For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

इन स्‍पेशल चॉकलेट कुकीज को खाने से भी बढ़ेगा न्‍यूली मदर्स का ब्रेस्‍टमिल्‍क, ये है रेसिपी

|

जब एक स्त्री मां बनती है तो वह अपने शिशु को स्तनपान कराती है। अमूमन प्रसव के बाद महिला को ऐसे आहार खाने के लिए दिए जाते हैं, जो महिला के स्तनों में दूध की मात्रा को बढ़ाते हैं। लैक्टेशन पीरियड के दौरान महिलाएं अधिकतर लड्डू खाती हैं। हालांकि, इसमें फैट की मात्रा अधिक होती है, जिसके कारण महिला का वजन बढ़ने लगता है। अगर आप चाहें तो इसके स्थान पर गैलेक्टोगेज कुकीज़ बना सकती हैं। यह कुकीज मुख्य रूप से लैक्टेशन पीरियड के लिए ही है।

यह रेसिपी जल्दी बन जाती है, खाने में स्वादिष्ट होती है जिसे कामकाजी माँ भी अपने साथ ले जा सकती है। वे भोजन के बीच 4-5 कुकीज़ शामिल कर सकती हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको गैलेक्टोगेज कुकीज़ बनाने की विधि के बारे में बता रहे हैं, जो दूध उत्पादन को बढ़ाने में मदद कर सकती है-

इसे बनाना बहुत आसान है और इसमें सभी घरेलू सामग्री को शामिल किया जाता है।

तैयारी का समय- 10-15 मिनट

सामग्री-

• पीनट बटर -2 बड़े चम्मच

• ब्राउन शुगर-2 चम्मच

• बाजरे का आटा -15 ग्राम

• गेहूं का आटा -15 ग्राम

• ओट्स -2 चम्मच

• ड्रिंकिंग चॉकलेट पाउडर-1 चम्मच

• ग्राउंड फ्लेक्ससीड्स-1 चम्मच

• सौंफ पाउडर (सौंफ पाउडर) -1 चम्मच

• मेथी दाना पाउडर-1 चम्मच

• छोटे कटे बादाम और अखरोट-2 चम्मच

• शतावरी कल्प-1/2 चम्मच

• दूध-1/2 कप (आवश्यकतानुसार डालें)।

• बेकिंग पाउडर-1 चम्मच

• चोको चिप्स-1 चम्मच

कुकीज बनाने का तरीका-

• पीनट बटर और ब्राउन शुगर को चीनी के पिघलने तक फेंटें।

• सभी तरह के आटा और बची हुई सामग्री डालकर अच्छी तरह मिला लें। हालांकि, ध्यान दें कि आटा बनाते समय चोको चिप्स न डालें।

• अब बेकिंग पाउडर डालें।

• अंत में, जरूरत के अनुसार दूध डालें ताकि सही तरह से आटा बन जाए।

• आटे को 1/2 घंटे के लिये रख दीजिए।

• आटा गूंथ कर गोल कुकीज बना लें।

• कुकीज के ऊपर चोको चिप्स डालें।

• ओवन को 20 मिनट के लिए 350 पर प्रीहीट करें।

• सभी कुकीज़ को ओवन ट्रे पर व्यवस्थित करें।

• 8-10 मिनट के लिए बेक करें।

• आपकी कुकीज बनकर तैयार है।

कुकीज से मिलते हैं यह फायदे

• यह कुकीज फाइबर से भरपूर, इसलिए प्रसव के बाद वजन बढ़ने का कोई डर नहीं होता है।

• अगर लैक्टेशन पीरियड में कोई महिला इसका सेवन करती है तो इससे उसका ब्रेस्टमिल्क बढ़ने लगता है।

• भारतीय स्टाइल के लड्डू की जगह यह एक स्वादिष्ट विकल्प है जिसमें फैट कम होता है।

इन बातों का रखें ध्यान

• आप आटा गूंथते समय वनीला एसेंस मिला सकते हैं जो स्वाद बढ़ाने में मदद करता है।

• कुकीज को एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें। ऐसा करके आप कुकीज की शेल्फ लाइफ बढ़ा सकती हैं।

• अगर आप ब्राउन शुगर का इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं तो ऐसे में कोकोनट शुगर को यूज किया जा सकता है।

• अगर आप लैक्टोज इनटॉलरेंस हैं तो आप मक्खन की जगह नारियल के तेल का इस्तेमाल करें। वहीं, डेयरी फ्री डार्क चॉकलेट चिप्स का उपयोग करें।

कौन खा सकता है यह कुकीज

यूं तो इन कुकीज को उन महिलाओं के लिए बनाया जाता है, जो इन दिनों स्तनपान करवा रही हैं। लेकिन इसका अर्थ यह कतई नहीं है कि इसे अन्य कोई नहीं खा सकता है। इसमें फाइबर व अन्य कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, इसलिए इसे बच्चों से लेकर पुरुष तक कोई भी बेहद आसानी से खा सकता है। ऐसे में अगर आप इन डिलिशियस कुकीज का आनंद लेना चाहे तो इसे बिना किसी परेशानी के डाइट में शामिल किया जा सकता है।

English summary

Galactagogues Cookies for Lactating Mothers; Know Recipe in Hindi

Galactagogues Cookies Recipe is specially designed for the lactation period, where women tend to eat more ladoo, which contains more fat. Know more.
Desktop Bottom Promotion