For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

चल रहा है अधिकमास, श्रीकृष्ण की कृपा पाने के लिए राशिनुसार कर सकते हैं मंत्र का जाप

|

हर तीन साल में एक बार अधिकमास आता है जो चंद्र वर्ष और सूर्य वर्ष में अंतर से बनता है। साल 2020 में 160 साल बाद ऐसा संयोग बना है कि अधिकमास अश्विन मास में आया है। अधिकमास के दौरान किसी भी तरह के मांगलिक कार्य को करने की मनाही होती है।

इस महीने में धर्म कर्म, दान दक्षिणा करने का बहुत महत्व बताया गया है। अधिकमास को पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। अधिकमास में भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करने के साथ भगवान श्रीकृष्ण की आराधना करने का भी विधान है। इनकी कृपा से जीवन में सकारात्मकता का वास होता है। आज इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि अधिकमास के समय में आप अपनी राशिनुसार कौन से कृष्ण मंत्र का जाप कर सकते हैं।

मेष राशि:

मेष राशि:

ॐ माधवाय नम:

वृषभ राशि:

वृषभ राशि:

ॐ राधाप्रियाय नम:

मिथुन राशि:

मिथुन राशि:

ॐ भक्त-वत्सलाय नम:

कर्क राशि:

कर्क राशि:

ॐ कृष्णाय नम:

सिंह राशि:

सिंह राशि:

ॐ दामोदराय नम:

कन्या राशि:

कन्या राशि:

ॐ देवकीसुताय नम:

तुला राशि:

तुला राशि:

ॐ दुख हरताय नम:

वृश्चिक राशि:

वृश्चिक राशि:

ॐ भक्त-प्रियाय नम:

धनु राशि:

धनु राशि:

ॐ वासुसुताय नम:

मकर राशि:

मकर राशि:

ॐ यदुनन्दनाय नम:

कुंभ राशि:

कुंभ राशि:

ॐ गोविन्दाय नम:

मीन राशि:

मीन राशि:

ॐ भक्त दुख हरताय नम:

English summary

Adhik Maas 2020: Powerful Krishna Mantra Based on Your Zodiac Signs

Adhik Maas: Powerful Krishna Mantra Based on Your Zodiac Signs