इस दरगाह में हिंदू रखते हैं रोजा, तो वहीं मुसलमान है शुद्ध शाकाहारी, पढ़िए....

By: Salman Khan
Subscribe to Boldsky

इसमें कोई दो राय नहीं है कि भारत एकता का प्रतीक एक ऐसा देश है, जहां हर धर्म के लोग एक साथ रहते है। आए दिन इस देश में ऐसी घटनाएं होती रहती है जो हमें गर्वानवित करती है। आज हम आपको एक ऐसी सच्ची कहानी बताएंगे जो भारत के इतिहास में एक ऐसी एकता का प्रतीक है, जिसको जानने के बाद आपका दिल खुशी से चहक उठेगा। आज हम एक ऐसी दरगाह के बारे में बताने जा रहे जहां मुस्लिमों को शाकाहार होने का पाठ पढ़ाया जाता है तो वहीं हिंदू रमजान में तीस दिन के रोजे रखते है। चौकिए मत आगे पढ़िए....

The dargah of the Khwaja Sheikh Sayeed Chishti Sabari of Agra

शेख सैयद फतिहुद्दीन बलखि अलमारुफ ताराशाह चिश्ती साबरी की दरगाह

रमजान के महीने में मुसलमान तीस दिन के रोजे रखते है, और जैसा कि सब जानते है कि मुसलमानों का मुख्य भोजन मांसाहार होता है, पर आगरा की ख्वाजा शेख सैयद फतिहुद्दीन बलखि अलमारुफ ताराशाह चिश्ती साबरी (दरगाह मरकज साबरी) की मजार इससे बिल्कुल अलग है। यहां इबादत करने वाले मुस्लिमों को शुद्ध शाकाहारी होने का पाठ पढ़ाया जाता है तो वहीं हिंदू, मुसलमानों से ज्यादा इबादत करते है और रोजे रखते हैं।

The dargah of the Khwaja Sheikh Sayeed Chishti Sabari of Agra

हिंदू बनाते है शाकाहारी अफ्तार

रमजान के मौके पर तीसो दिन यहां पर मुस्लिमों से ज्यादा हिंदुओ की संख्या दिखाई पड़ती है। अफ्तार(रोजा खोलने का खाना) से लेकर रोज का खाना तक हिंदुओ के द्वारा ही बनाया जाता है। आपको बता दे कि अफ्तार भी पूरी तरह से शुद्ध शाकाहारी ही बनाया जाता है। अगर आपको मोहब्बत की ये चौकााने वाली मिसाल देखनी है तो एक बार आगरा के ख्वाजा शेख सैयद फतिहुद्दीन बलखि अलमारुफ ताराशाह चिश्ती साबरी की मजार जरूर जाएं।

The dargah of the Khwaja Sheikh Sayeed Chishti Sabari of Agra

यहां ज्‍यादातर हिंदू रखते हैं रोजा और पढ़ते है नमाज

दरगाह पर आने वाले बहुत से हिंदू रोजा रखते हैं और नमाज भी पढ़ते हैं। हालांकि, सभी नमाज नहीं पढ़ पाते हैं, लेकिन बहुत से ऐसे हिंदू है जो यहां पर रोजे के साथ नमाज भी अदा करते है। मान्यता है कि बाबा को मांसाहार से सख्त नफरत थी और मुस्लिमों से ज्यादा उनके हिंदू अनुयाई थे यही कारण है कि ये प्रथा आज भी चली आ रही है।

The dargah of the Khwaja Sheikh Sayeed Chishti Sabari of Agra
English summary

there is dargah where Hindu have Roja, while Muslims are pure vegetarians

Many Hindus who come to the dargah keep roja and pray namaz too.
Please Wait while comments are loading...