क्‍यूं, बीवी के प्रेगनेंट होते ही मर्द बाहर चलाने लगते हैं चक्‍कर

By: Pooja Joshi
Subscribe to Boldsky

कुछ हसबैंड अपनी प्रेगनेंट वाइफ को क्यूं धोखा देते है? इस लेख में हम आपको वो आपको संभावित कारण बताने जा रहे है जिसके कारण ऐसी स्थिति होती है और साथ ही उन तरीकों के बारे में बताने जा रहे है जिससे ऐसे हालातों से बचा जा सकता है और प्रेगनेंसी के दौरान आपका रिश्ता समृद्ध रहे।

कुछ चुनौतियों जिनका एक आदमी अपनी वाइफ के प्रेगनेंसी पीरियड में सामना करता है उनमें दूरी, सेक्स के प्रति व्यवहार में बदलाव, बच्चे की सुरक्षा को लेकर चिंता, पत्नी की सुरक्षा और जिंदगी में आने वाले बदलावों को लेकर बैचेनी जैसे मसलें शामिल होते है। वे जिंदगी में जो बदलाव आ रहे है उससे भी व्याकुल हो जाते है।

ये एक सामान्य अवधारणा है कि पुरूष अपनी प्रेगनेंट महिलाओं को इसलिए चीट करते है क्यूंकि प्रेगनेंट बॉडी उसकी सेक्सुअल इच्छाएं पूरी नहीं कर पाती। लेकिन तथ्य ये है और लेडिज के लिए ये गुड न्यूज भी है कि अधिकांश पुरूष अपनी वाइफ में सेक्सुअल अपीलिंग तब अधिक पाते है जब वो प्रेगनेंट होती है।

तो आदमी अपनी प्रेगनेंट वाइफ को धोखा क्यूं देते है ? ये केवल व्यक्ति पर निर्भर करता है। प्रमुख बात ये है कि, ज्यादातर आदमी जो अपनी प्रेगनेंट वाइफ को धोखा देते है वे चाहे उनकी वाइफ प्रेगनेंट हो या नहीं, धोखा देंगे ही। उनकी वाइफ की प्रेगनेंसी उन्हें एक झूठा कारण देती है और उन्हें लापरवाह बनाती है। और जब वे पकड़े जाते है कि तो ये उनके लिए एक अच्छा बहाना होता है।

लेकिन लेडीज ऐसी स्थिति में सकारात्मक रहें! ऐसी स्थिति ना बनें ऐसे प्रयास करें। तो आइए उन कुछ तरीकों पर गौर करते है जिनसे आप अपनी प्रेगनेंसी के दौरान अपने जीवनसाथी के साथ अपने रिश्ते को सम्‍भाल सकें।

पुरूष क्या महसूस करते है

सेक्स से इंकार

सेक्स से इंकार

कुछ पुरूष अत्यधिक सेक्सुअल प्रवृति के होते है ऐसे में अगर उनकी वाइफ हाई-रिस्क प्रेगनेंसी से सफर करती है या उसे सेक्स से दूर रहने की हिदायत दी जाती है या उसका मूड स्विंग रहता है और उसमें सेक्स करने की चाहत नहीं होती, तो ये वो कारण हो सकता है जब पति अपनी सेक्सुअल इच्छाएं पूरी करने के लिए अन्य रास्ते तलाशता है।

बच्चा एक जिम्‍मेदारी है

बच्चा एक जिम्‍मेदारी है

एक आदमी ये बात जाहिर नहीं करता लेकिन भावनात्मक अंतरंगता कुछ ऐसी चीज है जिसे वे अपनी जिंदगी में चाहते है। अगर आदमी आने वाले बच्चे को परिवार में अपनी स्थिति, उसकी जरूरतों और तारतम्य के लिए खतरे के रूप में देखता है, तो वह अपने रास्ते से भटक सकता है। एक मामले में पति बच्चे को प्रमुखता नहीं देना चाहते थे लेकिन उनकी पत्नी ने दिया और उसने इसे भावनात्मक बंधन और जीवन के लिए खतरे के रूप में देखा। जो कि धोखा देने का कारण बना।

जब महिलाएं हाई-रिस्क प्रेगनेंसी से और ऐसी स्थिति से गुजरती है जिस पर उसका नियंत्रण नहीं होता तो ऐसे में अन्य कारक भी है जो ये सुनिश्चित करने के लिए ध्यान में रखे जा सकते है कि रिश्ता स्थिर स्थिति में रहे।

शारीरिक छवि को लेकर चिंता ना करें

शारीरिक छवि को लेकर चिंता ना करें

समय-समय पर ये बात सर्वे में सामने आती है कि महिलाएं सेक्स से इसलिए दूर रहती है क्यूंकि उनके मन में ये धारणा रहती है कि शारीरिक बनावट में बदलाव आने के कारण वे अवांछनीय है यानि उनके पति अब उनसे इतना प्यार नहीं करते। लेकिन ये जरूरी नहीं कि ये बात सच हो। कई पुरूष अपनी प्रेंगनेट वाइफ को चाहते है और बच्चे को भी उतना ही चाहते है, दरअसल ये एक साझा लक्ष्य है, प्रेगनेंसी का पीरियड आदमी के देखभाल करने वाले व्यक्तित्व को सामने लाता है और ये एक-दूसरे की अधिक सार-संभाल करने के प्रति अवेयर करता है। सेक्स सिर्फ शारीरिक रूप से जुड़ने तक सीमित नहीं है। इसलिए महिलाओं को अपनी शारीरिक छवि की चिंता को किनारे कर प्रवाह के साथ आगे बढ़ते रहना होगा।

