पॉटी के लिए स्क्वाट पोजीशन यानि उकड़ूँ क्यों बैठना चाहिये

By Staff
Subscribe to Boldsky

आजकल लोगों में बवासीर एक सामान्य समस्या है। ये समस्या रेक्टम हिस्से और नसों में सूजन के कारण होती है। बवासीर में पॉटी के दौरान ब्लड आने के साथ-साथ दर्द का अनुभव होता है। इसके पीछे पुराना कब्ज़ या आंत का कोई रोग हो सकता है। इससे बचने के लिए हम आपको एक आसान तरीका बता रहे हैं।

पॉटी के लिए स्क्वाट पोजीशन यानि उकड़ूँ क्यों बैठते हैं?

एक्सपर्ट कहते हैं कि स्क्वाट पोजीशन यानि उकड़ूँ बैठने से कोलन डिजीज, कब्ज, बवासीर, पैल्विक फ्लोर की समस्याओं से बचने में मदद मिल सकती है। आयुर्वेद के अनुसार, यह पोजीशन पॉटी करने के लिए सबसे बेहतर है जिसे योग में मालासन कहा जाता है।

 Why Should You Squat To Poop?

लोग अपने मल को कंट्रोल कर सकते हैं। लेकिन मसल्स अपनेआप संयम नहीं रख सकती हैं। बॉडी भी रेक्टम और एनस के बीच एक मोड़ पर निर्भर करती है।

जब आप ऊपर खड़े होते हैं, तो इस मोड़ की हड्डी, जिसे एनोरेक्टल कोण कहते हैं, लगभग 9 0 डिग्री का है, जो रेक्टम पर ऊपर की ओर दबाव डालता है और अंदर मल रहता है। जबकि बैठने से मोड़ सीध हो जाता है और शौच आसानी से हो जाता है।

अधिकतर लोगों का मानना है कि बैठने से वो कोलन के पूर्ण निकास को प्राप्त कर सकते हैं। रोग की वजह से विषाक्त पदार्थ आपकी आंत को नष्ट कर सकते हैं। बवासीर की रोकथाम के लिए इस पोजीशन में बैठना चाहिए।

गर्भावस्था, मोटापा, और गुदा सेक्स से बवासीर की समस्या हो सकती है। लेकिन बवासीर की समस्या आमतौर पर पॉटी करने में कठिनाई यानि कब्ज के कारण होती है।

जब आप पॉटी के लिए जोर लगाते हैं, इससे आपके पेट में दबाव बढ़ जाता है, जिससे आपके गुदा को तेज करने वाली नसों की संख्या बढ़ जाती है।

बवासीर के मरीजों की नसों सूजन रहती हैं और कभी-कभी खून भी आता है। इसलिए उकडूं पोजीशन में बैठकर काफी हद तक बवासीर से बचने में मदद मिलती है। क्योंकि इस स्थिति में बैठने से आपके पेट पर दबाव नहीं बनता है और आपका पेट आसानी से साफ हो जाता है।

English summary

पॉटी के लिए स्क्वाट पोजीशन यानि उकड़ूँ क्यों बैठना चाहिये | Why Should You Squat To Poop?

Experts have pointed out that the squatting position is more natural and can help avoid colon disease, constipation, hemorrhoids, pelvic floor issues and similar ailments.
Story first published: Thursday, June 22, 2017, 7:00 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more