For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

कम नींद भी बन सकती है आपके पिता बनने की राह में अड़चन, रिसर्च में हुआ खुलासा

|

अगर आप पिता बनने की चाह रखते है तो आपको समय पर सोने की आदत डाल लेनी चाह‍िए। ऐसा हम नहीं बल्कि एक नई स्‍टडी का कहना है कि कम नींद लेने वाले पुरुषों की प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती है। अगर भरपूर नींद नहीं ली गई तो पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या को नुकसान पहुंच सकता है। शोधकर्ताओं ने बताया कि कम सोने वाले पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट आ सकता है। उनकी प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती है। इस शोध के लिए शोधकर्ताओं ने लोगों के सोने के पैटर्न और शुक्राणुओं का विश्लेषण किया। इस रिसर्च के तहत 34 से 36 साल के आसपास 104 पुरुषों को शामिल किया गया था।

New Study Says Men Who Don’t Get Enough Sleep Have Less Healthy Sperm

Most Read : साइंस ने भी माना लड़कियों से ज्‍यादा लड़कों को गॉसिप‍िंग करने में आता है मजा

इस शोध में बताया गया कि जो लोग रात के साढ़े दस बजे तक सो जाते हैं उनके शुक्राणुओं की संख्या उन लोगों की तुलना में ज्यादा रहती है जो कि रात साढ़े ग्यारह बजे सोते हैं। जो लोग छह घंटे से कम नींद लेते हैं उनके शुक्राणुओं की संख्या को नुकसान पहुंचता है। भरपूर नींद लेने से मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है। अगर आप भरपूर नींद नहीं लेते हैं तो मेटाबॉलिज्म को नुकसान पहुंचता है और शुक्राणुओं की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि कम सोने से प्रजनन क्षमता ही प्रभावित नहीं होती बल्कि अवसाद भी होता है। इस रिसर्च के मुताबिक हर चार में एक व्‍यक्ति लेटनाइट नेटफिलक्‍स देखने का आदी है जिसके चलते लोगों की सेक्‍सलाइफ को बर्बाद कर रही है। इसल‍िए बच्‍चें की चाह रखने वाले पुरुषों को रात में 10 से 11 बजे के बीच सो जाना चाह‍िए।

Most Read : स्टडी: ज्यादा सोने वाली महिलाएं देर तक बना पाती है शारीरिक संबंध

इसल‍िए अगर आप पिता बनने की कोशिश कर रहे है तो लेटनाइट जगने की आदत छोड़ समय पर बेडरुम की लाइट और इलेक्‍ट्रॉन‍िक डिवाइस को बंद कर दें और अपने पार्टनर के साथ अच्‍छा समय बिताएं।

English summary

New Study Says Men Who Don’t Get Enough Sleep Have Less Healthy spermatic fluid

If you’re looking to have a baby, you might want to hit the hay a little earlier than usual, according to new research.
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more