सुरक्षित सेक्स पॉजिशन के बारे में डॉक्टर से पूछने में संकोच ना करें

सुरक्षित सेक्स पॉजिशन के बारे में डॉक्टर से पूछने में संकोच ना करें

प्रेंगनेंसी के साथ बहुत सारे मिथ जुड़े है। गाइनोलॉजिस्ट से बात करके आप सुरक्षित सेक्स पॉजिशन के बारे में जान सकते है या इस बारे में ऑनलाइन देखें या दोस्तों से पूछे जो इस स्थिति से गुजर चुके है।

ये सुनिश्चित करें कि आप दोनों बच्चा चाहते है

ये सुनिश्चित करें कि आप दोनों बच्चा चाहते है

अगर पति बच्चा नहीं चाहता जितना पत्नी चाहती है, तो ये झगड़े का कारण हो सकता है और जब पुरूष की भावना को तवज्जो नहीं दी जाती तो संभवतः इसके परिणामस्वरूप पुरूष में उपेक्षित भावना घर कर लेती है। बल्कि, अगर वो इस बारे में खुलकर बात ना करें, लेकिन उनके कामों में ये प्रतिबिंबित होगा और इस कारण वो घर से बाहर ना सिर्फ किसी इमोशनल सहारे को ढूंढेगा बल्कि वो अपने लिए सेक्सुअल पार्टनर भी तलाशेगा।

प्रेगनेंट होने से पहले झगड़े सुलझालें

प्रेगनेंट होने से पहले झगड़े सुलझालें

जो कपल्स अपनी मैरिड लाइफ में कई प्रकार के मसलों का सामना करते है उनके लिए आपने संभवतः बड़े लोगों से ये निरर्थक सलाह सुनी होगी कि जब बच्चा हो जाएगा तो सब सही हो जाएगा। लेकिन ऐसी स्थिति में हालात सुधरते नहीं बल्कि रिश्ता और बिगड़ जाता है क्यूंकि प्रेगनेंसी और मातृत्व अपने साथ कई सारी परेशानियां और मसलें लाती है जैसे, बैचेनी, अनिद्रा, थकावट, सेक्सुअल जरूरतों में कमी, ब्रेस्टफीडिंग, प्रेगनेंसी के बाद होने वाला डिप्रेशन और सच्चाई ये है कि झगड़े कभी नहीं सुलझते।

भेद खोलने वाले संकेत

भेद खोलने वाले संकेत

पत्नी प्रेगनेंट हो या नहीं, चीटिंग करने वाले व्यक्ति के संकेत समान होते है। अपने पति के कपड़़ों से आने वाली सुगंध, देर तक बाहर रहना या लंबी दूरी की यात्राएं करना, फोन में मैसेज या तस्वीरें ढूंढकर, लेट नाइट कॉल्स और अचानक रोमांटिक होने की उनकी प्रवृति से महिलाएं अपने पति के बारे में पता कर लेती है।

रोमेंस में शेडयूल

रोमेंस में शेडयूल

ये समय वीकली डेट नाइट के लिए अच्छा है जब बच्चा होने वाला होता है तो आप अपनी जिंदगी में रोमेंस बनाए रखने के लिए कुछ स्मार्ट चीजें निरंतर कर सकते है। शुरूआती महीनों में, आप घर भी अच्छा समय बिता सकते है।

स्वाभाविक रहें

स्वाभाविक रहें

कई बार, बिना किसी कारण के, अपने साथी को गले लगाकर या उस प्रकार के कॉम्प्लीमेंट देकर जिससे वो शर्म से लाल हो जाए, इस रिश्ते में जोश और प्यार को बनाए रखता है।

बच्चे के आने की खुशी का आनंद उठाए

बच्चे के आने की खुशी का आनंद उठाए

जब आप डिनर करने या फिल्म देखने के लिए जाए तो बेबी स्टोर पर जाकर अपने आने वाले बच्चे के लिए खरीददारी करें, या फिर अल्ट्रासाउंड कराने के बाद अपने फेवरेट रेस्टारेंट में लंच करें।

उससे चेटिंग करे

उससे चेटिंग करे

प्रेगनेंसी के दौरान अपने रिश्ते और रोमेंस को सबसे महत्वपूर्ण मानें। उसे दिन में 20 बार सिर्फ घर से जुड़े काम और बच्चे से जुड़ी बातें याद दिलाने के लिए ही मैसेज ना करें, बल्कि कई बार उसे सिर्फ ये बताने के लिए मैसेज करें कि आप उससे कितना प्यार करते है और उसे देखने के लिए पूरा दिन इंतजार करना मुश्किल है।

बातचीतः

बातचीतः

कम्यूनिकेशन हर रिश्ते की कुंजी है, लेकिन ये प्रेगनेंसी के दौरान कपल्स के लिए खासकर आवश्यक है। प्रेगनेंसी के दौरान आने वाले बदलावों के बारे में खुलकर बात करें। बल्कि बच्चा हो जाने के बाद भी बातचीत का क्रम ना तोड़ें। जब बच्चा रो रहा हो तो तभी एक-दूजे की बात को सुनना खासकर चुनौतीपूर्ण लेकिन महत्वपूर्ण है।

बेबीमून पर जाए

बेबीमून पर जाए

बच्चे के जन्म से पहले किसी रोमांटिक ट्रिप की योजना बनाए। लेकिन अपने डॉक्टर से आवश्यक सलाह अवश्य लेवें। इस बात का ध्यान रखें कि आप जहां भी जाए वहां आरामदायक और बेहतरीन सुविधाएं प्राप्त करें। ताकि किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो।

English summary

Why husbands cheats on his PREGNANT wife

Why do some husbands cheat on their pregnant wives? We look at possible reasons as to why this happens and ways you can prevent it, and nurture your relationship during pregnancy.
Please Wait while comments are loading...