India
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Sawan Somvar Vrat: आप भी करते हैं नमक का परहेज, जानें क्‍या होता है जब आप नहीं खाते है पूरा द‍िन नमक

|

सावन का महीना शुरु हो चुका है, हिंदू वेदों और पुराणों में इस महीनें का बहुत ही धार्मिक म‍हत्‍व है। ऐसा माना जाता है क‍ि इस माह में शिवजी का व्रत करने से हर मनोकामना पूरी होती है। हालांक‍ि कोई भी व्रत आसानी से नहीं होता है। व्रत के दौरान कई तरह के परहेज करने होते है। सावन में कई तरह के अनुष्‍ठान क‍िए जाते हैं। इसल‍िए जब बात भोजन की है तो कई प्रतिबंध हैं। पुराने जमाने से ये नियम है क‍ि सावन में लोग व्रत करने के दौरान बिना नमक के या सेंधा नमक के साथ तैयार किया गया भोजन करना पसंद करते हैं। कई लोग इस दौरान नमक नहीं खाने के बहुत सारे तर्क देते हैं। कभी आपने सोचा है ऐसा करने से शरीर को फायदा पहुंचता है या नुकसान? आइए जानते है क‍ि बिना नमक के भोजन करने से क्‍या-क्‍या समस्‍याएं हो सकती है और एक दिन में क‍ितना नमक खाना चाह‍िए ?

क‍ितना नमक एक दिन में खाना चाह‍िए ?

क‍ितना नमक एक दिन में खाना चाह‍िए ?

नमक सिर्फ खाने में स्‍वाद ही नहीं बढ़ाता है बल्कि ये शरीर के ल‍िए एक जरुरी घटक भी है। इसमें सोडियम होता है जो मुख्य तौर पर एक इलेक्ट्रोलाइट है, जो सेहत के ल‍िए बहुत ही महत्‍वपूर्ण है। शरीर में अधिक सोडियम की मात्रा हाइपरटेंशन की मुख्‍य वजह होती है। इसलिए इसका सेवन नियंत्रित मात्रा में ही करना चाहिए।

वैसे तो एक इंसान को दिन में करीब 5 से 6 ग्राम नमक का सेवन करना चाहिए, लेकिन अभी आईसीएमआर और एनआईएन यानि नेशनल इंस्टीट्यूट और न्यूट्रिशन के अनुसार हमें कम से कम 2 से 3 ग्राम यानी आधा चम्मच नमक खाना चाहिए।

हाइपोनेट्रेमिया की समस्‍या

हाइपोनेट्रेमिया की समस्‍या

हाइपोनेट्रेमिया एक ऐसी स्थिति है जो रक्त में सोडियम के कमी के वजह से होती है। नमक की कमी के वजह से ये समस्‍या होती है। जिसमें मरीज को डिहाइड्रेशन के अलावा मस्तिष्क में सूजन, सिरदर्द, दौरे, कोमा और स्थिति गंभीर होने पर मुत्‍यु भी हो सकती है।

बढ़ सकती है दिल की बीमारी

बढ़ सकती है दिल की बीमारी

नमक की कमी के वजह से दिल से जुड़ी बीमारियां भी हो सकती है। एनसीबीआई की ओर से हुई एक अध्ययन के अनुसार लगातार कई दिनों तक 2,300 मिलीग्राम से कम सोडियम यानी नमक के सेवन की वजह से हृदय रोग का जोखिम बढ़ जाता है। जिसमें दिल का दौरा और स्ट्रोक शामिल हैं।

इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि

इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि

नमक के सेवन न करने से आपके ब्लड शुगर लेवल में भी बदलाव आ सकता है। अगर आपको डायबिटीज नहीं है, तो आपके शरीर में इन्सुलिन प्रतिरोध में वृद्धि हो सकती है। जिसकी वजह से हार्ट प्रॉब्‍लम हो सकती है और ब्‍लडप्रेशर लो हो सकता है।

तो व्रत में क्‍या करें?

तो व्रत में क्‍या करें?

जो लोग व्रत रखते है उन्‍हें अपने खाने में सेंधा नमक का सेवन करना चाहि‍ए। जिनका लोग उपवास में सेवन कर सकते हैं।

English summary

Sawan Somwar : Health Dangers of salt restriction in fasting in Hindi

Here we talking about why the Restricting of salt during Sawan vart will be dangerous for health. know how much salt intake is good for health Read on.
Desktop Bottom Promotion