मानसून सीजन में आंखों को इन्फेक्शन से बचाने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू उपचार

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

मानसून चिलचिलाती गर्मी से राहत तो दिलाता है लेकिन साथ में कई बीमारियां और संक्रमण भी लाता है। कई सावधानियां बरतने के बावजूद हम हर साल इन संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। मानसून के दस्तक देते ही वातारण में नमी बढ़ जाती है जिससे संक्रमण बढ़ने का खतरा भी उतना ही तेज हो जाता है। मानसून के सीजन में डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, सर्दी-खांसी, पैरों और आंखों में इन्फेक्शन जैसी कुछ बीमारियां हमें परेशान करने लगती हैं।

मानसून के दौरान आंख आना (Conjunctivitis), आंखों में सूजन, आंखों का ड्राई होना, कॉर्निया में अल्सर आदि के संक्रमण का खतरा बना रहता है। इस सीजन में ज्यादा साफ-सफाई की ओर ध्यान देने की जरूरत पड़ती है। प्रतिदिन अपने हाथों को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए।

घर से बाहर निकलने पर आंखों की सुरक्षा के लिए सनग्लास पहने और आंखों को बार-बार हाथों से न छुएं।

ये एहतियात बरतकर आप आंखों की संक्रामक बीमारियों से काफी हद तक अपने को सुरक्षित रख सकते हैं।

अगर ट्रीटमेंट की जरूरत पड़े तो घरेलू उपचार ही सर्वोत्तम है। घरेलू उपचार की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं पड़ता है।

इस आर्टिकल में हम उन घरेलू नुस्खों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे अपनाकर आप मानसून के मौसम में आंखों में होने वाले इन्फेक्शन से बच सकते हैं।

1. कोल्ड कम्प्रेस:

1. कोल्ड कम्प्रेस:

यदि आपके आंखों में खुजली हो रही हो तो कोल्ड कम्प्रेस करके आप घर पर ही अपना प्रभावी इलाज कर सकते हैं। बर्फ के ठंडे पानी में एक कॉटन भिगोएं और आंखों के आस-पास इसे कुछ मिनट तक लगाए रखें इससे आंखों को राहत मिलेगी। जब तक आराम न मिल जाए इस प्रक्रिया को दिन में कई बार अपनाएं।

2. टी बैग:

2. टी बैग:

इसके अलावा आप अपनी आंखों पर कैमोमाइल टी बैग रखकर भी आराम पा सकते हैं। कैमोमाइल टी बैग को एक या दो घंटों के लिए रेफ्रिजरेटर में रखें। इसके बाद उन्हें बाहर निकालकर पांच या दस मिनट तक अपनी आंखों पर रखे रहने दें। जल्दी आराम पाने के लिए इस प्रक्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

3. सॉल्ट वाटर:

3. सॉल्ट वाटर:

पानी और नमक का कांबिनेशन आंखों की खुजली और दर्द के इलाज में मदद करता है। नमक-पानी के मिश्रण से अपनी आंखों को धोएं क्योंकि यह आंखों की जलन और सूजन को कम कर देता है और आंखों में जो गंदगी जमा रहती है उसे दूर करने में मदद करता है। नमक एक एंटीबैक्टीरियल एजेंट के रूप में कार्य करता है और बैक्टीरिया को खत्म करता है। नेचुरल आई-वॉश बनाने के लिए एक कप डिस्टिल्ड वॉटर में एक चम्मच नमक मिलाएं। इसे तब तक उबालें जब तक नमक पानी में पूरी तरह से घुल न जाए। अब इसे थोड़ी देर तक ठंडा होने दें और फिर अपनी आंखों पर छीटें मारें। दिन में दो से तीन बार इसे दोहराएं।

4. ग्रीन टी:

4. ग्रीन टी:

ग्रीन टी में आंखों की जलन को कम करने के गुण पाए जाते हैं जिससे आंखों को आराम मिलता है। आई-वॉश बनाने के लिए एक कप डिस्टिल्ड वॉटर में दो ग्रीन टी बैग उबालें। इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर दिन में दो बार इस पानी से आंखों पर छींटे मारें। जब तक आपको पूरी तरह आराम महसूस न हो यह प्रक्रिया दोहराते रहें।

5. एलोवेरा:

5. एलोवेरा:

एलोवेरा में एंटीफंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। यह संक्रमण के कारण आंखों में हो रही खुजली को दूर करने में मदद करता है। इसलिए एलोवेरा का भी आप इस्तेमाल कर सकते हैं.

6. खीरा:

6. खीरा:

खीरे में आंखों की जलन (eye irritation ) को कम करने के गुण पाए जाते हैं। यह आंखों में जलन, खुजली, लालिमा और सूजन जैसी आंखों की कई समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। खीरे को स्लाइस में काटें और इसे अपनी आंखों के ऊपर रखें। पांच से दस मिनट तक इसे रखे रहें फिर आंखों को पानी से धो लें। इसके अलावा आप आंखों में खुजली और दर्द से छुटकारा पाने के लिए खीरे के रस को भी आंखों पर लगा सकते हैं। खीरे के टुकड़ों से रस निचोड़े और इसमें कॉटन बाल भिगोयें। अब आंखों को कुछ देर के लिए बंद करके इस पर कॉटन बाल से रस को लगाएं। इससे आपको आराम मिलेगा।

7. मेथी के बीज:

7. मेथी के बीज:

अपनी आंखें बंद करके इस पर मेथी के दाने का पेस्ट लगाएं। पंद्रह से बीस मिनट बाद आंखों को ठंडे पानी से धो लें। इससे आंखों की जलन, लालिमा और सूजन कम हो जाएगी और आपको राहत महसूस होगा।

English summary

Home Remedies For Eye Infections During Monsoon

Eye infections are common during the monsoon season. Know about a few of the home remedies to treat eye infections, here on Boldsky.
Please Wait while comments are loading...