मर्दाना कमज़ोरी और बांझपन की प्रॉबलम्‍स को दूर करें जिनसेंग से

Subscribe to Boldsky

यदि कोई कपल अपनी शादी-शुदा जिंदगी में एक प्‍यारी सी जान को दुनिया में लाने की सोचता है तो यह दोंनो के लिये ही बड़ी खुशी की बात होती है। लेकिन कई ऐसे कपल्‍स भी हैं जिन्‍हे यह खुशी नहीं प्राप्‍त हो पाती और यह काफी तकलीफदेह होता है। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आपको बच्‍चे की खुशी कभी प्राप्‍त नहीं होगी बल्‍कि प्रकृति ने हमें ऐसी तमाम चीजें दी हैं, जो पुरुषों में बांझपन की समस्‍या को खतम कर सकता है।

आज कल लोग देर से शादी करते हैं और देर से बच्‍चा पैदा करने की सोंचते हैं, जिसके चलते पुरूषों की उम्र जैसे जैसे बढ़ती जाती है उनमें शीघ्रपतन और बांझपन की समस्‍या अपने आप ही आने लगती है। इन सब बीमारियों से बचने के लिए लोग तमाम तरह के घरेलू उपचार अपनाते हैं।

Ginseng to Help with Male Infertility

जिसमें से जिनसेंग नामक जड़ी बूटी आज कल काफी पॉपुलर हो रही है। यह साइबेरिया, उत्‍तरी चीन और कोरिया में पाया जाता है, जो कि अब भारत मे भी आसानी से मिलने लगा है। यह एक स्‍वास्‍थ्‍य से भरी जड़ी बूटी है इसका प्रयोग चीन की चिकित्‍सा में किया जाता था। इसकी चाय, कैप्‍सूल और दवाइयां भी मिलती हैं।

वैसे तो यह पूरे शरीर के लिये लाभकारी है लेकिन अगर पुरुषो की यौन क्षमता या बाझंपन दूर करने की बात आए तो यह किसी अमृत से कम नहीं है। आइये जानते हैं यह कैसे लाभ पहुंचाती है।

1. इरेक्टाइल डिसफंक्शन

अधिकांश पुरुष सेक्स से जुड़ी इस समस्या से पीड़ित रहते हैं। खासतौर पर उम्र बढ़ने के साथ यह समस्या और बढ़ती जाती है। 40 साल से ऊपर लगभग 5% लोग इससे पीड़ित होते हैं वहीँ 70 साल से अधिक उम्र के लगभग 15% लोग इससे पीड़ित रहते हैं।

2. टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढाए

स्‍वस्‍थ शुक्राणु के लिये टेस्‍टोस्‍टेरोन हार्मोन का ज्‍यादा होना काफी जरुरी है और इस काम के लिये जिनसेंग काफी प्रभावी है। जींसेंग प्रभावी है क्योंकि यह सेक्‍स हार्मोन को बढाता है। टेस्‍टोस्‍टेरोन सेक्‍स अंगों को हेल्‍दी बना कर यौन स्‍वास्‍थ्‍य को सुधारता है। साथ ही यह शरीर में खून का प्रवाह बढाता है जिससे हर अंगों में ब्‍लड का फ्लो अच्‍छी तरह से होता है। यह खून को बड़ी तेजी के साथ पंप करता है, इससे ना केवल आप जवान महसूस करते हैं बल्‍कि शरीर में मजबूती भी आने लगती है और सेक्‍स डिजायर भी बढता है।

3. स्‍पर्म काउंट बढाए

पुरुष बांझपन के मुख्य कारणों में से एक शुक्राणु की संख्या कम होना होता है। अधिक सटीक तरीके से समझें तो जिस पुरुष की, स्खलन के दौरान शुक्राणु की गिनती प्रति 20 लाख से कम होती है, उसका शुक्राणु कम माना जाता है।

4. शुक्राणु की गतिशीलता में सुधार

अगर आपके शुक्राणुओं की गतिशीलता में कमी है तो आप अभी भी प्रजनन समस्या से गुजर रहे हैं। जिनसेंग इस समस्‍या में 50% तक मदद कर सकता है।

5. शांतिकारी प्रभाव

एक व्यक्ति का यौन प्रदर्शन आसानी से थकान और मानसिक और मानसिक दोनों तरह की समस्‍याओं की वजह से खराब हो सकता है। अध्ययनों से पता चला है कि जींसेंग की गोली लेने वाले पुरुषों की लाइफ अच्‍छी होती जाती है क्‍योंकि उनका तनाव, नींद और ऊर्जा बढ जाता है। लेकिन इस मामले में पहले अपने डॉक्‍टर से बात करना ना भूलें।

इसकी चाय कैसे बनाएं

1-2 ग्राम जिनसेंग के सूखे पावडर 150 - 250 एम एल उबलते हुए पानी में 10 मिनट तक रखें। फिर इसे छान लें।

इसकी चाय कैसे बनाएं

1-2 ग्राम जिनसेंग के सूखे पावडर 150 - 250 एम एल उबलते हुए पानी में 10 मिनट तक रखें। फिर इसे छान लें।

क्‍या रखें सावधानी -

आप इसको बिना किसी डर के ले सकते हैं। इसका कोई दुष्‍प्रभाव नहीं है। महिलाओं को इसका सवेन प्रेगनेंसी में नहीं करना चाहिये। यह उनके हार्मोन को प्रभावित कर सकता है।

बच्‍चों को ना दें

यह सेक्‍स हार्मोन को बढाताा है, इसलिये इसे बच्‍चों को नहीं देना चाहिये।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Ginseng to Help with Male Infertility

    Ginseng is a powerful herb in overcoming male infertility issues, from assisting with low sperm count to improving sperm motility to boosting testosterone levels.
    Story first published: Monday, November 13, 2017, 10:30 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more