For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

वेटलॉस के साथ मूड फ्रेश करती है ये हैदराबादी चाय, जानें इसे बनाने का खास तरीका

|

अरबी लोगों के बीच फेमस मीठी-खट्टी और थोड़ी तीखी सुलेमानी चाय टेस्‍टी होने के साथ ही हेल्‍दी भी है। ये आपको हर घूंट के साथ तरोताजा कर देता है। माना जाता है कि इसकी उत्पत्ति अरब दुनिया में हुई थी, सुलेमानी चाय भारत के मालाबार क्षेत्र और हैदराबाद के कुलीन शहर की पाक परंपरा का मुख्‍य हिस्सा है।

अपने मनमोहक मीठे-खट्टे स्वाद और पाचक गुणों के कारण, भारी बिरयानी या शादी दावतों में इस चाय का आनंद लिया जाता है। ये चाय नींबू के खट्टेपन और मसालों के तीखेपन को संतुलित करती है, जो एक फ्रेश और सूदिंग काढ़ा के तरह भी काम करता है, जो भारी भोजन को पचाने को काम करता है।

सुलेमानी चाय के क्या फायदे हैं?

सुलेमानी चाय के क्या फायदे हैं?

सुलेमानी चाय, अपने मध्यम कैफीन के स्तर और खट्टे नोटों के साथ, कई स्वास्थ्य लाभों के लिए जाने जाते हैं। मजबूत और मसालेदार काढ़ा आपको एक ही समय में स्वास्थ्य और चटपटे आनंद की गर्माहट ला सकता है। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, यह पाचन में मदद करता है और इसलिए भारी भोजन के बाद इसका सेवन किया जाता है। यह आपके हृदय स्वास्थ्य को नियंत्रण में रखते हुए कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। इसमें एंटी-एजिंग गुण होते हैं, रक्त प्रवाह में सुधार होता है, थक्कों को रोकता है और ऊर्जा को बढ़ावा देता है।

सुलेमानी चाय बनाने के लिए इन चीज़ों की ज़रूरत पड़ेगी -

सुलेमानी चाय बनाने के लिए इन चीज़ों की ज़रूरत पड़ेगी -

एक गिलास पानी

चम्मचभऱ शहद (Honey)

आधी चम्मच चाय पत्ती

2-3 लौंग और हरी इलायची (Green Cardamom)

एक टुकड़ा दालचीनी (Cinnamon Stick)

आधा नींबू का रस (Lemon Juice)

5-6 पुदीने के पत्ते (Mint Leaves)

सुलेमानी चाय कैसे बनाएं?

सुलेमानी चाय कैसे बनाएं?

सुलेमानी चाय का नुस्‍खा बहुत आसान है, इसे बनाना तो बहुत ही आसान है। यहां बता रहे हैं क‍ि क‍िस तरह सुलेमानी चाय बनाएं-

एक चायदानी में 1 चम्मच पत्तियों को स्कूप करें।

एक चायदानी में 1 चम्मच पत्तियों को स्कूप करें।

पत्तियों के ऊपर 100°C पर ताजा उबला हुआ 200ml पानी डालें।

जब पानी में एक उबाल आए तो इसमें दालचीनी और लौंग को कूटकर डाल दें।

फिर इसमें पुदीने के पत्ते और इलायची भी डालें और सारी चीज़ों को अच्छी तरह पकने दें।

जब पानी उबलकर आधा हो जाए तो इसमें चाय पत्ती डाल दें और तुरंत गैस बंद कर दे। पानी को ढंक दें और 5 मिनट के लिए यूं ही छोड़ दें।

फिर, इस चाय को छान और स्वादानुसार शहद और आधा नींबू निचोड़कर उसका रस इसमें मिलाएं।

अब चाय को गर्मागर्म पीएं।

सुलेमानी क्या है?

