For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

बार‍िश में बेवजह की एंटीबायोटिक्‍स लेने से बचें, वरना हो सकते हैं ये Side Effects

|

मानसून अपने साथ बहुत सारे बार‍िश की फुहारों के साथ संक्रमण भी लेकर आता है। इस मौसम में बुखार, जुकाम और खांसी होना बहुत ही सामान्‍य सी बात है। हम में से कई लोग है जो थोड़े से बीमार होने पर डॉक्‍टर के पास जाने की जेहमत भी नहीं उठाते हैं और खुद ही डॉक्‍टर बन जाते हैं। यानी कि अकसर लोग बिना डॉक्टर की सलाह के ही ऐंटिबायॉटिक्स ले लेते हैं। अगर आप भी बीमार पड़ने पर बिना डॉक्टर से पूछे ऐंटिबायॉटिक्स दवाइयां खाते हैं तो सावधान हो जाइए। आपको इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। आइए जानते है कि इस सीजन अपने मन से डॉक्‍टर बनने का क्‍या परिणाम हो सकता है।

The Danger of Antibiotic Overuse in monsoon

क्‍यों खतरनाक होती है एंटीबायोटिक दवाइयां

बेवजह एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल आपको अन्य बीमारियों के प्रति असुरक्षित बना सकता है क्योंकि इससे कई अच्छे बैक्टीरिया मर जाते हैं। ज्यादा इस्तेमाल से शरीर में एंटीबायोटिक के लिए प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ जाती है। ऐसे में हो सकता है कि जरूरत पड़ने पर शरीर को इसका फायदा न पहुंचे। बेवजह एंटीबॉयोटिक्स खाने से बेहतर होगा कि आप बारिश के मौसम में होने वाली बीमारियों के प्रति जागरूक रहें और उनसे बचने की कोशिश करें।

एंटीबायोटिक दवाइयां, वायरस संक्रमण को रोकने और इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली दवाइयां हैं। एंटीबायोटिक प्रतिरोध तब होता है, जब इन दवाइयों के उपयोग के जवाब में बैक्टीरिया अपना स्वरूप बदल लेता है।

इन बातों का रखें ध्‍यान

बरसात के मौसम में हैजा, मलेर‍िया, पीलिया और फूड पॉइजनिंग जैसी समस्याएं बढ़ जाती हैं। इनसे बचाव करने के ल‍िए कुछ बातों का ध्‍यान रखें।

- पीने के लिए साफ पानी का ही इस्तेमाल करें, जहां तक हो सकें गर्म पानी ही पीएं।

- पहनने के कपड़ों को धूप में सुखाएं।

- तेल लगाकर नहाएं।

- बाहर खाने से बचें।

- खाने से पहले और बाद में हाथ अच्छे से धो लें।

- खांसी या छींक आने पर अपना मुंह जरूर ढकें।

- ध्यान रहे कि आपके कपड़े अच्छे से सूखे हों।

- प्रतिदिन हरड़ के चूर्ण के साथ सेंधा नमक का सेवन करना चाहिए.

English summary

The Danger of Antibiotic Overuse in monsoon

Antibiotics are one of the great advances in medicine. But overprescribing them has led to resistant bacteria.
Story first published: Wednesday, July 24, 2019, 17:11 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more