जरा सम्‍भलकर.. अगर आप वजाइना क्रीम लगाने की सोच रही है तो पहले इसे पढ़ ले!

By: Anoop Kumar Singh
Subscribe to Boldsky

वजाइना लड़कियों के शरीर का सबसे संवेदनशील अंग है इसलिए इसकी देखभाल सबसे ज्यादा करनी चाहिए। हाल के कुछ सालों से लड़कियां वजाइना को टाइट रखने को लेकर काफी जागरूक हो गयी हैं और इस वजह से बाज़ार में कई तरह की ऐसी क्रीम और जेल आने लगे हैं जो वैजाइना को टाइट करने का दावा करती हैं।

इस तरह की क्रीम और जेल पूरी तरह सुरक्षित नहीं हैं और इससे कई तरह के साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं। इसलिए इनके उपयोग से पहले सारी जानकारी पढ़ लें। इस आर्टिकल में हम आपको इन क्रीम के इस्तेमाल से होने वाले कुछ प्रमुख साइड इफ़ेक्ट के बारे में बता रहे हैं।

जलन:

जलन:

वजाइना को टाइट करने वाली क्रीम कई तरह के केमिकल से युक्त होती हैं। खासतौर पर इनमें मंजाकनी एक्सट्रेक्ट (Manjakani extract) नामक यौगिक ज़रूर होता है जो कि नुकसानदायक है। मंजाकनी एक्सट्रेक्ट का इस्तेमाल काफी पहले से ही जन्म के बाद वजाइना को टाइट करने के लिए किया जाता रहा है। इसके इस्तेमाल से वैजाइना में अंदर और बाहर दोनों साइड तेज जलन होने लगती है और उठने बैठने या पेशाब करने में भी काफी तकलीफ होने लगती है।

एलर्जिक रिएक्शन :

एलर्जिक रिएक्शन :

अगर क्रीम में मौजूद किसी केमिकल से आपको एलर्जी है तो इसके इस्तेमाल से आपको योनि में तेज खुजली, रेडनेस और रैशेज की समस्या होने लगती है। वजाइना में ऐसी एलर्जी होने से दिक्कतें काफी बढ़ जाती है और तेज दर्द भी होने लगता है। इसलिए क्रीम लगाने के बाद ऐसे कोई लक्षण दिखे तो तुरंत ऐन्टीहिस्टमीन (antihistamine) दवाइयां लें।

इन्फेक्शन:

इन्फेक्शन:

इस तरह की क्रीम से लड़कियों में बैक्टीरियल वैजिनोसिस (BV) और यीस्ट इन्फेक्शन का खतरा काफी बढ़ जाता है। वजाइना को स्वस्थ रखने में पीएच लेवल का महत्वपूर्ण रोल है जबकि वैजाइना के अंदर ऐसी कोई भी क्रीम या जेल डालने से जिसमें कई तरह के केमिकल हों वैजाइनल पीएच लेवल पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए इन क्रीमों से परहेज करें।

हार्मोन पर प्रभाव :

हार्मोन पर प्रभाव :

इस तरह के फेमिनिन प्रोडक्ट एंडोक्राइन सिस्टम को भी प्रभावित कर देते हैं। जिसमें ओवरीज, थायराइड ग्रंथि और पीयूष ग्रंथि मुख्य रूप से शामिल हैं। ये ही ग्रंथियां मुख्य रूप से हार्मोन का उत्पादन करती हैं। अगर इन पर कोई बुरा असर पड़ता है तो इससे पूरे शरीर का स्वास्थ्य खराब हो सकता है।

यौन संबंधी रोग :

यौन संबंधी रोग :

वजाइना को टाइट करने का दावा करने जैसी क्रीम या जेल के इस्तेमाल से आपको सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (STD) भी हो सकता है। आमतौर पर ऐसी क्रीम दुर्गंधरहित होते हैं जिससे एसटीडी के कारण आने वाली महक भी खत्म हो जाती है और आपको पता ही नहीं चलता है कि आपके वैजाइना में कोई इन्फेक्शन हुआ है। अगर ऐसे में काफी दिनों तक आप इलाज नहीं करवाती हैं तो आगे चलकर यह गंभीर रोग भी हो सकता है। इसलिए समय रहते ही डॉक्टर से जांच करवा लें।

वैजाइना को नेचुरल तरीके से कैसे टाइट करें:

वैजाइना को नेचुरल तरीके से कैसे टाइट करें:

किसी महंगी क्रीम की बजाय आप योनि को टाइट करने के लिए पेल्विक एक्सरसाइज करें। ये एक्सरसाइज वजाइना के आस पास कि मसल्स को टाइट कर देते हैं साथ ही उन्हें मजबूती भी प्रदान करते हैं।

कीगल एक्सरसाइज करें

कीगल एक्सरसाइज करें

वजाइनल मसल्स को टाइट करने के लिए कीगल एक्सरसाइज करना सबसे उपयुक्त है। इसमें आपको अपनी पेल्विक मसल्स को सिकोड़ना होता है और फिर थोड़ी देर बाद उन्हें ढीला छोड़ दें। इसे आप कहीं भी बैठे बैठे कर सकती हैं।

कीगल एक्सरसाइज को करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी पेल्विक मसल्स को पहचानना होगा। इसके लिए पेशाब करते समय बीच में उसे बार बार रोके और उन मसल्स पर ध्यान दें जिन पर दवाब बनाकर आप पेशाब रोक रही हैं। जब आप उन मसल्स को अच्छे से पहचान लें तो कभी भी कहीं भी बैठे हुए उन मसल्स को सिकोड़ें और फिर थोड़ी देर बाद ढीला छोड़ दें। इस एक्सरसाइज को दिन में तीन बार कम से कम 5 मिनट तक करें।

डॉक्‍टर की सलाह जरुर ले

डॉक्‍टर की सलाह जरुर ले

इसके अलावा इस बात का ध्यान रखें कि कभी भी बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई भी क्रीम जा जेल वैजाइना में ना लगायें। इससे आपके वैजाइना को बहुत नुकसान पहुंच सकता है।

English summary

Vaginal Tightening Creams: 5 Side Effects And Their Alternatives

The vagina needs to be treated with care. It’s the most sensitive part of your body! Yet, you might be wondering how to tighten it.
Please Wait while comments are loading...