लो बीपी से पीड़ित लोग नवरात्रों में बिना किसी परेशानी के ऐसे रखें उपवास

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

उपवास नवरात्रि उत्सव का एक अनिवार्य हिस्सा है। उपवास के पीछे आध्यात्मिक और वैज्ञानिक कारण दोनों हैं। ऐसा कहा जाता है कि उपवास करने से आपको मां दुर्ग का आशीर्वाद मिलता है।

वैज्ञानिक रूप से, उपवास शरीर को डिटॉक्सीफाई करने की प्रक्रिया है। उपवास पाचन तंत्र को विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है।

लो ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए 13 खाद्य पदार्थ

यह चयापचय दर को बढ़ाने में भी मदद करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। उपवास कुछ समय के लिए पाचन तंत्र पर भार कम कर देता है।

Navratri Vrath: If You Have Low BP Then This Is A Must Have

उपवास का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप आत्म-नियंत्रण करना सीख जाते हैं। नवरात्रि उपवास के दौरान कुछ नियमों का पालन किया जाना चाहिए। इस दौरान केवल कुछ चीजों का ही सेवन किये जाने के नियम हैं।

फल, दूध उत्पाद, चीनी, इमली, चाय, कॉफी और सूखे फल जैसे चीजों की खाने की अनुमति है। नमक, प्याज, लहसुन, सभी मसूर और फलियां, गैर-शाकाहारी भोजन और शराब चीजों की अनुमति नहीं है।

रोज सुबह पियें काला नमक वाला पानी, होंगे ये 13 फायदे

इसके अलावा चावल, आटा, सूजी और बेसन जैसे अनाज की भी अनुमति नहीं है। इसके बजाय कुट्टू के आटे से बनाई गई चीजों का उपभोग कर सकते हैं।

sabudana

नवरात्रि उपवाह और लो ब्लड प्रेशर

नवरात्रि के दौरान उपवास अनिवार्य नहीं है, लेकिन बहुत से लोग धार्मिक कारणों के कारण इसे चुन सकते हैं। यह आमतौर पर स्वास्थ्य संबंधी किसी भी जटिलता से नहीं जुड़ा है, लेकिन कम रक्तचाप से पीड़ित लोगों को कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए।

जाहिर है उपवास के दौरान नमक लेने से दूर रहते हैं, इससे उनका बीपी कम हो सकता है। हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं, जिनके जरिए आप बीपी कम हुए उपवास का पालन कर सकते हैं।

lacksalt

काला नमक

नवरात्रि उपवास उपवास को संयम बरतने और स्वस्थ भोजन को बढ़ावा देने के द्वारा भगवान के करीब पहुंचने के तरीके के रूप में देखा जाता है। इसलिए, संसाधित भोजन का उपयोग प्रतिबंधित है, जो कि अप्रसारित और प्राकृतिक भोजन के उपयोग को महत्व देते हैं।

काला नमक नियमित नमक की तुलना में अप्रसारित और तुलनात्मक रूप से स्वस्थ है। इसमें कई औषधीय गुण हैं और मानव शरीर के लिए अच्छा है। यही कारण है कि नवरात्रि के दौरान इसे खाया जाता है।

हाइपरटेंशन गंभीर स्वास्थ्य जटिलताओं के कारण हो सकता है। इससे आपके हृदय और मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा सकता है। कम रक्तचाप का इलाज करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने आहार में नमक का सेवन बढ़ाएं।

डॉक्टर आमतौर पर कम रक्तचाप वाले रोगियों के लिए उपवास सलाह नहीं देते हैं, लेकिन यदि आप उपवास करना चाहते हैं, तो पूरे दिन एक छोटे अंतराल में कुछ न कुछ खाते रहें। काले नमक से आपको बीपी स्तर सामान्य रखने में मदद मिलती है।

जब आपका ब्लड प्रेशर कम हो जाता है, तो आपका मस्तिष्क न्यूरोट्रांसमीटर नामक रसायनों का उत्पादन करता है। इससे आपके दिल खतरा हो सकता है और आपकी रक्त वाहिकाओं को ब्लॉक कर सकता है। इससे हृदय में कम रक्त की आपूर्ति हो सकती है और दिल का दौरा पड़ सकता है।

Navratri 2017: व्रत के दौरान ऐसे रखें सेहत का ख्याल |Health Care During Navratri Fast |BoldSky

काले नमक के स्वास्थ्य लाभ

  • यह कब्ज का इलाज करने के लिए जाना जाता है
  • यह वजन घटाने में मदद करता है
  • यह श्वसन विकारों का इलाज करने में मदद करता है।
  • यह डायबिटीज को नियंत्रित करता है और लोगों को अवसाद से दूर रखता है।
English summary

Navratri Vrath: If You Have Low BP Then This Is A Must Have

If you have low blood pressure and observing fast during navratri then consuming black salt helps.
Story first published: Tuesday, September 26, 2017, 12:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...