For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

हमेशा खुश और स्‍वस्‍थ्‍य रहने के राज़

By Ajay Mohan
|
आज की दुनिया में हर कोई स्‍वस्‍थ्‍य और फिट रहना चाहता है। आप भी चाहते होंगे। शारीरिक, मानसिक स्‍वस्‍थ्‍यता और आस्‍था तीनों मिलकर व्‍यक्ति को स्‍वस्‍थ्‍य बनाते हैं। हमें अगर पता चलता है कि हमारे अंदर किसी विटामिन या मिनरल की कमी है, हम तुरंत उसके उपचार के लिए दवाओं का सहारा लेने लगते हैं। या फिर खान-पान पर ध्‍यान देने लगते हैं। क्‍योंकि इन्‍हीं सबसे हम स्‍वस्‍थ्‍य रह सकते हैं। कई बातें होती हैं जो हमें अंदर से स्‍वस्‍थ्‍य बनाती हैं। आज हम उन्‍हीं बातों पर चर्चा करेंगे।

फील गुड फैक्‍टर

यह स्‍वस्‍थ्‍य रहने का सबसे अच्‍छा और कारगर मंत्र है। तमाम लोग सोचते हैं कि सिर्फ अच्‍छा या स्‍वस्‍थ्‍य दिखना ही फिटनेस है, लेकिन ऐसा नहीं है। यह उनकी भूल है। जब तक अंदर से स्‍वस्‍थ्‍य महसूस नहीं करेंगे, तब तक स्‍वस्‍थ्‍य नहीं हो सकते।

खान-पान

जरा स मोटे हुए नहीं कि लोग डाइटिंग पर चले जाते हैं और कई चीजें सामने आने पर मन को मार देते हैं। जबकि होना यह चाहिये कि खाने-पीने की वस्‍तुओं के प्रति आपका रवैया अच्‍छा हो तो ना तो कुछ भी नुकसान नहीं करता। हमेशा से ही सभ्‍यता और धर्म भोजन को ईश्‍वर से जोड़ते आये हैं, इसलिए भोजन के प्रति नकारात्‍मक व्‍यवहार नहीं होना चाहिये। यह सुनिश्चित करते वक्‍त कि आपको क्‍या पसंद है यह जरूर ध्‍यान में रखना चाहिये कि ज्‍यादा खा लेने से भी नुकसान हो सकता है।

कड़ी मेहनत

स्‍वस्‍थ्‍य रहने के लिए कड़ी मेहनत आवश्‍यक होती है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप सिर्फ काम करते रहें। योग और व्‍यायाम भी स्‍वस्‍थ्‍य रहने के बेहतरीन उपाये हैं। खास बात यह है कि इनका कोई साइड इफेक्‍ट नहीं होता।

सकारात्‍मक ऊर्जा

हर काम में सकारात्‍मक ऊर्जा हो तो व्‍यक्ति हमेशा खुश रहता है। और खुश रहना हमेशा से स्‍वस्‍थ्‍य रहने का मूल मंत्र है। ऐसे में आप हमेशा अच्‍छा महसूस करते हैं। कई लोग जो खुश नहीं रहते, अकसर बीमार पड़ जाते हैं। वैसे आज के समय में हर व्‍यक्ति तनाव से गुजरता है। सच पूछिए तो तनाव से बड़ा कुछ भी नहीं होता, लेकिन यदि आप तनाव को लेकर बैठ जायेंगे, तो कभी स्‍वस्‍थ्‍य नहीं रह पायेंगे। संगीत के साथ व्‍यायाम, गहरी सांस लेना और टहलना, आदि करके आप खुद के अंदर परिवर्तन ला सकते हैं। जो लोग अपने शरीर की मांग को समझते हैं, वो यह सब करने के लिए तैयार रहते हैं।

स्‍वस्‍थ्‍य रहने के लिए ज्‍योतिष

कई ऊर्जाएं हैं जो हमारे चारों तरफ हमेशा रहती हैं। कई ग्रह और जानवर और यहां तक पृथ्‍वी भी हमारे स्‍वस्‍थ्‍य को प्रभावित करती है। ज्‍योतिष की एक विधा ऐसी होती है जो आपके स्‍वास्‍थ्‍य का आंकलन कर सकती है और उसे बेहतर बनाने के उपाये बताती है। यहां तक भविष्‍य की बीमारी होने व किसी दुर्घटना से गुजरने का समय तक बता देती हैं।

सही खान-पान, सही से रहना, सही रोजगार, सही संबंध और सही धार्मिक क्रियाएं हमारे अंदर सकारात्‍मक ऊर्जा को पैदा करती हैं। इससे हम हमेशा स्‍वस्‍थ्‍य रहते हैं।

उदाहरण के तौर पर मंगल गर्म ग्रह होने की वजह से व्‍यक्ति में बुखार, जलन, संक्रमण, चोट आदि का कारण हो सकता है। इनका इलाज ठंडक पहुंचाने वाली जड़ी बूटी और भोजन खाकर किया जा सकता है या ग्रहों की चाल के प्रभाव को कम करने वाले विशेष पत्‍थर और मंत्रों के माध्‍यम से भी इसे नियंत्रित किया जा सकता है।

आप अपने स्‍वास्‍थ्‍य राशिफल के माध्‍यम से बीमारियों को दूर रख सकते हैं और तो और समय से उनका उपचार कर सकते हैं।

English summary

The Secret For Your Health And Wellbeing | हमेशा खुश और स्‍वस्‍थ्‍य रहने के राज़

Health and Fitness is a wholesome experience - at the physical, mental and spiritual levels while the maintenance of health is a process of constant readjustment to change.
Desktop Bottom Promotion