For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

घी, मक्‍खन, या तेल: जानें क्‍या है खाना पकाने के ल‍िए ज्‍यादा पौष्टिक विकल्‍प

|

मक्खन, घी और तेल, तीनों के अपने-अपने हेल्‍थ बेनिफिट्स हैं और ये भारतीय रसोई का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। घी का उपयोग पारंपरिक रूप से रोटी या पराठा पकाने और चिकना करने के लिए किया जाता रहा है, मक्खन का इस्‍तेमाल भी बहुत सारे व्‍यंजनों में स्‍वादिष्‍ट बनाने में क‍िया जाता है। बाजार में उपलब्ध विभिन्न प्रकार के तेल जैसे रिफाइनरी, सरसो और ऑल‍िव ऑयल का इस्‍तेमाल अधिकांश लोग कई व्यंजनों को तैयार करने के लिए करते हैं।

अब सवाल यह उठता है कि आपके लिए खाना पकाने के ल‍िए कौन सा ऑप्‍शन हेल्दी है? खैर, इन तीनों के ही अलग-अलग‍ विशेषता है और इन्हें विशेष तरीके से इस्तेमाल किया जाना चाहिए। आइए जानते है क‍ि रसोई में कैसे उपयोग किया जाना चाहिए।

मक्‍खन

मक्‍खन

मक्खन में दूध प्रोटीन और मक्खन वसा के रूप में सैचुरेटेड फैट होता है। ये फैट तेलों में पॉली-अनसैचुरेटेड फैट की तुलना में हार्ट के ल‍िए हेल्‍दी होते हैं। जबकि मक्खन में 20% पानी होता है जो खाना पकाने के दौरान वाष्पित हो जाता है, तेल शुद्ध वसा होता है जो आपके द्वारा पकाई जा रही सब्जियों की तरह अवशोषित हो जाता है। आप 8 से 9 दिन तक मलाई को इक्‍ट्ठा कर‍के घर पर ही मक्खन बना सकते हैं। इसके ल‍िए आपको बस मलाई को आधा कप पानी और आधा कप दूध के साथ उच्च तापमान पर तब तक गर्म करना है जब तक कि मक्खन ठोस अलग न हो जाए। इसके बाद ठोस को तरल पदार्थ से अलग करें, इसे ठंडा होने दें और अब आपके पास अपना घर का बना मक्खन है।

घी

घी

घी तब बनता है जब मक्खन को हाई टेम्‍परेचर पर उबाला जाता है और दूध के अवशेष हटा दिए जाते हैं, इस प्रकार, इसके साथ बहुत सारी वसा को हटा दिया जाता है। मक्खन एक तरफ वसा का भंडार है, जबकि घी में वसा की मात्रा अपेक्षाकृत कम होती है। ऊर्जा और स्वस्थ वसा से युक्त, घी का सेवन कम मात्रा में रोटी पर लगाकर खाने में क‍िया जाता है। घी में मौजूद ब्यूटिरिक एसिड आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

तेल

तेल

आमतौर पर तेल पॉली-सैचुरेटेड फैट से भरे होते हैं जो शरीर में सूजन पैदा कर सकते हैं। इसल‍िए मानव शरीर के लिए कम मात्रा में तेल का खाने का सुझाव दिया जाता है। आप जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं, जो तेल का एक स्वस्थ रूप है, क्योंकि इसमें अनसैचुरेटेड फैट होता है। आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि आप उच्च तापमान पर खाना पकाने के लिए घी और मक्खन का उपयोग कर सकते हैं लेकिन जैतून का तेल नहीं, क्योंकि यह उच्च तापमान में ऑक्सीकृत हो जाता है। गहरे तले हुए भोजन को पकाने के लिए रिफाइंड तेल का उपयोग किया जा सकता है, लेकिन हमेशा कम मात्रा में।

ध्‍यान रखें

ध्‍यान रखें

स्वस्थ शरीर के लिए मक्खन, घी और तेल के लिए 2:2:1 का अनुपात आदर्श है। अगर आप रोजाना दो चम्मच मक्खन और घी का सेवन कर रहे हैं तो एक चम्मच तेल का सेवन करने से कोई नुकसान नहीं होगा।

English summary

Ghee vs butter vs oil: Find out which one is healthier in hindi

Butter, ghee and oil, all three have their own health benefits. Let’s look at Ghee vs butter vs oil benefits and which one is healthier in hindi. Read on.