महिलाएं ही नहीं पुरुष भी हो सकते है थाइराइड का शिकार

Subscribe to Boldsky

भारत में हर तीसरा शख्स थायराइड से पीड़ित है। वजन में बढोत्तरी और हार्मोंस अनबैलेंस की वजह से लोग थायराइड की समस्‍या से ग्रसित हो जाते है।  हालिया शोध के अनुसार देश में 40 प्रतिशत से अधिक लोग थायराइड से की समस्‍या से गुजर रहे हैं। लेकिन जब कभी थायराइड की बात होती है तब कई लोग ऐसा सोचते हैं की ये समस्या सिर्फ महिलाओं को होती है लेकिन ऐसा नहीं है बल्कि पुरुष भी इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं। हालांकि आकंड़ों के अनुसार पुरुषों में महिलाओं की तुलना में थायराइड होने की सम्भावना 8 गुना कम होती हैं फिर भी मध्यम उम्र वर्ग के पुरुषों इस बीमारी के चपेट में जल्‍दी आ जाते है।

हाल के कुछ सालों से हाइपोथायराइडिज्म यानी थाइराइड से पीड़ित पुरुषों की संख्या बढ़ी है। इससे पीड़ित मरीजों का वजन अचानक से बढ़ने लगता है और वे थकान और डिप्रेशन के शिकार रहते हैं।

Things You Should Know about Thyroid Disease in Men

इसके अलावा मांसपेशियों में कमजोरी, इरेक्टाइल डिसफंक्शन और सेक्स की इच्छा में कमी होना जैसे लक्षण भी होते है, आइए जानते है इससे जुड़े कुछ महत्‍वपूर्ण तथ्‍य।


थकान और सुस्‍ती

दिन भर थकान और सुस्ती महसूस करना थायरॉइड का प्रमुख लक्षण है। वैसे तो ये लक्षण कई स्थितियों में देखा जाता है, लेकिन पुरुषों में थायरॉइड का यह भी एक लक्षण हो सकता है।

दिल का धीरे धड़कना

अचानक ह्रदय और नाड़ी की गति धीमी होना पुरुषों में थायरॉइड का संकेत है।


पसीना आना

शरीर में मेटाबॉलिज्‍म बहुत अधिक बढ़ जाने से पुरुषों को या तो बहुत अधिक पसीना आता है या फिर बहुत कम पसीना आता है। कई बार पसीने के साथ साथ बहुत बैचेनी भी होती है।


ऊर्जा स्तर में बदलाव

हाइपरथायरॉइड में मेटाबॉलिज्म की क्रिया तेजी से होती है, जिसकी वजह से किसी भी व्यक्ति को सोने में तकलीफ, सांस लेने में परेशानी, बेचैनी जैसी समस्या होने लगती है। इससे ग्रस्त रोगी दिन भर के कामों के लिए शरीर की जरूरी ऊर्जा जुटाने में भी असमर्थ हो जाता है, जिसकी वजह से दिन भर थकान और कमजोरी की समस्या होने लगती है। 

आइए जानते है किन कारणों से पुरुषों में भी थायराइड की समस्‍या हो सकती है।

आनुवांशिक हो सकती है

पुरुषों में भी यह समस्या आनुवांशिक हो सकती है। इसलिए अगर आपके परिवार में पहले से ही कोई थायराइड से पीड़ित है तो आपके इससे पीड़ित होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। अगर आपको थायराइड से जुड़ा कोई भी लक्षण दिखे तो आप बिना देरी किए डॉक्‍टर से मिले और थाइराइड से जुड़ा टेस्‍ट करवाएं।

अनियमित जीवनशैली की वजह से

अनियमित जीवनशैली की वजह से आप किसी भी उम्र में इस बीमारी के शिकार हो सकते हैं। इसलिए यह ज़रूरी है की आप हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं और थायराइड ग्लैंड के कार्यप्रणाली के बारे में पूरी जानकारी रखें। अधिक स्ट्रेस के कारण भी एड्रेनल ग्लैंड ठीक से काम नहीं कर पाता है जिससे स्ट्रेस बढ़ाने वाला हार्मोन कॉर्टिसोल का उत्पादन बढ़ जाता है। इसका सीधा प्रभाव आपके थायराइड ग्लैंड पर पड़ता है।

एक्‍सरसाइज करें

थायराइड ग्रंथि शरीर के मेटाबोलिक फंक्शन को भी नियंत्रित करती है जिस वजह से शरीर में थायराइड हार्मोन का बैलेंस बना रहता है। इसलिए थायराइड ग्लैंड को अगर स्वस्थ रखना चाहते हैं तो रोजाना एक्सरसाइज करना शुरू करें साथ ही डायट में अधिक से अधिक हेल्दी चीजों को शामिल करें।

आयोडीन को डाइट में शामिल करें

इन सबके अलावा डायट में आयोडीन की मात्रा का विशेष ध्यान रखें क्योंकि इसका थायराइड हार्मोन के बनने में महत्वपूर्ण रोल होता है। इसलिए यह जान लें की चाहे महिला हो या पुरुष थायरायड को सुचारू रूप से काम करने के लिए आयोडीन बहुत ज़रूरी है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Things You Should Know about Thyroid Disease in Men

    With thyroid issues (and autoimmunity as a whole) being less common in men, it is often overlooked by doctors. In fact, most men aren’t ever given a thyroid test or panel unless they specifically request the testing.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more