For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

आंखों को जोर से रगड़ने से आप हो सकते हैं अंधे, जानें ऐसा करने की वजह, नुकसान और कैसे इस बुरी आदत से बचें

|

आंखे मलने या रगड़ने का मतलब बहुत कुछ हो सकता है, जैसे क‍ि आंखों में संक्रमण, एलर्जी या आंखों में कोई कचरा गिर गया हो। इसके अलावा कुछ लोगों की आदत भी होती है आंखों को बार-बार रगड़ने या मलने की। अगर आपको भी ये आदत है तो आपको अपनी आंखों को रगड़ने से बचना चाहिए क्योंकि अगर आप आंखों को बार-बार और प्रेशर के साथ रगड़ते हैं तो इससे आंखों को नुकसान पहुंच सकता हैं।

आंखों को बार-बार रगड़ने की वजह

आंखों को बार-बार रगड़ने की वजह

कंजक्टिवाइटिस या आंख आना या गुलाबी आंखों की वजह से आंखों में बार-बार इरिटेशन फील होती है। जिसकी वजह से न चाह कर भी आप बार-बार आंखों को रगड़ते है। इस इंफेक्‍शन में आंखों में जलन या दर्द का अहसास तो नहीं होती है लेक‍िन बार-बार खुजली महसूस होने के वज‍ह से आंखों का रगड़ते हो। इसके अलावा आंखों में क‍िसी प्रकार की एलर्जी होने की वज‍ह से भी आप आंखों को बार-बार मलते हो।

आंखें रगड़ने से हो सकते हैं ये नुकसान-

आंखें रगड़ने से हो सकते हैं ये नुकसान-

इंफेक्‍शन का फैलना

दिनभर में हमारे हाथ कई जगह लगते है। ऐसे में कई जर्म्‍स हाथों के संपर्क में आते है। जब हम आंखों में क‍िरकिरी महसूस होने पर हाथों को बिना धोएं छूते है तो

हमारे हाथों के जर्म्‍स आंखों तक पहुंचकर इंफेक्‍शन के खतरे को बढ़ा देते हैं।

ग्‍लूकोमा के रोगी रहें अलर्ट

ग्‍लूकोमा के रोगी रहें अलर्ट

ग्‍लूकोमा के रोगियों को कम दिखाई देता है। ऐसे में अगर वो आंखों को दबाव बनाकर रगड़े तो इससे उनकी ऑप्टिक नर्व प्रभावित हो सकती है और इससे बुरी तरह नुकसान पहुंच सकता है। इसकी वजह से वो अंधेपन का शिकार भी हो सकते है।

आंखों में हैमरेज होना

आंखों में हैमरेज होना

आंखों में महीन धमिनयां यानी पतली रक्‍त वाहिकाएं होती हैं। जो बहुत ही मुलायम और नाजुक होती हैं। इन धमन‍ियों का काम ब्‍लड सकुर्लेशन को बनाएं रखना होता है। जब हम आंखों को जोर से रगड़ते हैं तो उससे ये धमनियां टूटने की स्थिति में आंखों में खून न‍िकल सकता है जिसे सब्‍कंजक्टिवल हैमरेज कहते है इसके अलावा आंखों की कंजाक्‍टीवा जिसें आंखों की सफेद परत के रुप में देखा जाता है वो भी खराब हो सकती है।

कॉर्निया का फटना

कॉर्निया का फटना

आंखों को बार-बार रगड़ने से आंखों में मौजूद कॉर्निया फटने का डर भी रहता है। कॉर्निया आंखों का सबसे संवेदनशील ह‍िस्‍सा होता है। जब हम बहुत तेज प्रेशर के साथ आंखों को रगड़ते हैं तो धुंधलापन या ब्‍लर व‍िजन का अहसास करते हैं। अगर आंखों को मलते समय थोड़ा सा भी प्रेशर ज्‍यादा दिया तो इससे आंखों की सतह यानी कॉर्निया पर घाव बन सकता है और आंखें सूजकर कॉर्निया फट सकती है।

आंखों को रगड़ने से कैसे बचें

आंखों को रगड़ने से कैसे बचें

आप इन आसान तरीकों से आंखों को रगड़ने से बच सकते हैं।

ओवर द काउंटर दवाएं

सेलाइन या आई ड्रोप से अपनी आंखें साफ करें, इससे आंखों में जमी गंदगी और कचरा बाहर न‍िकल जाएंगा। जिसकी वजह से आपको बार-बार आंखों में क‍िरकिरी सी महसूस नहीं होगी और आप आंखों को रगड़ने से बचेंगे। इसके अलावा डॉक्‍टर से मिलकर भी आप आंखों के ल‍िए दवाईयां ले सकते हो।

गर्म सेंक

इसके अलावा आप एक काम और कर सकते हैं क‍ि अपनी आंखों को बार-बार गर्म सेंक करें। इससे आंखें साफ होगी और आंखों की जलन और इरिटेशन से राहत मिलेगी।

English summary

Rubbing Your Eyes: Causes, Complications, Tips and Is it safe? explained in Hindi

Rubbing your eyes due to eye infection, allergies, or another health condition, here we explaing the Causes, Complications, Tips to avoid rubbing your eyes.