For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

ब‍िना खील के अधूरी मानी जाती है लोहड़ी, जानें इसे खाने के फायदे

|

खील, ज‍िसे लावा या लाई के नाम से भी जाना जाता है, कई धार्मिक आयोजनों में इसे काम में ल‍िया जाता है। धान से तैयार होने वाली खील को मकर संक्रांति, पूजा व विवाह आदि धार्मिक कार्यों व त्योहारों में इस्तेमाल किया जाता है। खासतौर पर इसे लोहड़ी की अग्नि में गजक, मूंगफली व रेवड़ियों के साथ डाला जाता है। इसके अलावा ये सेहत की दृष्टि से भी काफी फायदेमंद होती है।

खाने में सुपाच्य होने और इसमें पाए जाने वाले गुणों के कारण इसे हेल्दी ब्रेकफास्ट माना गया है। अपनी डाइट में इसे शाम‍िल करने पर यह आपको कई बीमारियों से बचा सकती है। आइए जानते हैं खील के हेल्थ बेनेफिट्स के बारे में-

काब्रोहाइड्रेट की अधिकता

काब्रोहाइड्रेट की अधिकता

खील मुख्य रूप से धान से तैयार होता है। इसमें भरपूर रूप से कार्बोहाइड्रेट होता है, जो बच्चों के विकास के लिए बहुत ही अच्छी होती है। कार्बोहाइड्रेट के सेवन से शरीर को उर्जा मिलती है। अगर आप शारीरिक रूप से कमजोर हैं, तो खील से बनी रेसिपी का सेवन जरूर करें।

Lohri 2021: क्यों लोहड़ी पूजा में महत्वपूर्ण होती है 'खील' | Health Benefits Of Kheel | Boldsky
 फाइबर की अधिकता

फाइबर की अधिकता

खील खान से तैयार होता है। फाइबर की अधिकता की वजह से यह मोटापे को कम करने में आपकी मदद करता है। इसमें रेशे काफी ज्यादा होते हैं, जो कब्ज की परेशानी को दूर करने में सहायक होते हैं। इसके साथ ही इसमें फास्फोरस और क्षारीय पदार्थ की मात्रा भरपूर रूप से होती है।

किडनी की परेशानी से करे बचाव

किडनी की परेशानी से करे बचाव

खील में क्षारीय गुण होता है, जो किडनी में होने वाली परेशानियों से आपको बचाता है। किडनी की परेशानी से जूझ रहे लोगों को खील से बनी रेसिपी का सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही आप खील के पानी का भी सेवन कर सकते हैं।

भूख को करे कम

भूख को करे कम

खील का सेवन करने से आपको भूख कम लगती है। इसके साथ ही यह लंबे समय से उपवास रखने वालों के लिए भी उत्तम आहार माना जाता है।

विटामिन डी से भरपूर

विटामिन डी से भरपूर

खील में विटामिन डी भी भरपूर रूप से होता है। अगर आप दूध में खील मिलाकर खाते हैं, तो यह आपके लिए बढ़िया कॉम्बिनेशन साबित हो सकता है। इससे शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं।

ORS की तरह करें प्रयोग

ORS की तरह करें प्रयोग

शिशु को दस्त की शिकायत होने पर आप खील का इस्तेमाल ओआरएस की तरह कर सकते हैं। खील का पानी दस्त की शिकायत को दूर करता है। साथ ही डिहाइड्रेश की परेशानी भी दूर होती है। खील का पानी तैयार करने के लिए आप 1 गिलास पानी लें। इसमें 2 चम्मच खील डालकर रातभर के लिए छोड़ दें। यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

English summary

Lohri Special: Health Benefits of Eating Kheel

Kheel, also known as lava or lai, is easily found in the kitchen of every household. It is mainly prepared from paddy. Being used in religious functions (Lohri, Makar Sankranti, Vivah, Lakshmi Puja, Diwali) is also very beneficial in terms of health.