For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी ये अनसुनी और रोचक बातें नहीं जानते होंगे आप

|

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शख्सियत सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मशहूर है। वो देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में कार्यरत हैं। साल 2014 और फिर 2019 के आम चुनावों में ऐतिहासिक जीत के बाद वो प्रधानमंत्री का पद संभाल रहे हैं। नरेंद्र मोदी लगातर दूसरी बार पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आए। राजनीति में उनके द्वारा उठाये जाने वाले हर कदम पर देश की नजर रहती है। मगर उनके निजी जीवन के बारे में लोग कम ही जानते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी कुछ रोचक बातें।

1.

1.

नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वड़नगर में हुआ था।

2.

उनके पिता का नाम दामोदार दास मूलचंद मोदी और माता का नाम हीराबेन है।

3.

3.

नरेंद्र मोदी 5 भाई-बहनों में से तीसरे नंबर की संतान हैं।

4.

उनके भाइयों का नाम सोमा मोदी, अमृत मोदी, प्रहलाद मोदी, पंकज मोदी और बहन का नाम वसंती बेन हसमुख लाल मोदी है।

5.

5.

नरेंद्र मोदी को बचपन में नरिया कहकर बुलाया जाता था।

6.

इनका ब्लड ग्रुप A+ है।

7.

7.

नरेंद्र मोदी के पिता रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान चलाते थे।

8.

1965 में भारत-पाक युद्ध के दौरान नरेंद्र मोदी स्टेशन पहुंच जाते थे और वहां से होकर गुजरने वाले सैनिकों की सेवा करते थे और चाय पिलाते थे।

9.

साल 1967 में गुजरात में भयंकर बाढ़ आई थी, उस दौरान भी नरेंद्र मोदी ने अपने साथियों के साथ मिलकर बाढ़ पीड़ितों की मदद की थी।

10.

10.

नरेंद्र मोदी को बचपन में एक्टिंग में दिलचस्पी थी। वे स्कूल में एक्टिंग, वाद-विवाद, नाटकों में भाग लेते और ईनाम भी जीतते थे। एनसीसी में भी शामिल हुए।

11.

नरेंद्र मोदी बचपन में साधु-संतों से काफी प्रभावित हुए। शायद इसी प्रभाव के कारण वे बचपन से ही संन्यासी बनना चाहते थे।

12.

नरेंद्र मोदी ने सन 1967 तक अपनी हायर सेकेंडरी तक की पढ़ाई पूरी कर ली थी। इसके बाद वो अपना घर छोड़ कर पूरे भारत में भ्रमण करके विविध संस्कृतियों की खोज के लिए निकल पड़ें।

13.

13.

उन्होंने उत्तर भारत में स्थित ऋषिकेश एवं हिमालय जैसे स्थानों का दौरा किया। वो पश्चिम बंगाल के रामकृष्ण आश्रम सहित कई जगहों पर घूमें।

14.

नरेंद्र मोदी इस दौरान कई महीनों तक साधुओं के साथ रहे।

15.

15.

इस यात्रा के बाद नरेंद्र मोदी ने अपने भाई के साथ मिलकर अहमदाबाद के कई स्थानों पर चाय की दुकान लगाई।

16.

नरेंद्र मोदी कम उम्र में ही आरएसएस से जुड़ गए थे। गुजरात आरएसएस के पहले प्रांत प्रचारक लक्ष्मण राव इनामदार उर्फ वकील साहब ने मोदी को बाल स्वयंसेवक की शपथ दिलवाई थी।

17.

आरएसएस से जुड़ने के बाद नरेंद्र मोदी ने नमक और तेल खाना बंद कर दिया था। इससे उनकी मां और भाई प्रह्लाद मोदी को डर सताने लगा कि नरेंद्र मोदी फिर से साधु बनने जा जा रहे हैं।

18.

18.

नरेंद्र मोदी गुजरात आरएसएस के दफ्तर हेडगेवार भवन में सुबह के लिए चाय और नाश्ता तैयार करते थे। इसके बाद वो हेडगेवार भवन के सारे कमरों की सफाई करते थे। आठ से नौ कमरों की साफ़ सफाई के बाद वो अपने और वकील साहब के कपड़े धोते थे।

19.

नरेंद्र मोदी आरएसएस की शाखाओं में हिस्सा लेने लगे। उन्होंने आरएसएस के बड़े शिविरों के आयोजन में अपनी महत्ता दिखाया और उनके मैनेजमेंट से लोग काफी खुश भी थे।

20.

