पेट की चर्बी को गलाना है तो रोज पिए मसाले वाला हल्‍दी का दूध

Posted By:
Subscribe to Boldsky
Turmeric Milk, हल्दी वाला दूध |Health Benefits | हल्दी वाले दूध के अनगिनत फायदे | BoldSky

आज लोंगो में जागरूकता आ रही है और वो खुद को स्‍वस्‍थ बनाए रखने के लिये हल्‍दी का ज्‍यादा से ज्‍यादा प्रयोग कर रहे हैं। खाने में जब तक हल्‍दी की एक चुटकी ना पड़े, तब तक खाने का जायका नहीं बढ़ता।

इसके अलावा हमारी दादी या नानी की बात मानी जाए तो हल्‍दी वाला दूध पीने से शरीर को ढेर सारे फायदे मिलते हैं सो अलग।

पर हम में से कितने लोग जानते हैं कि हल्‍दी वाला दूध पीने से शरीर की चर्बी गलाने में भी मदद मिलती है ? जी हां, सही समझा आपने, अगर आप डायटिंग कर रहे हैं तो उसके साथ साथ टोन्‍ड मिल्‍क में थोड़ी हल्‍दी भी मिला लीजिये और फिर गरम कर के पीजिये।

अगर आप जानने चाहते हैं कि हल्‍दी वाला दूध पीने से किस तरह से चर्बी गलती है तो यह आर्टिकल पढ़ना ना भूलें।

लाभ # 1: फैट को जमा होने से रोके

लाभ # 1: फैट को जमा होने से रोके

हल्दी का दूध शरीर में फैट को जमा होने से रोकता है। हमारे शरीर में दो प्रकार के फैट पाए जाते हैं। ब्राउन फैट (जो शरीर के लिए ऊर्जा पैदा करने के लिए जला दिया जाता है) और सफेद फैट (जो कि भविष्य के उपयोग के लिए अतिरिक्त कैलोरी स्टोर करने के लिए उपयोग किया जाता है) ये दोंनो एक अच्छे पुलिसकर्मी और बुरे पुलिसकर्मी की तरह हमारे शरीर में काम करते हैं।

यदि आप मोटापे से ग्रस्त व्यक्ति हैं, तो आपका शरीर फैट को जमा करता रहेगा और भले ही बाद मे इसे यूज़ में ना लाए। चूंकि ये ऊतक आपके शरीर में हर दूसरे सेल के समान हैं, इसलिए वे जल्द ही ऑक्सीजन

की मांग करना शुरू कर देते हैं। जो उनके आसपास रक्त वाहिकाओं का एक नेटवर्क बना देता है और इस तरह उन्हें बढ़ने के लिए अधिक प्रोत्‍साहन प्रदान करता है। इसी बीच हल्‍दी आपकी मदद करती है क्‍योकि इसमें कर्क्यूमिन नामक एक यौगिक होता है, जो शरीर में फैट जमने से रोकती है।

लाभ # 2: सही डाइट के साथ लेंगे तो होगा और ज्‍यादा असर

लाभ # 2: सही डाइट के साथ लेंगे तो होगा और ज्‍यादा असर

यह उचित आहार के वजन घटाने के प्रभाव को बढ़ाता है। यदि आप सही नहीं खाते हैं, तो आप अपना वजन कम करने में असफल रहेंगे। दुर्भाग्य से, कुछ लोग वजन घटाने के प्रति अधिक प्रतिरोधी होते हैं। इसलिये हल्‍दी वाला दूध पीना आपके लिये लाभकारी हो सकता है। इसे दिन मे एक या दो बार लिया जा सकता है। और साथ ही अपनी डाइट भी चलाते रहें।

लाभ # 3: वाइट फैट को ब्राउन फैट में बदले

लाभ # 3: वाइट फैट को ब्राउन फैट में बदले

हल्‍दी, सफेद वसा को भूरे रंग के वसा में बदल देती है। जैसा कि बिंदु # 1 में बताया गया है, भूरे रंग का वसा शरीर के लिए अच्छा है क्योंकि यह जल कर शरीर मे ऊर्जा पैदा करता है।

