अखरोट खाने से हो सकता है कैंसर का ख़तरा कम, आंत के स्वास्थ्य में सुधार

By Lekhaka
Subscribe to Boldsky

शोधकर्ताओं का कहना है कि हर दिन आधा कप अखरोट खाने से आपकी पाचन क्रिया सही हो सकती है क्यूंकि इससे आपके आंत में प्रोबायोटिक बैक्टीरिया की बढ़ोत्तरी होगी जिससे दिल और दिमाग की बीमारियाँ दूर हो सकती हैं और साथ ही साथ कैंसर का रिस्क भी नहीं रहता।

जानवर पर हुए शोध से पता चलता है कि अखरोट युक्त खाना खाने से आंत में माइक्रोब में बढ़ोत्तरी होती है जिससे लाभप्रद बैक्टीरिया जैसे कि लेक्टोबेसिलस, रोसबुरिया और रुमिनोकोकासाए में भी बढ़ोत्तरी होती ह

अखरोट प्रोबायोटिक का काम करता है जिससे उन बैक्टीरिया में बढ़ोत्तरी होती है जो आपके पाचन क्रिया को सही रखता है।

Eating Walnuts May Boost Gut Health, Cut Cancer Risk

"आपके आंत का स्वास्थ्य आपके पूरे शरीर के स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। हमारे अध्ययन के अनुसार अखरोट आंत में बदलाव लाता है, जिससे यह जाना जा सकता है कि अखरोट खाने से दिल और दिमाग भी स्वस्थ रहते हैं,"अमेरिका के लुसिआना स्टेट यूनिवर्सिटी की एसोसिएट प्रोफेसर लौरी ब्येर्ली का कहना है।

अखरोट खाने से दिल के दौरे नहीं पड़ते हैं और कैंसर का रिस्क भी कम रह्रता है, ब्येर्ली ने यह भी कहा।

Knee pain cure with Walnut | Arthritis Home Remedy | अखरोट से करें घुटने का दर्द छूमंतर | Boldsky
अखरोट के बायोएक्टिव कॉम्पोनेन्ट की मदद से ही यह स्वास्थ्य के लिए इतना लाभदायक सिद्ध होता है, इसकी जानकारी शोधकर्ताओं ने नयूट्रीशनल बायोकेमिस्ट्री की पत्रिका में आये पेपर में दी।

"ज्यादा बैक्टीरिया की भिन्नता को अच्छे स्वास्थ्य के परिणाम से जोड़ा जा सकता है, जबकि कम भिन्नता होने से ओबेसिटी और इन्फ्लामेट्री बोवेल डिजीज होने की संभावना होती है," ब्येर्ली का कहना था।

अखरोट एक प्रकार की सुपाड़ी होती है जिसमें अल्फा-लिनोलेनिक एसिड, ओमेगा 3 फैटी एसिड और प्रोटीन और फाइबर भी होता है।

शोध के लिए, चूहों को खाने के लिए ग्राउंड वालनट दिया गया जो मनुष्यों के एक दिन के आधा कप के बराबर था, या दस दिन तक बिना अखरोट के खाने पर रखा गया।

    English summary

    अखरोट खाने से हो सकता है कैंसर का ख़तरा कम, आंत के स्वास्थ्य में सुधार | Eating Walnuts May Boost Gut Health, Cut Cancer Risk

    Consuming half a cup of walnut per day may help protect the digestive system by increasing the amount of probiotic bacteria in the gut and ward off risks of heart and brain disease as well as cancer, researchers say.
    Story first published: Thursday, August 3, 2017, 9:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more