मेनोपॉज में बढ़ जाता है इस बीमारी का ख़तरा

By Rupa Singh
Subscribe to Boldsky

रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) ऐसी स्थिति होती है जिसका सामना हर एक महिला को करना पड़ता है। यह सिर्फ शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से भी स्त्री को प्रभावित करती है इसलिए इससे जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी आपके पास होनी चाहिए।

menopause-symptoms-changes

मासिक धर्म पूरी तरह से समाप्त होने के बाद की स्थिति को मेनोपॉज कहते हैं। यह 45 से 55 वर्ष की उम्र में होता है। शोधकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि की है कि महिलाओं में मेनोपॉज के बाद ह्रदय से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। वैसे तो हार्मोनल बदलाव के कारण कई तरह से सेहत पर असर पड़ता है, जैसे जल्दी थकना, चिचिड़ापन, सिर दर्द, बेचैनी, वजन का बढ़ना आदि। हालांकि डॉक्टरों का यह मानना है कि हर महिला के अलग अलग लक्षण होते हैं जैसे कुछ को सीने में दर्द और तेज़ धड़कन जैसी परेशानी का सामना करना पड़ता है। अगर ऐसे लक्षण दिखें तो फ़ौरन अपने डॉक्टर से सलाह लें।

वहीं दूसरी ओर अगर हम मेनोपॉज के बाद आपकी सेक्सुअल लाइफ की बात करें तो कई लोगों का ऐसा मानना है कि मासिक धर्म खत्म होने के बाद सेक्स करने की इच्छा भी समाप्त हो जाती है और सेक्स करना भी नहीं चाहिए। लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं होता अगर आपके मेनोपॉज की शुरुआत हो चुकी है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपकी सेक्सुअल लाइफ खत्म हो गई।

आइए जानते हैं मेनोपॉज के बाद किन बातों को लेकर महिलाओं को सावधान रहना चाहिए और साथ ही उनकी सेक्सुअल लाइफ से भी जुड़ी कुछ ख़ास बातें।

1. हार्मोनल बदलाव के कारण ऐसी अवस्था में महिलाएं जल्दी थक जाती हैं या फिर अकारण ही थकान महसूस करती हैं। यदि आप अपनी जीवनशैली में थोड़ा परिवर्तन लाएंगी तो इस परेशानी से छुटकारा पाया जा सकता है। सबसे पहले आपको अपने खाने पीने का ख़ास ध्यान रखना होगा जैसे फलों का सेवन अधिक मात्रा में करें, साथ ही हरी सब्ज़ियों का सेवन भी आपके लिए फायदेमंद रहेगा। तली भुनी और मसालेदार चीज़ों से परहेज़ करें क्योंकि आपको कब्ज़ और पेट दर्द की शिकायत हो सकती है।

2. नियमित व्यायाम करें और अपने वजन को बढ़ने न दें।

3. धूम्रपान और शराब से बचें।

4. सुबह की सैर भी आपके लिये काफी फायदेमंद रहेगी इससे आप तरोताज़ा महसूस करेंगी।

5. शुगर, ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने न दें।

6. पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं।

7. अच्छी नींद लें इससे आपका तनाव कम होगा।

8. मेनोपॉज में अक्सर महिलाओं की हड्डियाँ कमज़ोर हो जाती है और जोड़ों में में दर्द की शिकायत रहती है। इसलिए अपने भोजन में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम लें।

मासिक धर्म बंद होने के बाद औरतें गर्भवती नहीं हो सकती हैं पर सेक्स का आनंद वह अब भी उठा सकती है। कई महिलाओं में मेनोपॉज के बाद सेक्स को लेकर रूचि कम हो जाती है। वहीं कुछ महिलाएं इसे अपने सेक्सुअल लाइफ का अंत नहीं मानती। हालांकि मेनोपॉज के बाद सेक्स करने की इच्छा कम हो जाती है लेकिन आपको अपने शरीर के बारे में अच्छा सोचना चाहिए इससे सेक्स को लेकर आपकी इच्छा में भी सुधार आएगा।

इस स्थिति में मूड स्विंग्स बहुत होते हैं। थकान और चिड़चिड़ापन भी सेक्स में रूचि कम होने का कारण होते है। इसके अलाव योनि में रूखापन और शारीरक संबंध बनाते वक़्त दर्द की समस्या भी एक वजह है।

आइए जानते हैं मेनोपॉज के बाद कैसे बनाएं अपने सेक्स जीवन को बेहतर।

1. कुछ महिलाएं हिचकिचाहट में मेनोपॉज के बाद अपने सेक्स की इच्छा को दबा देती है। ऐसा करने से बचें और खुलकर अपने जीवनसाथी से इस विषय में बात करें।

2. मेनोपॉज के बाद भी सेक्स के कई फायदे होते जैसे आपकी मांसपेशियों में मज़बूती आती है और तनाव भी कम होता है। इसके अलावा इस स्थिति में योनि में रक्त प्रवाह कम हो जाता है लेकिन अगर आप शारीरिक संबंध बनाते हैं तो योनि में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है और आपकी योनि स्वस्थ रहती है।

3. अपने डॉक्टर से सलाह लेकर भी आप अपनी इस समस्या का समाधान कर सकती हैं। डॉक्टर द्वारा दी गयी दवाइयों से आप अपने सेक्स जीवन में सुधार ला सकती हैं।

4. अगर आप किसी तरह के तनाव से ग्रस्त हैं तो सबसे पहले उसका इलाज करें। यदि आपका मूड अच्छा और खुशहाल रहेगा तो आपकी यौन इच्छा में भी सुधार आएगा।

5. यदि आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा तो आपका सेक्स जीवन भी अच्छा रहेगा। ऐसे में आपको अपने स्वास्थ्य का खास ध्यान रखना चाहिए।

English summary

मेनोपॉज में बढ़ जाता है इस बीमारी का ख़तरा | मेनोपॉज में बढ़ जाता है इस बीमारी का ख़तरा

Once the ovaries run out of eggs, the woman's body becomes infertile and she hits menopause. There are certain facts about vaginal changes and menopause that a woman needs to know. This article explains about few of the facts.
Story first published: Wednesday, April 18, 2018, 12:20 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more