For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

स्‍तनों की माल‍िश करने से टलता है कैंसर का खतरा! जानें माल‍िश करने का सही तरीका

|

शरीर की मालिश और बालों की मालिश तो आप करती है। लेक‍िन महिलाओं को स्‍तन मालिश की तरफ भी ध्‍यान देना चाह‍िए।
स्तन मालिश सेहत के ल‍िए काफी फायदेमंद होता है। आपने कभी सोचा है कि स्तन मालिश के क्या लाभ हैं या आप जानना चाहते हैं कि अपने स्तनों की मालिश कैसे करें, तो पढ़ें। हमने ब्रेस्ट मसाज के फायदों के साथ-साथ ब्रेस्ट सेल्फ मसाज के तरीकों के बारे में भी बताया है।

 स्तन कैंसर का पता लगाने में करती है मदद

स्तन कैंसर का पता लगाने में करती है मदद

स्तन मालिश से स्तन कैंसर का पता लगाने में मदद मिल सकती है, संभवतः आत्म-परीक्षा के रूप में। अमेरिकन कॉलेज ऑफ ओब्स्टेट्रिशियन एंड गायनेकोलॉजिस्ट्स की रिपोर्ट है कि 50 से कम उम्र की महिलाओं में स्तन कैंसर के 71% मामले स्तन स्व-परीक्षा के दौरान पाए जाते हैं। कैंसर स्तन में एक सख्त गांठ या गाढ़ा ऊतक जैसा महसूस हो सकता है, और यह स्तन का आकार या आकार बदल सकता है।

स्तन कैंसर के शुरुआती निदान से बेहतर परिणाम मिल सकते हैं - यह कैंसर के दूर तक फैलने से पहले उपचार के अधिक अवसर प्रदान करता है। जब स्तन कैंसर स्थानीयकृत होता है, तो अधिकांश लोगों के पास प्रारंभिक निदान के बाद कम से कम 5 साल तक जीवित रहने का 99% विश्वसनीय स्रोत होता है।

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि स्तन गांठ स्तन कैंसर होने की संभावना नहीं है। ज्यादातर मामलों में, इन गांठों का कारण अपेक्षाकृत सौम्य होता है, जैसे कि पुटी या संक्रमण।

स्तनों की माल‍िश करने से तनाव होता है दूर

स्तनों की माल‍िश करने से तनाव होता है दूर

स्‍तनों की माल‍िश से लव हार्मोन ऑक्सीटोसिन का स्राव होता है। इससे तनाव और डिप्रेशन की समस्या दूर होती है। आपका मूड सही होता है। खुशी का अहसास होता है। जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि ब्रेस्ट मसाज करने से ऑक्सीटोसिन, प्रोलैक्टिन और एस्ट्रोजेन का निर्माण अधिक होता है और ये तीनों हार्मोन एंटी-एजिंग प्रॉपर्टीज से भरपूर होते हैं। इससे आप लंबी उम्र तक जवां और आकर्षक नजर आ सकती हैं।

स्तनपान को बनाएं आसान

स्तनपान को बनाएं आसान

स्तन की मालिश स्तन के भीतर दूध बनने पर होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकती है। उदाहरण के लिए, 2015 के एक अध्ययन में पाया गया कि स्‍तनों की मालि‍श से स्‍तनों में दर्द कम होता है। इसके अलावा, स्तन मालिश दूध नलिकाओं में रुकावट को रोकने में मदद कर सकती है और अन्यथा दूध के प्रवाह में सुधार कर सकती है।

सुडौल रहते है स्‍तन

सुडौल रहते है स्‍तन

बढ़ती उम्र या स्‍तनपान के कारण ब्रेस्ट ढीले पड़ गए हैं, तो आप मसाज करना शुरू कर दें। पहले से ही स्तनों की मालिश करेंगी तो स्तन लटकेंगे नहीं। इससे ब्रेस्ट के टिशूज स्वस्थ रहते हैं। स्तन सुडौल और सख्‍त रहते हैं।

स्तनों की माल‍िश करने से तनाव होता है दूर

स्तनों की माल‍िश करने से तनाव होता है दूर

स्‍तनों की माल‍िश से लव हार्मोन ऑक्सीटोसिन का स्राव होता है। इससे तनाव और डिप्रेशन की समस्या दूर होती है। आपका मूड सही होता है। खुशी का अहसास होता है। जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि ब्रेस्ट मसाज करने से ऑक्सीटोसिन, प्रोलैक्टिन और एस्ट्रोजेन का निर्माण अधिक होता है और ये तीनों हार्मोन एंटी-एजिंग प्रॉपर्टीज से भरपूर होते हैं। इससे आप लंबी उम्र तक जवां और आकर्षक नजर आ सकती हैं।

स्‍तन माल‍िश करने का सही तरीका

स्‍तन माल‍िश करने का सही तरीका

स्‍तनों की माल‍िश के ल‍िए सबसे पहले अपनी दोनों हथेलियों को एकसाथ मिलाकर रगड़ें। हथेलियों पर कोई तेल या ब्रेस्‍ट मसाज क्रीम ले लें। अब हथेलियों को ब्रेस्ट पर रखें और मसाज करें। इसे आप सर्कुलर मोशन में करें। हल्के हाथों से ही मसाज करें। अधिक दबाव बनाने से बचें। अपवार्ड और डाउनवॉर्ड डायरेक्शन में इसे 20 से 30 बार करें।

English summary

Health Benefits of Breast Massage And How Do You Do It in Hindi

Breast massage therapy can ease the breasts' sensitivity and provide better blood circulation to the breast.