अरबी में, सुलेमान नाम का अनुवाद 'शांति का आदमी' है। ऐसा कहा जाता है कि पैगंबर मोहम्मद अक्सर खजूर और काली मिर्च से बने घव नामक पेय का सेवन करते थे। पेय जल्द ही अरबों के बीच लोकप्रिय हो गया, जिन्होंने तब अपने स्वाद के अनुरूप प्राचीन नुस्खा को बदल दिया। पेय को अरब व्यापारियों द्वारा भारत के मालाबार तट पर लाया गया था। जैसे-जैसे विभिन्न संस्कृतियों का मेल होता गया, स्थानीय मसालों को जोड़कर और चीनी के साथ खजूर को बदलकर नुस्खा को और संशोधित किया गया। बाद में इस मिश्रण में चाय मिला दी गई और इसे सुलेमानी कहा जाने लगा।

काली चाय आपके शरीर के लिए क्या करती है?

जब आपकी सेहत की बात आती है तो ब्लैक टी कई फायदों का खजाना लेकर आती है। एक कप ब्लैक टी आपको उत्साहित कर सकती है और एक अच्छे दिन के लिए आपके सिस्टम को सुधार सकती है। काली चाय हृदय स्वास्थ्य के लिए वरदान है - यह रक्तचाप को कम करती है, रक्त शर्करा के स्तर को कम करती है और स्ट्रोक के जोखिम को कम करती है। यह समय से पहले बूढ़ा होने के लक्षणों को भी कम करता है। ब्लैक टी बैग्स को अपनी आंखों के नीचे रखने से पफनेस और डार्क सर्कल्स को कम करने में मदद मिलती है। बालों के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाने वाले एंटीऑक्सिडेंट और कैफीन के उच्च स्तर के कारण, ब्लैक टी आपके बालों के लिए भी शानदार है।

अगर आप रोज ब्लैक टी पीते हैं तो क्या होता है?

सेब की तरह दिन में एक कप ब्लैक टी आपको कई बीमारियों से दूर रखने में मदद कर सकती है। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, यह हृदय स्वास्थ्य के लिए एक वरदान है - यह रक्तचाप को कम करता है, रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है और स्ट्रोक के जोखिम को कम करता है। यह समय से पहले बूढ़ा होने के लक्षणों को भी कम करता है। ब्लैक टी बैग्स को अपनी आंखों के नीचे रखने से पफनेस और डार्क सर्कल्स को कम करने में मदद मिलती है। बालों के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाने वाले एंटीऑक्सिडेंट और कैफीन के उच्च स्तर के कारण, ब्लैक टी आपके बालों के लिए भी शानदार है।

काली चाय के क्या फायदे हैं?

जब स्वास्थ्य की बात आती है, तो काली चाय के कई प्रभावशाली लाभ होते हैं! जब सही मात्रा में सेवन किया जाता है, तो यह आपके हृदय स्वास्थ्य को नियंत्रित रख सकता है - यह रक्तचाप को कम करता है, रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है और स्ट्रोक के जोखिम को कम करता है। यह समय से पहले बूढ़ा होने के लक्षणों को भी कम करता है। ब्लैक टी बैग्स को अपनी आंखों के नीचे रखने से पफनेस और डार्क सर्कल्स को कम करने में मदद मिलती है। बालों के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाने वाले एंटीऑक्सिडेंट और कैफीन के उच्च स्तर के कारण, ब्लैक टी आपके बालों के लिए भी शानदार है।

क्या दूध वाली चाय स्वस्थ है?

यह देखते हुए कि दूध और चाय की पत्तियां दोनों अपने-अपने आकर्षण और स्वास्थ्य लाभ तालिका में लाते हैं, रोजाना दूध के साथ चाय पीना पूरी तरह से सुरक्षित और सामान्य है। वास्तव में, भारत में, हम में से अधिकांश लोग अपने दिन की शुरुआत कैसे करते हैं और यहां तक ​​कि पूरे दिन तक जीवित रहते हैं!

English summary

Sulaimani Tea: How To Brew & Health Benefits in Hindi

Sulaimani Tea can help reduce cholesterol levels, keeping your heart health in check. It has anti-aging properties, improves blood flow, prevents clots and gives an energy boost.