दो ट्रांसजेंडर की अनोखी प्रेम कहानी, जल्‍द बंधेगा शादी के बंधन में

Posted By:
Subscribe to Boldsky

हमनें कई तरह की प्रेम कहानियां सुनी होगी जो हमारे आस पास घूमती रहती है, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी प्रेम कहानी सुनाने जा रहे हैं, जो आपने पहले कभी भी नहीं सुनी होगी।

ये कहानी है आरव अपुकुट्टन और सुकन्या कृष्ण की है, जिन्हें दुनिया की सबसे अजीब जगह प्रेम हुआ-अस्पताल में और अजीब हालातों में जहां ये दोनों कपल लिंग परिवर्तन करने आया था। जी हां आज हम आपको केरला के ट्रांसजेंडर कपल की लवस्‍टोरी के बारे में बता रहे हैं जो बहुत जल्‍दी शादी कें बंधन में बंधने जा रहा है। आइए जानते है इनके इस सुनहरे सफर के बारे में-

अस्‍पताल में हुआ प्‍यार

अस्‍पताल में हुआ प्‍यार

तीन साल पहले, 46 साल के आरव को 22 साल की सुकन्या से मुंबई के एक अस्पताल में प्रेम हो गया। कमाल की बात ये है कि दोनों ही वहां सेक्स बदलवाने की सर्जरी के लिए पहुंचे हुए थे। जहां आरव, फीमेल से मेल बने थे ,वहीं सुकन्‍या पुरुष से महिला बनी थी।

ऐसे प्रेम चढ़ा परवान

ऐसे प्रेम चढ़ा परवान

अपने लिंग परिवर्तन के इलाज के लिए जब सुकन्या केरल से थोड़ी दूर स्थित एक अस्पताल में अपने डॉक्टर से मिलने पहुंचीं तब आरव भी उसी अस्पताल में अपने दोस्त की मदद के लिए आया हुआ था।

आरव को सुकन्या पहली नज़र में भा गई थी. वो उन्हें सिर्फ देखते रह गए. जब सुकन्या अपनी मां से फ़ोन पर मलयालम में बात कर रही थीं तब आरव को समझ आया कि सुकन्या भी केरल से हैं और उन्होंने सुकन्या से बातचीत शुरू कर दी।

चंद घंटों की बातचीत में आरव और सुकन्या को पता चला कि वो दोनों ट्रांसजेंडर हैं और उनकी तकलीफ़ें एक समान हैं, अंत में दोनों ने एक दूसरे के फ़ोन नंबर लिए और उनके फ़ोन पर बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ. फ़ोन पर बातचीत का सिलसिला बढ़ा और दोनों की दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई।

चंदू से बनी सुकन्‍या

चंदू से बनी सुकन्‍या

त्रिवेंद्रम की रहने वाले सुकन्या कृष्णन(22) का जन्म एक पुरुष के रूप में हुआ। परिजनों ने उन्हें चंदू नाम दिया। उम्र बढ़ने के साथ सुकन्या को पता चला कि उनके अंदर महिलाओं जैसी भावनाएं हैं। उम्र बढ़ने के साथ-साथ उन्होंने महिलाओं की तरह कपड़े पहनना और उनकी तरह व्यवहार शुरू कर दिया था।

कुछ लोग उन्हें ट्रांसजेंडर कह ताने भी देते थे। लोगों के अपमान की परवाह किए बिना सुकन्या ने हार नहीं मानी और एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनी। फिलहाल वे बेंगलुरु की एक बड़ी आईटी कंपनी में काम कर रही हैं।

 बिंदू से आरव बनने का सफर

बिंदू से आरव बनने का सफर

केरल के रहने वाले आरव अप्पुकुट्टन(46) का जन्म एक लड़की के रूप में हुआ था। उनके पेरेंट्स ने उन्हें 'बिंदु' नाम दिया।

पेशे से टूर मैनेजर आरव के माता-पिता का बचपन में ही देहांत हो गया था। इसके बाद वे नौकरी और पढ़ाई के सिलसिले में देश और विदेश के कई शहरों में रहे। उम्र बीतने के साथ आरव को पता चला कि उनका शरीर एक महिला का हो लेकिन उनकी भावनाएं एक लड़के की हैं।

युवा होने पर उनकी दाढ़ी-मूंछ आने लगी, जिसके बाद उन्होंने पूरी तरह से एक लड़के की लाइफ जीने का फैसला किया। आरव ने अपने बाल लड़कों की तरह किए और उनकी तरह ही कपड़े पहनना शुरू कर दिया। नौकरी के सिलसिले में दुबई गए आरव को सेक्स चेंज ऑपरेशन की जानकारी मिली।

दोनों मंदिर में करने वाले हैं शादी

दोनों मंदिर में करने वाले हैं शादी

दोनों ने कुछ समय पहले मुंबई के एक हॉस्पिटल में अपने सेक्स चेंज का ऑपरेशन करवाया है। इस ऑपरेशन के बाद आरव पूरी तरह से लड़का और सुकन्या लड़की बन गई है।

इसके बावजूद दोनों बच्चा पैदा करने में सक्षम नहीं हैं। इसलिए दोनों ने शादी के बाद बच्चा गोद लेने का मन बनाया है। दोनों सितंबर महीने में एक मंदिर में पूरे हिन्दू रीतिरिवाजों के साथ शादी करने जा रहे हैं। दोनों की फैमिली उनके इस निर्णय से बेहद खुश हैं।

English summary

First Transgender Couple All Set to Marry!

The two met by chance at a hospital, and will now start a new journey once they get married next month.
Please Wait while comments are loading...