किडनी की पथरी के इलाज के लिए ऐसे इस्तेमाल करें नींबू का रस

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

किडनी की पथरी एक गंभीर समस्या है। कभी-कभी नमक, मिनरल्स और अन्य पदार्थ किडनी में जमा हो जाते हैं, जिसे किडनी की पथरी कहते हैं। किडनी की पथरी में कैल्शियम ऑक्सलेट या कैल्शियम फॉस्फेट है।

कुछ मामलों में किडनी की पथरी अपने आप निकल जाती हैं जबकि कुछ मामलों में दवा की आवश्यकता होती है।

पथरी के छोटे छोटे टुकड़े तो मूत्रमार्ग से निकल जाते हैं लेकिन जो बड़ी टुकड़े नहीं निकल पाते, उनकी वजह से दर्द होता है।

इस दर्द से राहत पाने के लिए आप कुछ प्राकृतिक उपचार अपना सकते हैं। ऐसा ही एक उपचार है, लेमन यानी नींबू का रस।

नींबू विटामिन सी, थायामिन, रिबोफ़्लिविन, पैंटोथेनीक एसिड, आयरन और मैग्नीशियम का एक अद्भुत संयोजन है। इसके अलावा इसमें फाइबर, विटामिन बी 6, कैल्शियम, पोटेशियम और तांबा, साथ ही फोलेट और पोटेशियम होते हैं। टेंजी का स्वाद इसमें मौजूद एसिटिक एसिड से आता है।

नींबू के रस में काफी उच्च मात्रा में सिट्रिक एसिड होता है जिसके प्रभाव से किडनी में मौजूद कैल्शियम और ऑक्ज़ालेट की पथरी घुल जाती है।

1) नींबू का रस

1) नींबू का रस

नींबू के रस में मौजूद साइट्रिक एसिड मूत्र की अम्लता को बढ़ाकर गुर्दे की पथरी के गठन को रोकने में मदद करता है। पोटेशियम साइट्रेट, गुर्दा की पथरी के उपचार के लिए सबसे उपयुक्त साइट्रिक एसिड का एक रूप है।

2 से 4 औंस नींबू का रस गुर्दा के स्वास्थ्य के लिए दैनिक आवश्यकता को पूरा करने के लिए पर्याप्त साइट्रिक एसिड प्रदान करता है। रस सीधे या गर्म पानी और शहद के साथ या नींबू पानी के रूप में लिया जा सकता है।

2) सेब के सिरका के साथ नींबू का रस

2) सेब के सिरका के साथ नींबू का रस

सेब का सिरका एसिटिक एसिड में समृद्ध है और इसलिए इसे किडनी की पथरी के उपचार के लिए नींबू के रस के साथ जोड़ा जा सकता है।

एक गिलास पानी के में आधा नींबू का रस, एक बड़ा चम्मच सेब का सिरका मिलाएं। इसे 2-3 घंटों के अंतराल में लिया जा सकता है। इससे गुर्दे की पथरी से संबंधित दर्द और लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है।

3) गेहूं के घास और तुलसी के साथ नींबू का रस

3) गेहूं के घास और तुलसी के साथ नींबू का रस

नींबू के रस की तरह तुलसी के पत्तों के रस में भी एसिटिक एसिड होता है। इसके अतिरिक्त, यह रक्त में यूरिक एसिड स्तर को कम करता है जिससे पथरी के गठन का खतरा कम हो जाता है। गेहूं का घास एक प्राकृतिक मूत्रवर्धक एजेंट है जो मूत्र प्रवाह बढ़ाता है, इसलिए पथरी को हटाने की संभावना तेजी से बढ़ जाती है।

एक गिलास गेहूं के रस में नींबू का रस और तुलसी के रस मिक्स करके दिन में दो बार पिएं।

4) जैतून के तेल के साथ नींबू का रस

4) जैतून के तेल के साथ नींबू का रस

जैतून का तेल गुर्दे की पथरी के दर्दनाक को कम करता है और उसकी निकासी को आसान बनाने के लिए ट्यूबों की भीतरी दीवार पर एक कोटिंग बनाता है।

¼ कप नींबू का रस और जैतून का तेल को अच्छी तरह मिक्स कर लें। इस मिश्रण को पानी के साथ पिएं। इस तकनीक को 3 दिनों तक या पथरी नहीं निकलने तक दोहराया जा सकता है।

Bad habits that damage your kidney | ये आदतें कर देंगी किडनी फेल, बचें | Boldsky
English summary

Ways To Use Lemon Juice To Treat Kidney Stones

There are a few natural remedies for kidney stones. Know how you can use lemon juice to treat kidney stones.
Please Wait while comments are loading...