जानिए, क्‍यूं गणेश जी के परिवार को क्‍यूं माना जाता, हिंदू धर्म में पहला परिवार

By: Salman Khan
Subscribe to Boldsky

धर्म और संस्कृति की बात करते ही हमारे दिमाग में सबसे पहले भारत देश की तस्वीर बनकर सामने आती है और भारत हमेशा से हिंदुत्व और अपने इतिहास के बारे में प्रसिद्ध रहा है।

लेकिन यहां हर घर में पहले आराध्‍य देवता गणेश जी को माना जाता है, क्‍या आपके दिमाग में कभी ये बात आई है कि आखिर हिंदू धर्म में गणेश जी के परिवार को हमेशा प्रथम पूज्‍य क्‍यों माना जाता है? आइए आज हम आपको आज इस बारे में बताते हैं।

भगवान गणेश का परिवार है हिंदुत्व पहला परिवार

भगवान गणेश का परिवार है हिंदुत्व पहला परिवार

भगवान शिव के परिवार को हिंदू धर्म का पहला परिवार कहा जा सकता है क्योंकि शिव के परिवार के सभी सदस्य एक दूसरे से बिल्कुल अगल और विपरीत हैं। भगवान शिव के परिवार के सदस्यों के वाहनों पर नजर डाली जाए तो पता चलता है कि सांप भगवान शिव की गर्दन को देखता है और उनके पुत्र कार्तिकेय का वाहन मोर है, कह सकते हैं कि सांप मोर का शिकार है। इसी तरह भगवान गणेश का वाहन एक चुहा है, जो इस समय सांपों का शिकार है। माता पार्वती शक्ति का एक रूप हैं और उनका वाहन शेर है, लेकिन वहीं भगवान शिव का वाहन नंदी है जोकि एक बैल है। ये सारी बातें इनको एक दूसरे से बिल्कुल अलग करती हैं।

शिव को क्यूं कहते हैं नीलकंठ

शिव को क्यूं कहते हैं नीलकंठ

कई ऐसी कहानियां भी हैं जो भगवान शिव के परिवार को औरों से अलग करती हैं, ऐसा माना जा सकता है कि भगवान शिव का परिवार एकता में अनेकता का उदाहरण भी है। जैसा की सब जानतें है कि भगवान शंकर को नीलकंठ भी कहा जाता क्योंकि वो अपने गले में विष रखते है। हिंदुओं के धर्मग्रंथ के मान्यतानुसार भगवान शिव ने सागर मंथन के समय दुनिया को बचाने के लिए सागर से निकला पूरा विष पी लिया था।

ये है भगवान गणेश के पूरा परिवार

ये है भगवान गणेश के पूरा परिवार

भगवान गणेश के परिवार के सदस्यों पर एक नजर-

पिता और माता- शिव और पार्वती।

कार्तिकेय (बड़े भाई) गणेश के सबसे प्रसिद्ध भाई हैं। हालांकि उनके सुकेष, जालंधर, अयप्पा और भूमा जैसे चार भाई और भी हैं।

बहनें- अशोक सुन्दी भगवान गणेश की बहन हैं, जबकि भगवान शिव ने जया, विशार, शिमिलबारी, देव और दोतली जैसी कई बेटियां थीं जिन्हें गणेश की बहन कहा जा सकता है। अशोक सुंदरी का विवाह नहुशा से हुआ था।

पत्नियां- गणेश की पांच पत्नियां हैं पहली दो रिद्धि और सिद्धी और दूसरी में तुष्टि, पुष्ती और श्री हैं।

पुत्र- भगवान गणेश के शुभ और लव में दो पुत्र हैं और उनके पोतों को अमोद और प्रमोद कहते हैं।

जाने गणेश जी के बारे में ये महत्वपूर्ण तथ्य

जाने गणेश जी के बारे में ये महत्वपूर्ण तथ्य

गणेश के बारे में प्रसिद्ध तथ्य

- गणेश पानी के भगवान है।

- लाल फूल गणेश जी के पसंदीदा फूल हैं।

- गणेश जी दुर्वा या डुब (घास का एक प्रकार) और शामी के पत्ते पसंद करते हैं।

- परशु और अंकुश उनके शस्त्र हैं।

- मान्यता है कि सत्युग में गणपति का वाहन शेर था, त्रेता में और मोर द्वापर में चुहा और कलयुग में घोड़ा था।

- गणेश का जाप मंत्र "ओम गं गणपते नम:" है।

- लड्डू से बना मोदक गणेश जी को का मनपसंद है।

- भगवान गणेश के 12 प्रमुख नाम हैं। वे सुमुख, एकांत, कपिल, गजकर्णक, लम्बोदर, विकास, विघ्ननाशक, विनायक, धूमकेतुकु, गणेशक्ष, भालचंद्र, गजानन के नाम से जाने जाते हैं।

English summary

do you know who was the first family of Hinduism

read here if you want to know about first family of Hinduism
Please Wait while comments are loading...