आर्टिफीसियल स्वीटनर से डायबीटीज, हाई बीपी और हार्ट डिजीज का खतरा

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

चीनी से फैट बढ़ता है, इस तथ्य को हाईलाइट कर इन दिनों आर्टिफिशल स्वीटनर का इस्तेमाल तेजी से बढ़ रहा है। लेकिन एक अध्ययन में दावा किया गया है कि आर्टिफिशल स्वीटनर के इस्तेमाल से वजन घटता नहीं बल्कि बढ़ता है। साथ ही व्यक्ति में मोटापे का खतरा, डायबीटीज, हाई बीपी और हृदय रोग का जोखिम भी बढ़ सकता है।

कनाडा की यूनिवसर्टिी ऑफ मानिटोबा के शोधकर्ताओं के मुताबिक एस्पार्टेम, सीक्रलोज़ और स्टेविया जैसे आर्टिफिशल स्वीटनर का इस्तेमाल तेजी से बढ़ रहा है।

इन आर्टिफिशल और पोषण रहित स्वीटनर्स का हमारी पाचन क्षमता, आंतों के बैक्टीरिया और भूख पर नकारात्मक असर पड़ता है।

 Artificial Sweeteners Can Increase These Health Risks

हमारे शरीर के वजन और दिल की सेहत पर इन आर्टिफिशल स्वीटनर्स का क्या असर पड़ता है यह जानने के लिए शोधकर्ताओं ने 37 शोधों की व्यवस्थित समीक्षा की। इन शोधों में लगभग 10 वर्ष की अवधि के दौरान 4 लाख लोग शामिल किए गए थे।

दीर्घकालिक शोधों ने आर्टिफिशल स्वीटनर के इस्तेमाल और तुलनात्मक रूप से वजन बढ़ने के खतरे और मोटापा, हाई बीपी, डायबीटीज, हृदयरोग और सेहत से जुड़ी दूसरी समस्याओं के बीच संबंध देखा। यह अध्ययन कनेडियन मेडिकल असोसिएशन जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

English summary

Artificial Sweeteners Can Increase These Health Risks

Worried about your ever increasing waistline? Cut down the use of artificial sweeteners as they may be associated with long-term weight gain and increased risk of obesity, a study has warned.
Story first published: Wednesday, July 19, 2017, 9:30 [IST]
Please Wait while comments are loading...