For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Healthy Food: टोफू या पनीर: जानिए कौन सा है सेहतमंद और क्यों?

|

लोग अक्सर पूछते थे कि क्या टोफू को पनीर की जगह बदला जा सकता है या दोनों में क्‍या विशेष अंतर है। इसका उत्तर यह है कि दोनों केवल दिखने में एक जैसे हैं। जबकि टोफू को बीन दही (bean curd) के रूप में जाता है, सोया दूध को जमा करके और फिर परिणामस्वरूप दही को अलग-अलग नरमता के सफेद कंक्रीट ब्लॉकों में दबाकर तैयार किया जाता है, वहीं पनीर पूरे या स्किम्ड दूध और फर्म ब्लॉक में दबाकर बनाया जाता है। इसका परिणाम यह होता है कि दोनों काफी हद तक एक जैसे दिखते हैं। लेक‍िन नेचर में अलग-अलग हैं।

यह ध्यान रखना चाहिए कि दोनों अलग-अलग सामग्रियों से बने होते हैं- सोया और दूध। और जबकि दोनों प्रोटीन के स्रोत हैं, दोनों की सुंगध भी अलग-अलग होती है। कई लोग टोफू की गंध को बर्दाश्त नहीं कर सकते। आइए जानते हैं दोनों में क्‍या खाना ज्‍यादा हेल्‍दी है?

टोफू के न्‍यूट्रिशियन फैक्‍ट

टोफू के न्‍यूट्रिशियन फैक्‍ट

टोफू में शुद्ध प्रोटीन होता है और कैलोरी में बहुत कम है। ओफ़यू आयरन की मात्रा, विटामिन बी1 से भी भरपूर है और सभी आवश्यक अमीनो एसिड प्रदान करता है जो पनीर में नहीं होता है। टोफू एकमात्र शाकाहारी प्रोटीन स्रोत है जो सभी आवश्यक अमीनो एसिड प्रदान करता है। टोफू में भी 0 कोलेस्ट्रॉल होता है। यहाँ टोफू के पोषण संबंधी तथ्य दिए गए हैं:

कैलोर‍िज 29.4

फैट 1.6 ग्राम

सैचुरेटेड फैट 0.3 ग्राम

कार्ब्‍स 1.1 ग्राम

फाइबर 0.3 ग्राम

प्रोटीन 3.4 ग्राम

पनीर के न्‍यूट्रिशियन फैक्‍ट

पनीर के न्‍यूट्रिशियन फैक्‍ट

पनीर में वसा और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है, जिससे उतनी ही मात्रा में कैलोरी अधिक होती है। पनीर वसा से भरपूर होने के कारण कोलेस्ट्रॉल के स्तर में काफी अधिक होता है। यहाँ पनीर के पोषण संबंधी तथ्य दिए गए हैं:

कैलोर‍िज 104

फैट 8.7 ग्राम

सैचुरेटेड फैट 5.5 ग्राम

कार्ब्‍स 5 ग्राम

फाइबर 0

प्रोटीन 6.1 ग्राम

टोफू के स्वास्थ्य लाभ

टोफू के स्वास्थ्य लाभ

- प्रोटीन का अच्छा स्रोत

- हृदय रोग को रोकता है

- हड्डी के स्वास्थ्य में सुधार करता है

- प्रोस्टेट कैंसर को रोकता है

पनीर के स्वास्थ्य लाभ

पनीर के स्वास्थ्य लाभ

- दांतों और हड्डियों को बेहतर बनाता है

- पाचन शक्ति को बढ़ाएं

- प्रोटीन से भरपूर

- रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखता है

पनीर और टोफू में क्‍या चुनें

पनीर और टोफू में क्‍या चुनें

कई लोगों में लैक्टोज इंटोलेरेंट के अलावा पनीर से पाचन संबंधी समस्‍या हो सकती हैं। टोफू उन लोगों के लिए एक वरदान है जो आसानी से पनीर नहीं खा पाते हैं। दूसरी ओर, ऐसे लोग भी हैं जिन्‍हें टोफू सहित सोया उत्पादों से समस्‍या हो सकती हैं। पनीर और टोफू के बीच चयन करने में यह सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है।

ध्‍यान रखें क‍ि हाइपोथायरायडिज्म, एंडोमेट्रियोसिस, स्तन कैंसर, गाइनेकोमास्टिया, गुर्दे की पथरी आदि वाले लोगों को सोया से बचने की सलाह दी जाती है क्योंकि इन लोगों पर सोया का प्रभाव नकारात्मक हो सकता है। इसके अलावा, जिन लोगों को दमा है, जिन्हें हे फीवर है, मधुमेह है या सिस्टिक फाइब्रोसिस है, उन्हें सोया के सेवन से रिएक्‍शन होने का अधिक खतरा होता है और इससे बचने की आवश्यकता होती है।

सोया और टोफू को विभिन्न दवाओं के साथ खाने पर नकारात्मक प्रभाव हो सकता है। जिसमें जन्म नियंत्रण, एस्ट्रोजन, खून का पतला होना, एंटीबायोटिक्स और कई अन्य शामिल हैं। इसका सीधा मतलब है क‍ि जो लोग बीमार है और रिकवरी कर रहे हैं उनके ल‍िए सोया एक अच्छा प्रोटीन स्रोत नहीं है।

टोफू या पनीर, क्‍या है हेल्‍दी ऑप्‍शन

टोफू या पनीर, क्‍या है हेल्‍दी ऑप्‍शन

टोफू को उन लोगों के लिए एक सही विकल्प हैं जिन्हें इससे एलर्जी नहीं है, लेकिन संतुलित प्रोटीन के दुबले स्रोत की आवश्यकता होती है। याद रखें क‍ि टोफू और पनीर के बीच चयन करना कठिन है क्योंकि दोनों अत्यधिक पोषक हैं और जंक फूड नहीं हैं। दोनों में से क्‍या खाना चाह‍िए ये एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति पर निर्भर करता है। यदि किसी को इन दोनों में से किसी एक का सेवन न कर पाने के लिए किसी से एलर्जी है या कुछ चिकित्सीय कारण हैं, तो वे इसे आसानी से दूसरे के साथ बदल सकते हैं। केवल ध्यान रखें क‍ि जब आप अपने पनीर और टोफू को एक दूसरे के साथ बदलते हैं, तो अपने प्रोटीन या कैलोरी की मात्रा की रिकाउंट करना न भूलें।

English summary

Tofu Or Paneer: Know Which One Is Healthier And Why? in Hindi

One must remember that choosing between tofu and paneer is a tough one because both are highly nutritive and not junk foods.
Story first published: Thursday, October 7, 2021, 13:09 [IST]