सुहागरात पर मैंने खोई वर्जिनिटी, फिर भी मुझे लोगों को सफाई देनी पड़ी.....

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

शादी से पहले किसी के भी साथ सेक्‍स नहीं करने का फैसला पूरी तरह मेरा था। मैं एक घरेलू क्रिश्‍चन परिवार से ताल्‍लुक रखती हूं। मैं ऐसी घर पर पली बढ़ी हूं, जहां माता पिता आपको सीमित विकल्‍प ही देते है। पर मेरा यह फैसला किसी के लिए नहीं था, न तो मेरे माता पिता के लिए न ही मेरे भगवान के लिए न ही मेरे होने वाले पति के लिए। ये फैसला मैंने मेरे लिए लिया था।

शादी तक सेक्‍स के लिए इंतजार करना मेरे लिए थोड़ा आसान चॉइस थी। शादी के बाद सिर्फ एक इंसान के साथ ही सेक्‍स करने का आइडिया मुझे बहुत रोमांचित कर देता था। हालांकि अमेरिकन कल्‍चर में ऐसा कोई जरुरी नहीं था।

Happily Married होने के बाद भी मैंने पति से छिपा रखा है एक Dirty Secret..

मेरे टीनएजर से लेकर युवा होने तक मैंने जितने भी लड़को को डेट किया उनके सामने मेरे इस फैसले को बचाना हालांकि थोड़ा मुश्किल था लेकिन मैं अंत तक अपने फैसले पर अडिग रही।

इंटरकोर्स करने से बचती थी

इंटरकोर्स करने से बचती थी

हालांकि दूसरे वर्जिन और मुझ में थोड़ा फर्क था, मैं कभी कभी थोड़ा डगमगाई भी। ऐसा नहीं था कि मैंने खुद को 100% सेक्‍सुअली बैन कर दिया सिर्फ मैं इंटरकोर्स करने से बचती थी। मैंने खुद ने अपने लिए ये नियम बनाएं थे। मैं किसी भी तरह के प्रेशर में नहीं आना चाहती थी, इसलिए शुरु से ही मैंने एक सुरक्षित रास्‍ते में चलना तय किया और मैंने सोच लिया था कि मैं किस के साथ और कब सेक्‍स करुंगी। इसके लिए कोई भी मेरा फैसला नहीं बदल सकता था या मुझे प्रेशर में डाल सकता था।

थोड़ा सा भी नहीं

थोड़ा सा भी नहीं

जब लोगों को मेरे सेक्‍स से दूर रहने के फैसले के बारे में मालूम चला या मुझे उन्‍हें याद दिलाना पड़ जाता था। इन सबकी शुरुआत तब हुई जब मेरे कॉलेज के स्विमिंग टीम के एक सबसे फिट लड़के ने मेरे साथ सोने की इच्‍छा जाहिर की। हम दोनों पार्टी के बाद एक रात साथ रुके अचानक से हमारा शरीर एक दूसरे से टकराया तो उसने मुझसे पूछा कि वो नीचे की तरफ जाना जाता है। तो मैंने उसे मना किया लेकिन उसने फिर पूछा सिर्फ थोड़ा सा वो मुझे उस जगह टच करना चाहता है। मैंने एकदम से मना कर दिया क्‍योंकि मेरे लिए वो "थोड़ा सा " का मतलब था कि मैं अपनी वर्जिनिटी खो दूंगी।

शादी से पहले ही मेरे हसबैंड ने मेरी वर्जिनिटी का कर दिया था सौदा

कंडोम लाना चाहता था वो

कंडोम लाना चाहता था वो

इसके बाद मेरे 20 साल के बाद एक डेट के दौरान एक लड़के ने मेरे कपड़ों के इधर उधर हाथ लगाते हुए मुझसे कहा "क्‍या मुझे कंडोम ले आना चाहिए ?" ये हरकत करते हुए उसने मुझे चौंका दिया इसके कुछ देर बाद मैं पहले उसके बेड से बाहर निकली फिर उसके अपार्टमेंट से। जब मैंने अपनी फ्रैंड्स को ये बात बताई तो उन्‍होंने कहा कि उसकी ये इच्‍छा बहुत ही सामान्‍य थी। मुझे इस बारे में बिल्‍कुल भी विचार नहीं आया कि दो सामान्‍य वयस्‍क लोग अक्‍सर साथ होते है तो सेक्‍स के बारे में सोचा करते हैं।

पवित्र होने का ईगो

पवित्र होने का ईगो

एक दिन में एक ऐसी जगह आकर पहुंची जहां मुझे महसूस हो रहा था कि मुझे वर्जिनिटी के नाम पर अपने ईगो को बाहर निकालकर फेंक देना चाहिए। मुझे मेरे अंदर से भी इस बात को निकालना होगा कि मैंने शादी से पहले अभी तक किसी भी पुरुष के साथ जिस्‍मानी रिश्‍ता नहीं बनाया है तो दूसरी लड़कियों के मुकाबले "पवित्र" और "अच्‍छी" हूं। मुझे लगने लगा कि ऐसा करने से मुझे क्‍या मिल जाएगा क्‍या कोई मुझे इस बहादुरी के लिए सम्‍मानित करेगा? ऐसा बिल्‍कुल नहीं था। ये मेरा फैसला था जिस पर बने रहना या नहीं मेरे हाथ पर था।

जब घिर गई अवसाद से..