आरएसएस नेताओं के ट्रेन और बस में रिजर्वेशन की जिम्मेदारी नरेंद्र मोदी के पास थी। उनके मैनेजमेंट स्किल और काम करने के तरीके से आरएसएस के सदस्य काफी प्रभावित थे।

21.

21.

नरेंद्र मोदी को आरएसएस में बड़ी जिम्मेदारी सौंपने का फैस्ला लिया गया और इसके लिए उन्हें राष्ट्रीय कार्यालय नागपुर में एक महीने की विशेष ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लेने के लिए बुलाया गया।

22.

आरएसएस के नागपुर मुख्यालय में ट्रेनिंग लेने के बाद नरेंद्र मोदी गुजरात आरएसएस प्रचारक बनकर लौटे।

23.

सन 1978 में नरेंद्र मोदी ने उच्च शिक्षा के लिए भारत के दिल्ली यूनिवर्सिटी और उसके बाद गुजरात यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद में दाखिला लेकर राजनीति विज्ञान में क्रमशः स्नातक एवं स्नातकोत्तर किया।

24.

24.

प्रचारक की जिम्मेदारी मिलने के समय में नरेंद्र मोदी को स्कूटर चलाना नहीं आता था। उस समय में शंकर सिंह वाघेला उन्हें अपने साथ अपनी स्कूटर में घुमाया करते थे।

25.

वर्तमान समय में नरेंद्र मोदी और शंकर सिंह वाघेला एक दूसरे के सबसे बड़े राजनितिक दुश्मन है। मगर इमरजेंसी के समय में दोनों साथ मिलकर गुजरात बीजेपी के कार्यकर्ताओं में उत्साह बढ़ाते थे। दोनों ने मजबूत कार्यकर्ताओं की फौज तैयार की थी।

26.

26.

उस दौर में शंकर सिंह वाघेला जनता के प्रिय नेता था और नरेंद्र मोदी बेहतरीन रणनीतिकार के तौर पर अपनी पहचान मजबूत कर रहे थे।

27.

साल 1975 - 77 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाये गये राष्ट्रीय आपातकाल के विरोध में नरेंद्र मोदी काफी सक्रिय रूप में काम कर रहे थे।

28.

28.

उस समय में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। नरेंद्र मोदी उस समय अंडरग्राउंड भी रहे और गिरफ़्तारी से बचने के लिए उन्हें भेस बदलकर यात्रा भी करनी पड़ी।

29.

आपातकाल के विरोध में नरेंद्र मोदी का प्रबंधकीय, संगठनात्मक और लीडरशिप कौशल सामने आया और इससे लोग काफी प्रभावित भी हुए।

30.

इसके बाद नरेंद्र मोदी राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में राजनीति में शामिल हुए और आरएसएस में इन्हें लेखन का काम सौंपा गया था।

31.

31.

सन 1987 में नरेंद्र मोदी पूरी तरह से बीजेपी में शामिल हो गए। अहमदाबाद नगरपालिका चुनाव में भाजपा की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

32.

साल 1987 में ही नरेंद्र मोदी को पार्टी के गुजरात ब्रांच के महासचिव के रूप में चुना गया। इसके बाद मोदी ने कभी पीछे पलट कर नहीं देखा।

33.

33.

नरेंद्र मोदी ने पहली बार साल 2001 में विधान सभा चुनाव लड़ा और राजकोट में दो में से एक सीट जीती।

34.

नरेंद्र मोदी की साधारण जीवनशैली, दूरदर्शिता, पारदर्शिता और जीवटता की वजह से उनकी लोकप्रियता बढ़ती गयी और लगातार 2002, 2007, 2012 में वे मुख्यमंत्री चुने गए।

35.

यही नहीं, उनकी लोकप्रियता का ग्राफ बढ़ता गया और देश की जनता ने 2014 में उन्हें प्रधानमंत्री के पद पर बिठाया।

36.

36.

अपनी कुशल कार्यशैली और राजनीतिक सूझबूझ की वजह से 2019 में दोबारा प्रधानमंत्री चुने गए।

37.

कुर्ता ज्यादा खराब न हो इसलिए नरेंद्र मोदी अपने कुर्ते की बांह छोटी करवा लेते थे। इनका ये स्टाइल मोदी ब्रांड कुर्ता के रूप में मशहूर हो गया।

38.

