जानिये दिल्ली के लोगों को क्यों है हृदय रोगों का सबसे ज्यादा खतरा

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

कार्डियोवस्कुलर डिजीज (सीवीडी) विश्व स्तर पर मौत का नंबर एक कारण हैं और भारत में मौत के प्रमुख कारणों में से एक भी है। वास्तव में, भारत में सीवीडी का भार 2020 तक दुनिया के किसी भी अन्य देश को पार करने के लिए तैयार है।

फिटनेस ऐप हेल्दीफाईमी द्वारा एकत्रित आंकड़े बताते हैं कि देश के सभी शीर्ष महानगरों के बीच, देश की राजधानी दिल्ली में वसा के उच्च खपत के कारण यहां हृदय संबंधी जोखिम सबसे अधिक हैं।

इस ऐप ने 150 मिलियन + खाद्य, व्यायाम और भारतीयों के हाइड्रेशन पैटर्न के आंकड़ों को मिलाया और पाया कि दिल्ली में वसा का लगभग सर्वोच्च प्रतिशत योगदान है (लगभग 30 फीसदी)। इस विश्लेषण में अन्य शीर्ष शहरों में अहमदाबाद, बैंगलोर, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई और पुणे शामिल हैं।

 Delhiites Are At Highest Risk Of Heart Diseases In India, Women As Vulnerable As Men

दिल्ली में वसा की उच्च खपत का संकेत है कि दिल्लीवासियों को हृदय रोग और उच्च रक्तचाप का अधिक खतरा होता है। दिल्ली में सबसे लोकप्रिय लेकिन अस्वास्थ्यकर, वसा वाले नाश्ते के खाद्य पदार्थ पराठा, पोहा और आलू और पूरी जैसी चीजें खायी जाती हैं।

दूध और दही आम तौर पर नाश्ते के दौरान ही खाते हैंहै, जो स्वस्थ होता है लेकिन भोजन के समग्र वसा वाले पदार्थों में जोड़ता है। शाम के नाश्ते राजधानी में दिन का सबसे बड़ा भोजन हैं।

दिल्लीवासियों द्वारा अस्वास्थ्यकर स्नैक्स खाए जाते हैं जिनमें समोसे, वडा पाव, पानी पुरी, चिप्स और बिस्कुट जैसे फ्राइड और फैटी खाद्य पदार्थ हैं।

पोषण विशेषज्ञ रितिका समदार के अनुसार, कुल कैलोरी का 25-30 फीसदी हिस्सा वसा से आना चाहिए, लेकिन हृदय रोग को रोकने के लिए सही गुणवत्ता लेना बहुत महत्वपूर्ण है।

Silent Heart Attack, Symptoms Of Silent Heart Attack,|जाने क्या है साइलेंट हार्ट अटैक | BoldSky
भारत में सभी मौतों के 24.8 फीसदी हिस्से को सीवीडी के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। इसके अलावा अस्वस्थ वसा और ख़राब जीवन शैली भी इस खतरनाक आंकड़ों के पीछे महत्वपूर्ण कारक हैं। सीवीडी के जोखिम की जांच करने के लिए किए गए सबसे आम परीक्षण लिपिड टेस्ट हैं।

भारत में एसआरएल डायग्नोस्टिक्स द्वारा लिपिड परीक्षण के परिणामों के हालिया विश्लेषण से पता चला है कि 41 फीसदी से अधिक महिलाओं में एक असामान्य लिपिड प्रोफाइल है। इसमें एक खतरनाक तथ्य यह पता चला है कि भारत में महिलाओं को भी हृदय रोगों की संभावना है।

यह विश्लेषण 2014-2016 की अवधि के दौरान पूरे भारत में एसआरएल लैब्स पर 3.3 लाख लिपिड प्रोफाइल परीक्षणों पर आधारित है।

विश्लेषण उद्देश्य के लिए, एसआरएल ने पूरे देश में पूर्व, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण में पूरे क्षेत्र में प्राप्त नमूनों को विभाजित किया है। रिपोर्ट बताती है कि भारत में दो जोनों (उत्तर - 33.11 फीसदी और पूर्व 35.67 फीसदी) ने ट्राइग्लिसराइड्स के असाधारण स्तर दिखाए जबकि कम एचडीएल और उच्च कोलेस्ट्रॉल का स्तर सामान्यतः दक्षिण में (34.15 फीसदी) और पश्चिम ज़ोन में (31.9 0 फीसदी) देखा गया।

English summary

Delhiites Are At Highest Risk Of Heart Diseases In India

Data collected by HealthifyMe, health and fitness app, indicates that among all the top metros in the country, Delhi has the highest heart-related risks due to the high consumption of fat in the nation's capital.
Please Wait while comments are loading...