आजकल शादी क्‍यों एक ट्रैजडी बन के रह जाती है?, जानिए वजह

Subscribe to Boldsky

शादी को लेकर हर किसी के विचार अलग-अलग होते हैं। कोई इसे खूबसूरत अहसास मानता है तो किसी के लिए ये दो परिवारों का खूबसूरत मिलन होता है। वहीं कुछ लोग का सोचना है कि शादी एक-दूसरे को जानने और खुशी से एकसाथ रहने का सबसे खूबसूरत रिश्‍ता है।

लेकिन इसके अलावा कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्‍हें शादी ट्रैजडी से कम नहीं लगती है। ये सब आपके दिमाग में चल रहे विचारों और पर निर्भर करता है। शादी अच्‍छी भी हो सकती है और बुरी भी। ये तो आपकी किस्‍मत पर निर्भर करता है। अगर कोई व्यक्ति निराशावादी है, तो वह वास्तव में शादी के बारे में गलत सोचने लगता है। ऐसे में उन्‍हें शादी ट्रैजडी लगने लगती है। वो शादी करके इस रिश्‍ते से आसानी से बाहर भी निकल सकते हैं।

Why Great Husbands Are Being Abandoned

आज शादी एक बार्टर सिस्‍टम बन चुकी है जिसमें दोनों पार्टनर्स का बराबरी का लेन-देन जरूरी हो गया है। दो लोग शादी करते हैं और फिर अचानक से जिंदगी में आई मुश्किलों से हार मानकर अपने रिश्‍ते को खत्‍म कर देते हैं।

तो चलिए आज इस पोस्‍ट के ज़रिए हम आपसे उन मुश्किलों के बारे में बात करते हैं जिन्‍होंने शादी को एक खूबसूरत ट्रैजडी बना दिया है।

कंपैटिबिलिटी की दिक्‍कत

जब दो लोगों को जिंदगीभर एकसाथ रहना होता है तो उनके बीच कंपैटिबिलिटी होना बहुत जरूरी है। आजकल अधिकतर कपल्‍स वर्किंग होते हैं। ऐसे में शादी उनकी आजादी छीन सकती है। वो शादी के रिश्‍ते में फिट होने की कोशिश करते हैं लेकिन जब इसमें असफल हो जाते हैं तो इससे बाहर निकलने की ठान बैठते हैं। तलाक की दर बढ़ने की ये एक मुख्‍य वजह है।

कई लोग शादी करने की जगह सिंगल और आत्‍मनिर्भर रहना पसंद करते हैं। उन्‍हें लगता है कि शादी करके वो बस अपने पार्टनर को खुश करने में लग जाएंगें और इसस बचने के लिए वो शादी से भागने लगते हैं। खैर, 21वीं सदी की जेनरेशन के पास तो सिंगल रहने का ऑप्‍शन भी है।

आजकल ज्‍यादा कपल्‍स के बीच कंपैटिबिलिटी ना होने की दिक्‍कत है। कई कपल्‍स शादी के बाद नाखुश रहने लगते हैं। शादी के बाद इस रिश्‍ते को निभाने के लिए किए जाने वाले त्‍याग और समर्पण की दर में भी कमी आई है।

अलग सोच

शादी के दर्दभरे रिश्‍ते में तब्‍दील हो जाने की एक वजह ये भी है। दोनों पार्टनर्स की सोच अलग होती है और वो दोनों ही समझौता या सुलह करने को तैयार नहीं होते। पहले लंबी-लंबी बहस होती है और फिर रोज़-रोज़ के झगड़े और छोटी-छोटी बातों पर लड़ना। जब दोनों ही लोग सुलह और एडजस्‍ट करने को तैयार ना हों तो शादी ट्रैजडी बनकर रह जाती है।

बेवफाई

शादी के ट्रैजडी बनने का एक प्रमुख कारण बेवफाई भी है। आजकल एक्‍स्‍ट्रा मैरिटल अफेयर तो आम बात हो गई है। शादी जैसे पवित्र रिश्‍ते में अपने पार्टनर को धोखा देना बिलकुल गलत है। इससे भरोसा, विश्‍वास और शादी की अहमियत, सब कुछ बिखर जाता है। एक पार्टनर की बेवफाई की वजह से शादी में बहुत मुश्किलें आती हैं। जब कोई अपने पार्टनर को बेवफाई करते देखता है या उसे किसी और के साथ सुकुन मिलने लगता है तो उसका दिमाग काम करना बंद कर देता है।

आज शादी के ट्रैजडी बनने का सबसे प्रमुख कारण बेवफाई भी है।

शारीरिक मतभेद

जाहिर सी बात है कि दो अलग-अलग लोगों की यौन इच्‍छाएं भी अलग ही होंगीं। ऐसे में अपनी इच्‍छाओं का पूरा ना होना शादीशुदा जिंदगी में दर्द की एक वजह बन कर रह जाता है। ऐसे में शादी से बाहर निकलने का मन करता है। इस वजह से भी लोग शादी के रिश्‍ते को सात जन्‍म तो छोडिए एक जन्‍म तक भी नहीं निभा पाते हैं।

दर्दनाक जीवन की स्थिति

शादीशुदा जिंदगी में कई बार दर्दभरे पल भी आते हैं और इस परिस्थिति में जीना मुश्किल हो जाता है। जब कपल्‍स इन मुश्किलों को हैंडल नहीं कर पाते हैं तो उनके लिए शादी के रिश्‍ते में बंधे रहना नामुमकिन हो जाता है।

इन वजहों के कारण आज शादी एक खूबसूरत ट्रैजडी बनकर रह गई है।

क्‍या हम शादी को ट्रैजडी की बजाय खूबसूरत नहीं बना सकते हैं ?

अपने पार्टनर पर भरोसा करना और अपनी शादी को बेहतर बनाने की कोशिश करना शादी के रिश्‍ते में नए रंग भर सकती है।

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो इसे अपने दोस्‍तों के साथ शेयर जरूर करें।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    Read more about: love marriage शादी कपल
    English summary

    Marriage Nowadays Is The Most Beautiful Tragedy

    He would feel marriage is a tragedy. Even an optimistic person can think this way. He would probably get into a marriage and walk out of it. No one knows.
    Story first published: Monday, July 16, 2018, 10:30 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more