तो ब्रह्मा जी के श्राप की वजह से महिलाओं को शुरु हुआ था मासिक धर्म आना

Posted By: Parul rohatgi
Subscribe to Boldsky

आज महिलाएं, पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर चलने लगी हैं लेकिन फिर भी इन दोनों के बीच का फर्क आज भी नहीं मिट पाया है। हमारी सभ्‍यता और संस्‍कृति में आज भी महिलाओं को पुरुषों से कम समझा जाता है।

जैविक रूप से महिलाओं को कई तरह की दिक्‍कतों जैसे माहवारी का सामना करना पड़ता है। कई हिस्‍सों में आज भी इस मुद्दे पर खुलकर बात नहीं की जाती है। लोगों की जीवनशैली, खाने के तरीके में तो बदलाव आ गया है लेकिन माहवारी को लेकर उनकी मानसिकता वहीं की वहीं है।

menstrual cycle and hindu religion

लेकिन पुराणों में माहवारी

एक बार की बात है तब गुरु बृहस्‍पति को इंद्र देव पर क्रोध आ गया था। इस बात का फायदा उठाकर असुरों ने देवलोक पर आक्रमण कर दिया। तब इंद्र देव डरकर अपना साम्राज्‍य छोड़ भाग खड़े हुए।

इस समस्‍या के निदान के लिए इंद्र देव ब्रह्मा जी के पास पहुंचे तब उन्‍हें ज्ञात हुआ कि उन्‍हें किसी ऋषि की सेवा करनी होगी।

ब्रह्मा जी ने इंद्र से कहा कि अपना साम्राज्‍य वापिस पाने के लिए आपको किसी ऋषि की सेवा करनी होगी और यदि वे प्रसन्‍न होते हैं तो आपको अपना राजपाट वापिस मिल जाएगा। तब इंद्र एक ऋषि की सेवा करने लगे किंतु उन्‍हें ये नहीं पता था कि उस ऋषि की मां एक असुर थी।

इंद्र देव को पता चला कि वे देवताओं की जगह असुरों को हवन सामग्री दिया करते थे। इंद्र देव ने ऋषि का वध कर दिया। इसके बाद इंद्र पर ब्राह्मण की हत्‍या का पाप लग गया। इसके बाद एक साल तक इंद्र देव एक फूल के अंदर छिपकर भगवान विष्‍णु से प्रार्थना करने लगे

प्रसन्‍न होकर भगवान विष्‍णु ने दर्शन दिए और उन्‍हें इस पाप से मुक्‍त होने के लिए एक सलाह दी। इंद्र देव को अपने पास का हिस्‍सा पेड़, पृथ्‍वी, जल और स्‍त्री को देने के लिए कहा लेकिन साथ ही उन्‍हें एक आशीर्वाद देने को भी कहा।

menstrual cycle and hindu religion

वृक्ष को मिला ये श्राप

वृक्षों को श्राप के हिस्‍से के साथ ये वरदान मिला कि वे जब चाहें खुद को वापिस पुर्नजीवित कर सकते हैं।

menstrual cycle and hindu religion

जल को मिला श्राप का चौथा हिस्‍सा

जल को श्राप के हिस्‍से के साथ ये वरदान मिला कि वो दुनिया की अन्‍य चीज़ों को पवित्र कर सकता है। इसीलिए हिंदू धर्म में जल को पवित्र माना जाता है।

menstrual cycle and hindu religion

पृथ्‍वी का श्राप

श्राप के साथ पृथ्‍वी को ये वरदान मिला कि उसमें रोगमुक्‍त करने की शक्‍ति होगी।

menstrual cycle and hindu religion

महिलाओं को श्राप में मिली माहवारी

महिलाओं को इस श्राप में हर महीने माहवारी का दर्द मिला लेकिन इसके साथ ही उन्‍हें वरदान में संतान को जन्‍म देकर पुरुषों से सर्वोपरि बना दिया गया। महिलाओं के मासिक चक्र के बारे में पुराणों में यही कथा प्रचलित है।

    English summary

    The Mythological Reason Behind The Menstrual Cycle

    Let us discuss some age old Hindu myths about menstruation.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more