For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

जान‍िए क्‍यों सर्दियों में मक्‍खन खाना चाह‍िए, हड्डिया रहती है मजबूत

|

सर्दियां आते ही घर में खान पान से जुड़ी सारे आदतें बदल जाती हैं। इस मौसम में गर्मागम पराठें पर ढ़ेर सारे मक्‍खन खाने का मजा ही कुछ और होता है। लेक‍िन आजकल कैलोरी और फैट के नाम पर लोग मक्‍खन खाने से परहेज करने लगे हैं। लेक‍िन सर्दियों में मक्‍खन खाना सेहत के ल‍िए लाभदायक होता हैं। अगर आप भी हेल्‍थ फ्रीक्‍स है तो बाजार का मक्‍खन छोड़कर आप

घर पर बनाया गया हुआ सफेद मक्‍खन खा सकते हो। बाजार के मक्‍खन में बहुत नमक होता हैं। जो सेहत के ल‍िए हेल्‍दी नहीं माना जाता है। जबकि घर में बना मक्‍खन सेहत के ल‍िहाज से काफी स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक होता है। आइए जानते हैं सर्दियों में सफेद मक्‍खन खाने के फायदे।

ज्‍यादा नमक होता है

ज्‍यादा नमक होता है

बाजार में मिलने वाले मक्खन में काफी अधिक मात्रा में नमक होता है, जो ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकता है। घर पर बनाए गए मक्खन का एक फायदा यह है कि आप इसमे अपनी पसंद के अनुसार नमक मिला सकते हैं या अगर नमक का इस्तेमाल न करना चाहें तो आप इसे ऐसे भी खा सकते हैं।

ट्रांस फैट होता है कम

ट्रांस फैट होता है कम

घर का बना मक्खन अच्छी वसा का एक स्रोत है, जो व्यावसायिक रूप से उपलब्ध बटर की तुलना में स्वस्थ हैं। इस मक्खन में ट्रांस-फैट होते हैं, जो वजन कम करने में मदद करते हैं।

कम होती है कैलोरी

कम होती है कैलोरी

हालांकि यह सही है कि घर पर बना मक्खन और बाजार में उपलब्ध मक्खन दोनों ही कैलोरी में अधिक होते हैं, लेकिन पीले मक्खन में सिर्फ कैलोरी होती है, जबकि सफेद मक्खन को विटामिन और खनिजों के साथ-साथ समृद्ध भी कहा जाता है।

मक्‍खन में होता है डेयरी वसा

मक्‍खन में होता है डेयरी वसा

चूंकि घर का बना मक्खन अनिवार्य रूप से डेयरी वसा होता है, इसलिए कुछ लोग इसे हृदय रोगों के बढ़ते जोखिम से जोड़ सकते हैं। लेकिन यह सुझाव देने के लिए पर्याप्त शोध प्रमाण हैं कि यह सच नहीं है। डेयरी से संतृप्त वसा , सफेद मक्खन में वसा की तरह, हृदय रोगों और स्ट्रोक के खिलाफ एक सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ता है।

ऐसे बनाएं घर में मक्‍खन

ऐसे बनाएं घर में मक्‍खन

सफेद मक्खन बनाना बेहद आसान है। घर पर मखाना बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि आप दूध की मलाई यानी क्रीम को इकट्ठा करें। जब तक आप पर्याप्त पूरी क्रीम (लगभग दो या तीन कप) एकत्र न कर लें, तब तक फ्रीज़र में क्रीम को स्टोर करें। एक बार इच्‍छानुसार मात्रा मिल जाएं, तो क्रीम को कमरे के तापमान तक नीचे आने तक बैठने दें। तब आप इसे एक फूड प्रोसेसर में जोड़ सकते हैं जब तक कि मक्खन और छाछ अलग या मैन्युअल रूप से इसे हरा न दें। मक्खन को मैन्युअल रूप से लकड़ी के मदानी से भी निकाला जा सकता है।

English summary

Why You Should Have More of Makhan or White Butter In Winter

White butter can be easily made at home using cream or malai that we get from whole milk. Here are some benefits and two easy ways of making it.
Story first published: Tuesday, November 26, 2019, 13:28 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more