जब घिर गई अवसाद से..

कई बार ऐसा होता था कि अकेले रुम में या पार्टी के दौरान ऊपर अकेले बैठकर सोचा करती थी कि क्‍या मैं इस दुनिया में इस समय पर मैं अकेली वर्जिन लड़की हूं। इसके बाद मैं अपने ही फैसले की वजह से अवसाद से घिरने लगी, इस अवसाद से निकलने के लिए मैंने गूगल पर वर्जिन लड़कियों पर लिखे हुए ब्‍लॉग पढ़ने शुरु कर दिया। एक जगह एक महिला ने लिखा था " प्रभु मेरे मरने से पहले मुझे एक बार सेक्‍स करने का मौका दे दो।" उस ब्‍लॉग को पढ़ने के बाद मेरे दिमाग में कई तरह के विचार घूमने लगे। किसी को डेट नहीं करना और रिलेशनशिप में नहीं होने का मतलब ये नहीं कि आप सिंगल है। इसका मतलब आपके अकेलेपन से भी हो सकता है, जिसके बारे में नहीं मालूम कि ये कब खत्‍म होगा।

अचानक से मुझे मिला मोटिवेशन

अचानक से मुझे मिला मोटिवेशन

एक दिन मैं ऐसे ही गूगल कर रही थी तब मुझे तीन बार ऑलोम्पियन लोलो जॉन्‍स का पोस्‍ट पढ़ने को मिला जिसमें लिखा था कि शादी से पहले वर्जिन होने के प्रभाव। उसने एक इंटरव्‍यू में कहा था कि अगर यहां कोई और वर्जिन है तो मुझे उसके बारे में जानना चाहूंगी, क्‍योंकि वर्जिनिटी को मैंटेन रखना दुनिया में सबसे कठोर काम है। शादी से पहले तक वर्जिन रहना मैंने अपने जिंदगी में इससे कठोर चीज नहीं की होगी, ये मेरी ग्रेजुएशन और ऑलोम्पिक की ट्रेनिंग से भी ज्‍यादा कठोर है।

मिली प्रेरणा..

मिली प्रेरणा..

मुझे लोलो की बात दिल में छू गई उसके बाद मैंने उसके इंटरव्‍यू का स्‍क्रीन शॉट लिय और उसे अपने फोन के स्‍क्रीन पर ही वॉलपेपर बना लिया। अब मैं इसे दिन में 20 बार पढ़ने लगी थी। मैंने खुद से कहा कि देखो में मैं भी किसी ऑलोम्पियन से कम नहीं हूं।

खुद को समझाया..

खुद को समझाया..

सेक्‍स नहीं करने के कुछ फायदे भी है अगर आप किसी हॉस्‍पीटल जाओ और डॉक्‍टर आपसे पूछसे क्‍या आपके प्रेगनेंट होने के कोई चांस है तो आप बेझिझक बोल सकती है कि कोई चांस नहीं है। पर रोमांस के बिना भी लाइफ थोड़ी बोरिंग होती है।

जब मैंने शादी की..

जब मैंने शादी की..

अब मैं शादीशुदा हूं और बहुत ही अच्‍छे से अपनी जिंदगी को जी रही हूं। अब भी अपनी सेक्‍स लाइफ को बहुत ही ज्‍यादा एंजॉय कर रही हूं।

मेरी वेडिंग नाइट के अगले दिन मेरी सारी दोस्‍त जानने के लिए उत्‍सुक थी कि मैंने कैसा महसूस किया। सब लोग मेरे एक्‍सपीरियंस सुनने के लिए बैताब थे कि क्‍या मैंने खुद के लिए बनाई चुनौतियों में सफलता पा ली या नहीं।

लोगों ने मेरे फैसले का किया सम्‍मान

लोगों ने मेरे फैसले का किया सम्‍मान

सम्‍भवत: मैं थोड़ा कन्‍फ्यूज्‍ड थी कि मैंने जितने भी लड़को को डेट किया था। लेकिन सभी लड़कों ने मेरे इस फैसले का सम्‍मान किया। एक लड़का जिसे मैंने एक साल से ज्‍यादा डेट किया उसने मुझे क‍भी भी मुझे सेक्‍स करने का दवाब नहीं डाला। अब मैं उसके शादी एक अच्‍छी शादीशुदा लाइफ जी रही हूं लेकिन मुझे इस बात की खुशी रहेगी कि जिन्‍हें भी मैंने डेट किया उनके साथ मैं कभी भी नहीं सोईं।

English summary

I Was A Virgin Until Marriage, And I Constantly Had To Explain Myself

I set my own rules, which was exactly what this was about in the first place.