For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

खाट या चारपाई पर सोने से आती है बढ़िया नींद, पुराने कमर दर्द की कर देता है छुट्टी

|

आपने अपने या अपने परिवार के सदस्यों को कमर दर्द की शिकायत करते सुना होगा। इसी के साथ वे तुरंत अपना पलंग उठाकर उस पर सोने पहुंच जाते हैं। ऐसा माना जाता है कि अगर आपको पीठ, कमर या गर्दन में दर्द है तो सोने से आपको आराम मिलेगा। अक्सर ऐसा होता है कि गद्दा खरीदते समय हम उसे मुलायम और मुलायम देखकर ही लेते हैं, लेकिन बाद में हमारी पीठ, गर्दन या पीठ में दर्द होने लगता है। इसके लिए विशेषज्ञ आपको चारपाई पर सोने की सलाह देते हैं। आइए जानते है क‍ि क्‍या सच में चारपाई पर सोने से पुराने सा पुराना कमर दर्द भी गायब हो जाता है।

कमर दर्द बार-बार क्यों होता है?

1. तनाव

1. तनाव

पीठ दर्द अक्सर तनाव या चोट के कारण होता है। मांसपेशियों में खिंचाव या स्नायुबंधन, मांसपेशियों में ऐंठन, क्षतिग्रस्त डिस्क, चोट, फ्रैक्चर या गिरना ऐसे कई कारण हैं जो पीठ दर्द का कारण बन सकते हैं। यदि आप कुछ गलत तरीके से उठाते हैं या कोई भारी वजन उठाते हैं, तो आपको दर्द होने की संभावना रहती है।

2. संरचनात्मक समस्याएं

2. संरचनात्मक समस्याएं

किसी संरचनात्मक समस्या के कारण भी आपको कमर दर्द हो सकता है। टूटी या उभरी हुई डिस्क, गठिया, रीढ़ की हड्डी में समस्या, ऑस्टियोपोरोसिस आदि। विकार भी आपकी पीठ में दर्द पैदा कर सकते हैं।

3. गलत हरकत या मुद्रा

3. गलत हरकत या मुद्रा

ज्यादा देर तक कंप्यूटर पर झुककर या पढ़ते समय भी पीठ दर्द की समस्या हो जाती है। इस रोज़मर्रा की गतिविधि से आपकी मुद्रा खराब हो जाती है और आपको दर्द का सामना करना पड़ता है।

तो क्या खाट पर सोने से सच में कमर दर्द में आराम मिलता है?

तो क्या खाट पर सोने से सच में कमर दर्द में आराम मिलता है?

हम में से कई लोग रात को अपने आरामदायक गद्दे और मुलायम तकिए पर सोने के आदी हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि खाट पर सोने से कमर दर्द से राहत मिलती है। हाँ, यह वास्तव में फायदेमंद है।

पुराने दर्द से राहत देता है

पुराने दर्द से राहत देता है

कई बार सोते समय आपके शरीर के गलत पोस्चर में रहने के कारण भी दर्द हो सकता है। यह एक नरम गद्दे और अत्यधिक सूजे हुए तकिए के कारण हो सकता है। आप इसे महसूस नहीं कर सकते क्योंकि आप गद्देदार जगह पर सोते हैं। लेकिन इन पोजीशन में सोने से जोड़ों पर दबाव पड़ सकता है। लंबे समय तक ऐसे ही सोने से दर्द और दर्द होता है।

खाट पर सोने से यह ठीक हो सकता है क्योंकि आप उस पर गद्दीदार महसूस नहीं करेंगे और गलत मुद्रा में सोने पर तुरंत सीधे हो जाएंगे। शुरुआत में यह असहज महसूस करेगा, लेकिन कुछ ही दिनों में यह आपके लिए एक आरामदायक आदत साबित होगी।

खाट पर सोने से गलत मुद्रा ठीक हो जाती है

खाट पर सोने से गलत मुद्रा ठीक हो जाती है

दिन भर जब आप लगातार कंप्यूटर पर काम करते हैं तो आपकी कमर आगे की ओर झुकने लगती है। इसलिए रात में आपको ऐसे बिस्तर की जरूरत होती है, जो आपको आराम देने के साथ-साथ आपके पोस्चर को भी सही रखे। चारपाई पर सोने से आपकी दोनों जरूरतें पूरी होती हैं। पतली रस्सियों से बनी एक खाट आपकी सभी मांसपेशियों को वह आराम देती है जिसकी उन्हें आवश्यकता होती है।

गर्दन और कूल्हे के दर्द से राहत

गर्दन और कूल्हे के दर्द से राहत

चारपाई पर सोने से आपकी रीढ़ सीधी रहती है जिससे कमर दर्द के अलावा गर्दन और कूल्हे के दर्द से भी छुटकारा मिल सकता है।

रक्त परिसंचरण में सुधार

रक्त परिसंचरण में सुधार

चारपाई पर सोने से रक्त संचार बेहतर होता है। जी हां, जैसा कि हमने आपको बताया कि नर्म गद्दे पर सोने से अक्सर नसों और मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है। इसलिए अगर आप चारपाई पर सोते हैं तो इसकी संभावना कम होती है।

साइटिका के दर्द से राहत

साइटिका के दर्द से राहत

आप खाट पर सोने से साइटिका के दर्द से राहत पा सकते हैं। साइटिका का दर्द किसी बुरे सपने जैसा हो सकता है। इस वजह से आप गलत जगह पर शरीर या नसों पर दबाव डाल सकते हैं। साइटिका एक नस है जो कमर और कूल्हों से होते हुए आपके पैरों तक जाती है। ऐसा माना जाता है कि खाट पर सोने से साइटिका के दर्द में आराम मिलता है।

English summary

Health Benefits Of Sleeping on a Charpai Bed In Hindi

we take it by looking at the soft and soft, but later our back, neck or back starts to suffer. For this, experts suggest you sleep on the cot.