38.

नरेंद्र मोदी सारे प्रचारकों से अलग तरह की दाढ़ी रखते थे। समय समय पर दाढ़ी ट्रिम करवाने की वजह से एक बार संघ के अध्यक्ष माधवराव गोलवलकर ने इस पर टिप्पणी भी की थी।

39.

नरेंद्र मोदी को बचपन से ही आम बहुत पसंद है। गरीबी की वजह से वे आम खरीदकर नहीं खा सकते थे तो खेतों में चले जाते और पेड़ के पके आम खाते थे।

40.

जब भी सैनिक गांव में निकलते थे तो मोदी उन्हें देखकर सेल्यूट किया करते थे।

41.

41.

एक साक्षात्कार के दौरान मोदी ने ये स्वीकार किया कि वे बहुत सख्त हैं, अनुशासित हैं लेकिन कभी किसी के ऊपर गुस्सा नहीं किया।

42.

नरेंद्र मोदी का कहना है कि इनको लेकर सख्त प्रशासक की जो छवि बन गयी है वो सच नहीं है।

43.

43.

नरेंद्र मोदी खुद बहुत काम करते हैं इसलिए उनकी टीम को भी उतना ही काम करना पड़ता है। हालांकि मोदी ज्यादा काम करने के लिए दबाव नहीं डालते हैं।

44.

विपक्षी दलों में भी नरेंद्र मोदी के बहुत अच्छे मित्र हैं।

45.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी हर साल नरेंद्र मोदी को उपहार स्वरूप कुर्ते भेजती हैं।

46.

46.

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का नरेंद्र मोदी से विशेष लगाव है और साल में तीन-चार बार ढाका से मिठाई भेजती हैं।

47.

शेख हसीना द्वारा नरेंद्र मोदी को मिठाई भेजे जाने की बात जानने के बाद ममता बैनर्जी ने भी मिठाई भेजना शुरू कर दिया।

48.

48.

एक बार नरेंद्र मोदी ने मेहनत के महत्व पर बोलते हुए कहा कि आने वाली पीढ़ियों को अलादीन के चिराग वाली थ्योरी पढ़ानी बंद कर दी जानी चाहिए।

49.

अपने ऊपर बनाये गए मीम्स को देखकर नरेंद्र मोदी खूब एंजॉय करते हैं।

50.

नरेंद्र मोदी का कहना है कि मीम्स में खुद को नहीं बल्कि रचनात्मकता को देखना चाहिए।

51.

51.

सोशल मीडिया पर अपने खिलाफ पोस्ट या मीम को देखकर भी नरेंद्र मोदी संतुलित रहते हैं और इससे बनाने वाले का उद्देश्य नाकाम हो जाता है।

52.

नरेंद्र मोदी अपनी मां को कभी पैसा नहीं भेजते हैं बल्कि जब भी वो मां से मिलते हैं तो उनकी मां उन्हें सवा रुपया देती हैं।

53.

53.

नरेंद्र मोदी का कहना है कि उन्हें अनुशासन और टीम भावना संघ की शाखाओं से मिले हैं।

54.

वे जब संघ की शाखा जाते थे तो गुली-डंडा खूब खेलते थे।

55.

55.

नरेंद्र मोदी बचपन में अपने परिवार के सारे कपड़े खुद धोया करते थे।

56.

नरेंद्र मोदी चाय के खुद बहुत बड़े शौक़ीन हैं।

57.

57.

नरेंद्र मोदी को सुबह पांच बजे और शाम 6 बजे चाय पीने की आदत है।

58.

जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बनें तब तक उनका कोई बैंक अकॉउंट नहीं था।

59.

नरेंद्र मोदी के पास एक प्लॉट है जिसे उन्होंने पार्टी को दे दिया लेकिन कुछ नियमों की वजह से यह मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।

60.

60.

नरेंद्र मोदी का विवाह घांची समुदाय की रिवायतों के अनुसार 18 साल की उम्र में सन 1968 में जशोदा बेन चिमनलाल के साथ हुआ।

English summary

PM Narendra Modi’s 70th Birthday: Interesting Facts About Narendra Modi in Hindi

On 17 September 2020, Honourable Prime Minister Narendra Modi will turn 70. On his 70th birth anniversary, we have brought interesting lesser known facts about him that you must know.