क्या आप जानती हैं संभोग के बाद किन कारणों से होता है दर्द?

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

संभोग के दौरान दर्द होना एक ऐसी समस्या है जिससे कई महिलाएं गुज़रती हैं। हालांकि, यह बहुत चिंता जनक समस्या नहीं है, अगर दर्द रहने पर भी इसे नज़रअंदाज़ किया जाए तो यह एक बड़ी समस्या बन सकती है।

स्वास्थ्य सलाहकारों के अनुसार लैंगिक रूप से सक्रिय महिलाओं को अपनी स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास साल में तीन बार कम से कम जाना चाहिए। डॉक्टर के पास जाने से माहवारी, शिशु जन्म और लैंगिक स्वास्थ्य से सम्बंधित आपकी सारी समस्याएं हल हो सकती हैं।

READ: रोज सेक्‍स करने से होते हैं ये कमाल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

जब बात संभोग की आती है तो महिलाएं सबसे ज़्यादा पीड़ा झेलती हैं। संभोग के दौरान दर्द होने का कारण योनि में संक्रमण भी हो सकता है या फिर हो सकता है कि आपको ओवेरियन सिस्ट या एंडोमेट्रिओसिस हो।

इन समस्याओं को नज़रअंदाज़ करना आपके लिए समस्या खड़ी कर सकती है और बाद में आपको और परेशानी झेलनी पड़ सकती है। इसलिए अगर संभोग के दौरान या बाद में आपको दर्द होता है तो आपको जल्द से जल्द डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए और उपचार करवाना चाहिए।

READ: PCOS से लड़ने के लिये खाएं ये खाघ पदार्थ

तब तक संभोग के दौरान दर्द के कुछ कारणों पर ध्यान दें और आपको अपनी समस्या से जुड़े कुछ लक्षण दिख सकते हैं:

 योनि में सूखापन :

योनि में सूखापन :

सूखे वजाइना के कारण संभोग के दौरान आपको दर्द हो सकता है और आप चिल्ला उठेंगी। वजाइना के सूखे होने का मुख्य कारण दवाई या फिर तनाव हो सकता है। अगर बच्चे के आपका जन्म के बाद आपके वजाइना में सूखापन रहता है तो यह एक साइड इफ़ेक्ट भी हो सकता है। हालांकि, बढ़ती उम्र के साथ यह मीनोपॉज का संकेतक भी होता है। अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में कुछ बदलाव से इस समस्या का समाधान मिल सकता है।

संक्रमण के कारण:

संक्रमण के कारण:

संभोग के बाद दर्द का मुख्य कारण संक्रमण भी हो सकता है। जननांग सम्बन्धी संक्रमण जैसे यीस्ट संक्रमण, त्रिकोमोनिअसिस और जेनिटल हर्पिस से आपको संभोग के बाद बेहद दर्द हो सकता है। इसलिए संक्रमण से छुटकारा पाने के लिए डॉक्टर से जल्द से जल्द सलाह लें।

 शिशु जन्म के तुरंत बाद:

शिशु जन्म के तुरंत बाद:

अगर आपने बच्चे को प्राकृतिक रूप से जन्म दिया है तो आपको संभोग के बाद दर्द हो सकता है। दर्द का मुख्य कारण यह है कि बच्चे के जन्म के बाद वजाइना काफी संवेदनशील हो जाता है। इसलिए संभोग के बारे में सोचने से पहले अपने आप को थोड़ा समय दें।

 पीएमएस का समय:

पीएमएस का समय:

संभोग के दौरान दर्द तब भी हो सकता है अगर माहवारी के एक या दो दिन पहले संभोग किया गया हो। इस दौरान भी जननांग संवेदनशील होता है और पेट दर्द और मरोड़ के कारण संभोग ख़ुशी न देकर दर्द ही देता है।

ओवेरियन सिस्ट:

ओवेरियन सिस्ट:

अगर आपको संभोग के दौरान या बाद में काफी दर्द होता है और अगर जननांग सुन्न और संवेदनशील हो जाता है तो यह ओवेरियन सिस्ट के होने का इशारा है। पक्का होने के लिए तुरंत डॉक्टर की सलाह लें और उपचार करवाएं।

अधिकतम प्रवेश:

अधिकतम प्रवेश:

अधिकतम प्रवेश के समय पेनिस सर्विक्स तक पहुँच जाता है जो बच्चेदानी के लिए खुलती है। अगर सर्विक्स में कोई संक्रमण है तो संभोग के दौरान दर्द हो सकता है।

पेड़ू का सूजन:

पेड़ू का सूजन:

पेड़ू का सूजन से सम्बंधित बीमारियों के कारण जो टिश्यू अनदर होती हैं वह सूज जाती हैं और इसके कारण संभोग के दौरान जब जोड़ पड़ता है तो दर्द होता है।

Story first published: Friday, February 19, 2016, 10:08 [IST]
English summary

क्या आप जानती हैं संभोग के बाद किन कारणों से होता है दर्द?

According to health experts, sexually active women should make it a point to visit their gynaecologist at least thrice in a year.
Please Wait while comments are loading...