For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

पांच साल से कम हर तीन में से एक बच्‍चा कुपोषण और मोटापे से है ग्रसित: यून‍िसेफ

By Nisha
|

यूनिसेफ की एक नई रिपोर्ट के अनुसार, पांच साल से कम उम्र के प्रत्येक तीन में से एक बच्चा कुपोषण या ज्यादा वजन का शिकार है। इससे दुनियाभर में कुपोषित आहार के परिणामों के प्रति सतर्क कर दिया है। यूनिसेफ ने सोमवार को प्रकाशित रिपोर्ट में चेतावनी दी कि करोड़ों बच्चे अपनी जरूरत से बहुत कम खाना खाते हैं और जिसकी जरूरत नहीं होती है उसे अत्यधिक मात्रा में खाते हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि दुनियाभर में बीमारियां फैलने के पीछे अब मुख्य खतरा खराब आहार है।

यूनिसेफ ने रिपोर्ट में कहा कि इनमें से कई बच्चों पर दिमाग के अल्प विकास, याद करने में परेशानी, कमजोर प्रतिरोधक क्षमता और संक्रमण तथा बीमारियों का खतरा है। यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर ने कहा कि बेहतर विकल्प नहीं होने के कारण करोड़ों बच्चे बिना पोषक तत्‍वों वाला भोजन से ही गुजारा करते हैं। रिपोर्ट में कुपोषण के तीन बोझ बताए- अल्पपोषण, छिपी हुई भूख और अधिक वजन।

यूनिसेफ के आंकड़ों के अनुसार, साल 2018 में दुनियाभर में पांच साल से कम के 14.9 करोड़ बच्चे अविकसित और लगभग पांच करोड़ बच्चे कमजोर थे। इन कुपोषण शिकार बच्‍चों में एशियन बच्‍चों की संख्‍या ज्‍यादा हैं।

इसके अलावा, पांच साल से कम के 34 करोड़ बच्चे जरूरी विटमिनों और अन्य खनिज पदार्थों की कमी से पीड़ित हैं और चार करोड़ बच्चे मोटापा या ज्यादा वजन से पीड़ित हैं। मोटापा या ज्यादा वजन पिछले कुछ सालों में बच्चों में महामारी के रूप में फैला है।

English summary

One in Three Children Don't Receive Proper Nutrition : UNICEF

One in three children don't receive proper nutrition : Unicef