For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

इस देश में ऑड-ईवन के आधार पर है बाहर जाने की छूट, दुन‍ियाभर में ये है लॉकडाउन तोड़ने की सजा

|

कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के ल‍िए दुनिया के कई देश इस वक्त लॉकडाउन की स्थिति में हैं, बुधवार से पनामा में भी देशव्यापी लॉकडाउन को सख्त कर द‍िया गया। यहां ऑड-ईवन के तर्ज पर महिलाएं और पुरुषों को घर से न‍िकलने के आदेश दिए गए है। मीडिया के मुताबिक दुनियाभर के 90 देशों में लॉकडाउन लगाया गया है। जबकि दुनियाभर के 180 देशों में स्कूल और कॉलेज बंद किए गए हैं। जबकि दुनियाभर में कोरोना से 87% से ज्यादा लोग प्रभावित हैं।

लेकिन इसके बावजूद दुनियाभर में लोग कोरोना से जुड़े नियमों और लॉकडाउन को तोड़ रहे हैं। भारत में भी लॉकडाउन तोड़ने के कई मामले सामने आए हैं। जिसके बाद सरकार ने लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ 2 साल की सजा और जुर्माने का ऐलान भी किया है। लेकिन क्या पूरी दुनिया में भी कोरोना के नियमों और लॉकडाउन को तोड़ने पर सजा का प्रावधान है? आईए जानते हैं।

इटली

इटली

इटली में लॉकडाउन तोड़ने की सजा काफी महंगी है। यहां बाहर निकलने पर 2.5 लाख और इटली के लोम्बार्डी में 4 लाख रुपए का जुर्माना है। वहीं हांगकांग में क्वारेंटाइन का नियम तोड़ने पर 2.5 लाख जुर्माना या 6 माह जेल होने का नियम है। सऊदी अरब में बीमारी छिपाने और ट्रैवल हिस्ट्री छिपाने पर 1 करोड़ रुपए के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। यह दुनिया में कोरोना से जुड़े नियमों को तोड़ने पर दी जाने वाली सबसे महंगी सजा है। वहीँ, ऑस्ट्रेलिया की कुछ जगहों पर नियमों को तोड़ने पर 23 लाख रुपए जुर्माने चुकाने का प्रावधान है।

रूस

रूस

कोरोना के कहर को देखते हुए रूस की संसद ने एंटी वायरस एक्ट को मंजूरी दी है। इसमें क्वारेंटाइन के नियमों को तोड़ने पर 7 साल की सजा सुनाने का प्रावधान। वहीं मैक्सिको के युकाटन में कोरोना बीमारी छिपाने पर 3 साल की सजा दी जाएगी।

Most Read : कोरोना वायरस से बचने के ल‍िए सेन‍िटरी पेड, ब्रा और बोतल का यूज कर र‍हे हैं चीन के लोग, जाने वजह

फिलीपींस

फिलीपींस

कोरोना के खतरे को देखते हुए फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते अपनी जनता के लिए काफी कड़े हुए हैं। उन्होंने क्वांरेंटाइन का उल्लंघन करने वालों को गोली मारने के आदेश दिए हैं। जबकि दक्षिण अफ्रीका में बाहर निकलने वालों पर पुलिस रबर की गोली चला रही है।

पनामा

पनामा

पनामा में घर से बाहर निकलने के लिए महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग दिन रखें गए हैं। महिलाएं सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को सिर्फ दो घंटे के लिए घर से बाहर निकल सकती हैं। जबकि बाकि दिन पुरुष घर के बाहर निकल सकते हैं। इतना ही नहीं पनामा में वॉलंटियर घर पर ही खाना पहुंचा रहे हैं।

कोलंबिया

कोलंबिया

लोगों की पहचान करने और उन पर आसानी से शिकंजा कसने के लिए कोलंबिया के कुछ कस्बों में नेशनल आईडी के नंबर के आधार पर लॉकडाउन में निकलने की मंजूरी मिली हुई है। जिनकी आईडी नंबर 0,4,7 पर खत्म होता है, वे सोमवार को निकल सकते हैं। ऐसा माना जा रहा है कि इससे किसी अप्रिय घटना होने पर व्यक्ति की जांच आसानी से हो सकेगी।

यहां मास्क लगाना अनिवार्य

यहां मास्क लगाना अनिवार्य

कोरोना से बचने के लिए सबसे ज्यादा उपाय किए जा रहे हैं। कई देशों में मास्क पहनने से ज्यादा सामाजिक दूरी जो ज्यादा महत्व दिया जा रहा है तो वहीँ, ऑस्ट्रिया,चेक गणराज्य, स्लोवाकिया ने सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। चेक गणराज्य सरकार ने कहा कि आप भले ही बिना कपड़ों के घूमें लेकिन मास्क जरूर लगाएं।

Most Read : यूपी में जनता कर्फ्यू के दौरान पैदा हुई बच्‍ची, नाम रखा 'कोरोना'

पेरू और तमिलनाडु (भारत)

पेरू और तमिलनाडु (भारत)

इन सबसे अलग पेरू में कोरोना को लेकर किसी भी तरह की अफवाह फैलाने वाले को जुर्माना भरना पड़ता है। दरअसल, पेरू में कोरोना के लिए एक हॉटलाइन बनाई गई है। इस हॉटलाइन पर अगर कोई झूठी सूचना डेटा है तो उस पर 45 हजार जुर्माने की सजा का प्रवाधान किया है। वहीँ, दक्षिण भारत के तमिलनाडु में अफवाह फैलाने पर गिरफ्तारी की गई है, जिसमें अब तक 1200 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

English summary

Coronavirus Lockdown Rules and Punishments Around The World

Confinement rules vary widely around the world as do sanctions for failure to comply
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more