For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों में जाने से आपको होते हैं ये 3 चौंकाने वाले लाभ

By Lekhaka
|

इन दिनों पश्चिम बंगाल सहित देश की कई हिस्सों में दुर्गा पूजा की धूम है। इस राज्य में इस पांच दिवसीय उत्सव की तैयारी महीनों पहले शुरू हो जाती है।

पूजा के आयोजक पंडालों को रोशनी, झूमर, किलों या पहाड़ी से तैयार करना शुरू कर देते हैं। पूजा पंडाल की एक झलक पाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ती है।

दुर्गा पूजा के दौरान अपच की समस्या से बचने के 4 आसान उपाय

यह परिदृश्य मुंबई में गणेश चतुर्थी के समान है। यह त्योहार बहुत उत्साह से मनाया जाता है। सुबह वैदिक प्रार्थनाओं का जप करने के साथ शुरू होती है। पंडालों में स्वस्थ और स्वादिष्ट प्रसाद बांटे जाते हैं।

कुछ लोग व्यस्त समय-सारिणी के कारण पंडालों का दौरा करने में असमर्थ होते हैं। इसके अलावा पंडालों की भीड़ या छेड़छाड़, उत्पीड़न के कारण लोग यहां आना पसंद नहीं करते हैं।

लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि पंडालों में जाने से आपको कई स्वास्थ्य लाभ भी हो सकते हैं। बेशक आपको यह बात चौंकाने वाली लग सकती है, लेकिन ऐसा होता है। चलिए जानते हैं पंडालों में जाने से आपको क्या-क्या स्वस्थ लाभ हो सकते हैं।

मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा
त्योहार आपके जीवन में खुशियां और रंग लाते हैं। आपको अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से मिलने का मौका मिलता है। रोजाना किसी रेस्टोरेंट या शॉपिंग मॉल में दोस्तों के साथ घूमना नीरस हो सकता है, लेकिन एक सर्कल में बैठकर और पूजा करने से आनंद मिलता है।

दुर्गा पूजा में नींबू का प्रयोग क्यों किया जाता है?

पूजा का सार आपकी मानसिक स्थिति के लिए अच्छा हो सकता है। इससे आप ज्यादा आराम से और परेशानी कम होती है। परिवार और दोस्त ऊर्जा बढ़ाने वाले होते हैं लेकिन अक्सर उनसे मिलना संभव नहीं होता है। ऐसे में त्यौहार उनसे मिलने और आनन्दित होने का एक तरीका है।

तनाव कम होता है
खुश रहने से आप लंबे समय तक जीते हैं। यह त्योहार खुशियों और उल्लास से भरा है। आप काम या घर पर तनाव के बारे में भूल जाते हैं और उत्सव के मूड में आ जाते हैं। यहां तक कि कई पंडल घूमने के बाद भी आप शायद ही थके हुए होते हैं और आगे बढ़ते हैं।

आपका ऊर्जा स्तर पूरी तरह से भर जाता है और शायद ही कभी किसी भी बीमारी को महसूस करते हैं। इसलिए, त्योहार न केवल हमारी परंपराओं का एक हिस्सा है, बल्कि मन और हृदय को सक्रिय रखने के लिए किया जाता है।

बैक्टीरिया और वायरल इन्फेक्शन का खतरा कम
दुर्गा पूजा के दौरान किसी भी पंडल की यात्रा करें, तो आपको घंटी बजने और शंख की आवाज़ सुनाई देती है। यह प्राचीन समय से माना जाता है कि घंटियाँ और शंख की आवाज जगह के आसपास बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करने में मदद करती है।

यह त्योहारी सीजन आपके जीवन को पूरी तरह खुशी से भर देता है और आपके तनाव और चिंताओं को कम करता है।

English summary

Health Benefits Of Visiting Pandals During Durga Puja

Visiting pandals and even temples can have several health benefits. Know more about it here on Boldsky.
Story first published: Monday, September 25, 2017, 10:00 [IST]
Desktop Bottom Promotion