मॉनसून के मौसम में इन परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये प्राकृतिक नुस्‍खे

By: Parul Rohatgi
Subscribe to Boldsky

मॉनसून के महीने में बालों और त्‍वचा संबंधित परेशानियां काफी बढ़ जाती हैं। इस मौसम में एक नहीं बल्कि कई सारी समस्‍याएं एकसाथ उभरकर सामने आ सकती हैं। मौसम में बदलाव के कारण त्‍वचा संबंधी परेशानियां होना सामान्‍य बात है एवं बारिश के पानी के संपर्क में आने पर भी त्‍वचा पर असर पड़ता है।

मॉनसून में अगर आप बारिश में बाहर नहीं भी निकलते हैं तो बा‍रिश की ऊमस के कारण भी आपको त्‍वचा और बालों से संबंधित परेशानी हो सकती है।

Common Beauty Problems During Monsoon
Hair Care in Monsoon | Home Remedies | बारिश में ऐसे रखें बालों का ख्याल | BoldSky
इसलिए बारिश के मौसम का भरपूर मज़ा उठाने के लिए और सौंदर्य से संबंधित समस्‍याओं से दूर रहना चाहते हैं तो घर पर ही इन घरेलू नुस्‍खों की मदद ले सकते हैं।

जब भी आपको मॉनसून के मौसम में इनमें से कोई त्‍वचा या बालों से जुड़ी कोई परेशानी दिखे तो उसका ईलाज घेरलू नुस्‍खों से ही करें। ये प्राकृतिक उपाय आपकी समस्‍या को घातक होने से रोकते हैं और उसमें राहत भी पहुंचाते हैं।

बेजान बालों की समस्‍या

बेजान बालों की समस्‍या

मॉनसून के मौसम में बारिश में भीगने से बालों की चमक खोने लगती है। बालों में नमी की कमी भी होने लगती है और इस वजह से आपके बाल स्‍वस्‍थ नहीं दिखते हैं।

उपाय : अपने बालों को पूरी तरह से सुखाने के लिए ड्रायर का इस्‍तेमाल करें। इसके बाद ड्राई शैंपू का प्रयोग बालों की जड़ों तक करें। सिर पर ड्राई शैंपू से मसाज करें। इसके बाद आपको तुरंत असर दिखाई देगा। गीले बालों पर ड्राई शैंपू का इस्‍तेमाल ना करें।

स्किन रैश और एलर्जी

स्किन रैश और एलर्जी

मॉनसून के मौसम में सबसे आम समस्‍या है रैश और एलर्जी की जोकि शरीर के किसी भी हिस्‍से पर हो सकती है। ये समस्‍या घर से बाहर ना निकलने पर भी हो सकती है। इसकी वजह से त्‍वचा में सूजन, लालपन या खुजली होने लगती है।

उपाय : अगर आपको मॉनसून के मौसम में स्किन रैश या एलर्जी हो गई है तो आपको उस पर सबसे पहले बर्फ लगानी चाहिए। तौलिए में लपेटकर भी आप प्रभावित हिस्‍से पर आईसिंग कर सकते हैं। राहन पाने के लिए ताज़ा एलोवेरा जैल का इस्‍तेमाल करें।

हाइपरहिड्रोसिस

हाइपरहिड्रोसिस

इसमें शरीर पर अत्‍यधिक पसीना आने लगता है। अंडरआर्म्‍स, हथेली, गर्दन, पैरों में बहुत पसीना आने लगता है। शरीर पर अत्‍यधिक पसीना आने के कारण त्‍वचा संबंधित परेशानियां होने लगती हैं।

उपाय : इस समस्‍या से निजात दिलाने के लिए कई सारे घरेलू नुस्‍खे उपलब्‍ध हैं। आलू को काटकर उसे प्रभावित हिस्‍से पर रगड़ें। चायपत्ती का प्रयोग करने से भी शरीर पर पसीना आने लगता है।

नेल इंफेक्‍शन

नेल इंफेक्‍शन

मॉनसून के दौरान नाखूनों का रंग उड़ना, सूखापन होने जैसी समस्‍याएं सामने आ सकती हैं। किसी भी नुस्‍खे का प्रयोग करने से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आपको किस चीज़ या वजह से नेल इंफेक्‍शन हुआ है।

उपाय : नीबू के रस में नाखूनों को डुबोकर रखें। इससे उनका रंग फिर से लौट आएगा। आप चाहें तो 15 मिनट के लिए ठंडे पानी में भी नाखूनों को डाल सकती हैं। रोज़ाना ये उपाय करने से आपके नाखून साफ और स्‍वस्‍थ दिखेंगें।

एथलीट फुट

एथलीट फुट

मॉनसून के दौरान गीले जूते पहनने से पैरों में इंफेक्‍शन हो सकता है। ऐसा टिनीया नामक बैक्‍टीरिया फैलने की वजह से होता है। इससे पैरों में ऐंठन, संवेदनशीलता और नाखूनों के रंग उड़ने जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं।

उपाय : एथलीट फुट के लिए कॉर्न स्‍टार्च भी एक उपाय है। पैरों के पूरी तरह से सूखने के बाद ही इसका प्रयोग करें।

पस बॉयल्‍स

पस बॉयल्‍स

आमतौर पर ये समस्‍या मॉनसून के अलावा पूरे साल ही रहती है। मॉनसून के दौरान स्किन पर पस या मवाद वाले दाने निकलने लगते हैं। ये काफी तकलीफदेह होते हैं। ये त्‍वचा पर मुहांसे का दाग भी छोड़ जाते हैं।

उपाय : दिन में 3-5 बार पस बॉयल पर गर्म पानी से सिकाई करें। इससे ये दाना फूट जाता है और उसके अंदर का द्रव्‍य बाहर निकल आता है। अब इस हिस्‍से को टी ट्री ऑयल से साफ करें।

English summary

Common Beauty Problems During Monsoon With Their Home Remedies

These home remedies will provide a preliminary relief and not let the problem become worse.
Story first published: Tuesday, August 8, 2017, 11:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...