लाभ # 4: मेटाबॉलिज्‍म को बढाए

लाभ # 4: मेटाबॉलिज्‍म को बढाए

यह शरीर की चयापचय और थर्मोजेनेसिस को बढ़ता है। हर दिन शरीर द्वारा ऊर्जा का उपयोग किया जाता है, यह मेटाबॉलिज्‍म से संबंधित है और हल्दी इसमें बहुत अच्छा काम करती है। इस प्रकार, शरीर को अधिक संग्रहित वसा जलाने में मदद मिलती है।

लाभ # 5: मोटापे की सूजन को कम करे

लाभ # 5: मोटापे की सूजन को कम करे

हल्‍दी, मोटापे की वजह से सूजन को दबाती है। हमारे शरीर में वसा के ऊतकों (वसा वाले भंडार) में एडीओपोकिन्स उत्पन्न होती हैं, जैसे IL-6 और TNF-α, जो की काफी ज्‍यादा भड़काऊ एजेंटों में से एक हैं। हल्‍दी को भोजन में खाने से फ्री रैडिकल्‍स बनना बंद हो जाते हैं, जिससे सूजन कम होने लगती है।

लाभ # 6: एंटी-डायबिटीज

लाभ # 6: एंटी-डायबिटीज

हल्दी में आपके रक्त शर्करा के स्तर को कम करने की क्षमता है। इसके अलावा, यह शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध को भी कम कर देती है। इसलिए, यह एक शक्तिशाली विरोधी मधुमेह एजेंट है।

लाभ # 7: मेटाबोलिक सिंड्रोम को रोकती है

लाभ # 7: मेटाबोलिक सिंड्रोम को रोकती है

मेटाबोलिक सिंड्रोम एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर की रक्त शर्करा, कोलेस्ट्रॉल, रक्तचाप, और शरीर में वसा का स्तर काफी बढ जाता है। जो बदले में हृदय रोग, मधुमेह और स्ट्रोक की ओर जाता है। हल्दी में शरीर में कोलेस्ट्रॉल और रक्त शर्करा के स्तर को कम करके की शक्‍ती होती है।

# 8 लाभ: अवसाद से लड़ती है

# 8 लाभ: अवसाद से लड़ती है

मोटापा और अवसाद एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। वास्तव में, अध्ययनों से पता चला है कि दोनों स्थितियों में सूजन, इंसुलिन प्रतिरोध और हार्मोनल असंतुलन जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

इसलिए, हल्दी अवसाद से लड़ने के लिए सबसे बेहतर साबित होती है क्योंकि यह ब्रेन में सेरोटोनिन और डोपामिन रिलीज को बढावा देती है, जो पूरे दिन आपके मन को खुश किये रहता है।

लाभ # 9: सूजन कम कर देती है

लाभ # 9: सूजन कम कर देती है

घावों में सूजन उत्पन्न होती है, जिससे शरीर के प्रभावित क्षेत्र सूज जाते हैं। यह दर्दनाक है और खतरनाक हो सकता है और हल्दी अपने anti-inflammatory प्रभाव के माध्यम से सूजन को कम कर देती है।

लाभ # 10: जीवाणुरोधी गुण हैं

लाभ # 10: जीवाणुरोधी गुण हैं

हल्दी को घाव भरने के लिये प्रयोग किया जाता है क्‍योंकि इसमें बैक्टीरिया को मारकर संक्रमण को रोकने की शक्‍ति होती है।

लाभ # 11: झुर्रियां मिटाए

लाभ # 11: झुर्रियां मिटाए

रोजाना हल्‍दी वाला दूध पीने से चेहरे की झुर्रियां दूर होती हैं क्‍योंकि यह फ्री रैडिकल्‍स को बनने से रोकता है।

लाभ # 12: कफ और सर्दी से बचाए

लाभ # 12: कफ और सर्दी से बचाए

ठंड लग जाने पर गुनगुना हल्‍दी वाला दूध पीने से आपकी सर्दी-जुखाम कुछ ही दिनों में गायब हो जाएगी।

English summary

Spiced Turmeric Milk For Cutting Belly Fat & More

These benefits of drinking turmeric milk will blow your mind. Don’t say we didn’t tell you.
Story first published: Wednesday, October 25, 2017, 15:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...