For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

भगवत गीता में छिपा है डिप्रेशन दूर करने का हल, इन श्‍लोकों को पढ़ने से मूड होगा फ्रेश

|

प्रति‍दिन की भागदौड़ भरी दिनचर्या में काम और घर परिवार से जुड़ी कई बाते आपको मानसिक रूप से थका देती है और तनाव का कारण बनती हैं। अगर आप मानसिक तनाव के शि‍कार है तो आपको श्रीमद भगवत के श्‍लोक पढ़ने चाह‍िए। अज्ञात भय या असुरक्षा की भावना होने पर श्रीमद भगवत अंधकार में ज्‍योत‍ि की तरह काम करती हैं। गीता में जिंदगी का सार छ‍िपा हुआ है। इसमें जीवन से जुड़ी हर समस्‍या का समाधान है। जब कभी भी आप अवसाद की भावना से घिर जाए तो श्रीमद भगवत के ये श्‍लोक जरुर पढ़े आपको हर सवाल का जवाब मिल जाएगा।

1. वर्तमान का आनंद लो

1. वर्तमान का आनंद लो

बीते कल और आने वाले कल की चिंता नहीं करनी चाहिए, क्योंकि जो होना है वही होगा। जो होता है, अच्छा ही होता है, इसलिए वर्तमान का आनंद लो।

2. आत्मभाव में रहना ही मुक्ति

नाम, पद, प्रतिष्ठा, संप्रदाय, धर्म, स्त्री या पुरुष हम नहीं हैं और न यह शरीर हम हैं। ये शरीर अग्नि, जल, वायु, पृथ्वी, आकाश से बना है और इसी में मिल जाएगा। लेकिन आत्मा स्थिर है और हम आत्मा हैं। आत्मा कभी न मरती है, न इसका जन्म है और न मृत्यु! आत्मभाव में रहना ही मुक्ति है।

Most Read : गीता में श्रीकृष्‍ण ने कहीं ये बात ऐसे करें दिन की शुरुआत, सुधरेंगे बिगड़े हालात

3. यहां सब बदलता है

3. यहां सब बदलता है

परिवर्तन संसार का नियम है। यहां सब बदलता रहता है। इसलिए सुख-दुःख, लाभ-हानि, जय-पराजय, मान-अपमान आदि में भेदों में एक भाव में स्थित रहकर हम जीवन का आनंद ले सकते हैं।

4. क्रोध शत्रु है

अपने क्रोध पर काबू रखें। क्रोध से भ्रम पैदा होता है और भ्रम से बुद्धि विचलित होती है। इससे स्मृति का नाश होता है और इस प्रकार व्यक्ति का पतन होने लगता है। क्रोध, कामवासना और भय ये हमारे शत्रु हैं।

5. ईश्वर के प्रति समर्पण

5. ईश्वर के प्रति समर्पण

अपने को भगवान के लिए अर्पित कर दो। फिर वो हमारी रक्षा करेगा और हम दुःख, भय, चिन्ता, शोक और बंधन से मुक्त हो जाएंगे।

Depression से लड़ रहे है तो इन Helpline Numbers पर करें कॉल | Depression Helpline Numbers | Boldsky
6. नजरिए को शुद्ध करें

6. नजरिए को शुद्ध करें

हमें अपने देखने के नजरिए को शुद्ध करना होगा और ज्ञान व कर्म को एक रूप में देखना होगा, जिससे हमारा नजरिया बदल जाएगा।

7. मन को शांत रखें

अशांत मन को शांत करने के लिए अभ्यास और वैराग्य को पक्का करते जाओ, अन्यथा अनियंत्रित मन हमारा शत्रु बन जाएगा।

8. कर्म से पहले विचार करें

8. कर्म से पहले विचार करें

हम जो भी कर्म करते हैं उसका फल हमें ही भोगना पड़ता है। इसलिए कर्म करने से पहले विचार कर लेना चाहिए।

9. अपना काम करें

कोई और काम पूर्णता से करने से कहीं अच्छा है कि हम अपना ही काम करें। भले वह अपूर्ण क्यों न हो।

Most Read : गीता के इन उपदेशों को मानिये, जीवन में कभी नहीं होगी आपकी हार

10. समता का भाव रखें

10. समता का भाव रखें

सभी के प्रति समता का भाव, सभी कर्मों में कुशलता और दुःख रूपी संसार से वियोग का नाम योग है।

English summary

Overcoming Depression With Help From The Bhagavad Gita

Take a look at some of these Bhagavad Gita quotes you can use to bring your life back on the right track.
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more