगलुरू में भी शक्‍कर में प्‍लास्‍टिक की मिलावट कर के बेचने की खबर आ गई है।

sugar 2

आइये जाने कैसे हुआ खुलासा

चाय में शक्‍कर के साथ प्‍लास्‍टिक मिली हुई, इसका खुलासा कर्नाटक के गडग शहर में हुआ। यहां एक परिवार में महिला चाय बना रही थी, कुछ देर के बाद जब उसने चीनी डाली तो उसमें से कुछ जलने की गंध आने लगी। जब बर्तन देखा गया तो, उसमें प्‍लास्‍टिक के कण जल रहे थे और बर्तन पूरा काला पड़ चुका था।

ऐसे करें पहचान प्‍लास्‍टिक से बने चावल की

बाद में परिवाजन ने बाजार से लाई हुई चीनी को जब देखा तो पाया कि उसमें चीनी के कण मिले हुए हैं। परिवार वाले डिमांड कर रहे हैं कि जिस मील से वे चीनी लाते हैं, उस मील के तुरंत बंद कर दिया जाना चाहिये।

plastic

सरकार ने दिये जांच के ऑर्डर

चीनी में प्‍लास्‍टिक होने की बात जब सामने आई तो कर्नाटका सरकार ने तुरंत ही मामले की जांच करने की सलाह दे डाली। फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट ने चीनी का सैंपल लिया है और जांच के लिये भेज दिया है।

sugar 1

कौन कर रहा है ये मिलावट

चीनी में मिलावट कहां की जा रही है इसका जल्‍द ही खुलासा किया जाएगा। क्‍या यह गड़बडी सीधे मील से हो रही है या फिर इसके पीछे रिटेल शॉप का हाथ है?

English summary

Beware Plastic sugar enters in Karnataka market

All that a family in Gadag wanted was a steaming cup of tea but what they were in for was a burnt mass of black residue.
Please Wait while comments are loading...