क्‍या है इस की मॉडल की पहचान, ये स्त्री है या पुरुष?

Subscribe to Boldsky

हम जिस दुनिया में रहते है वहां एक इंसान की पहली पहचान उसके लिंग के आधार पर होती है। उसके बाद दूसरे स्‍तरों पर उसे जाना जाता है। हालांकि लिंग का चयन करना किसी इंसान के हाथ में नहीं होता है। जब किसी व्यक्ति का जन्‍म होता है। कुछ निश्चित जींस और X-Y क्रोमोसम व्यक्ति का लिंग निर्धारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। शायद आपको नहीं मालूम होगा कि केवल एक अतिरिक्त क्रोमोसम के कारण भी व्‍यक्ति का लिंग पूरी तरह बदल जाता है।

आज हम आपको एक ऐसे मॉडल से मिलवाने जा रहे है। जो एक मशहूर ऐन्ड्रॉजनस (उभयलिंगी) मॉडल हैं।

ऐन्ड्रॉजनस का अर्थ है कि ऐसे व्यक्ति के शारीरिक गुण दोनों लिंगों (स्त्री और पुरुष) दोनों से मिलते जुलते होते हैं।
मिलिए मशहूर मॉडल रेन डव से। रेन मॉडलिंग की दुनिया में अपनी अलग स्‍टाइल और अलग शख्सियत की वजह से मॉडलिंग इंडस्‍ट्री का जाना माना चेहरा है। वो न्‍यूयॉर्क फैशन वीक जैसे इवेंट के लिए वॉक कर चुकी हैं।

रेन की शख्सियत ने लिंगभेद की बनाई हुई एक दीवार को तोड़कर खुद की विशेषता के समझते हुए अपने अलग दृष्टिकोण के कारण के मॉडलिंग में अपना एक अलग मुकाम बनाया।

रेन कभी रैम्‍प पर मेन्‍सवियर तो कभी वुमन वियर पहनकर वॉक करती हुई नजर आ जाती है। आइए इस आर्टिकल के जरिए जानते है रेन डव के संघर्ष से लेक‍र बुलंदी तक का सफर।

Boldsky

खुद को बदसूरत समझती थी

रेन को जब तक उन्‍हें अपनी विशिष्‍ट गुणों के बारे में नहीं मालूम चला तो उन्‍हें लगता था कि वो बदसूरत महिला है। लेकिन उन्‍हें कभी इस चीज को बुरा नहीं माना न ही अपने ऊपर हावी होने दिया।

उन्होंने बताया, ऐसा तब तक था जब तक.....

" वो बताती है कि वो एक खतरनाक फायरफाइटर हुआ करती थी। इस दौरान उन्‍हें अपने अपने लिंग की अस्पष्टता और कामुकता की शक्ति का एहसास हुआ।"

जब वो लिंगभेद की जकड़न से बाहर निकली

उन्होंने बताया, "जब मैं एक फायरफाइटर थी तो लोग सोचते थे कि मैं एक पुरुष हूं और मैंने ये स्वीकार किया क्योंकि मुझे उस वक्‍त नौकरी की सख्‍त जरुरत थी। और उस वक्‍त मैं कोलोराडो के आसपास कहीं था। उन्होंने बताया कि, "इसलिए नौकरी पाने के लिए मैंने अपने लिंग की अस्पष्टता का उपयोग किया और उस समय जो भी नौकरी मिली जैसे बच्चों की देखरेख करने वाली आया से लेकर लैंडस्केपिंग का काम किया।"

उसका संघर्ष....

जब कोई उनसे उनके संघर्ष के दिनों के बारे में पूछता है तो वह बताती है कि " मेरे पास कोई नौकरी नहीं थी और न ही रहने के लिए कोई जगह थी। पिछले साल कड़ाके की ठंड पड़ रही थी। और ठंड से बचने का मेरे पास कोई संसाधन नहीं था । उन्‍होंने बताया कि जब तक मुझे न्‍यूयॉर्क फैशन वीक से मॉडलिंग असाइनमेंट नहीं मिला तब तक मैंने एक शॉवर स्‍टॉल में रहकर दिन गुजारे

वर्तमान में वह एक कार्यकर्ता है

वह एक कार्यकर्ता है जो अभिनय के क्षेत्र में अपना करियर बना रही हैं और वे एक मॉडल भी हैं। वो जब भी रैम्‍प पर मेन्‍स या वुमनवियर पहनकर वॉक करती है। उनका आत्‍मविश्‍वास काबिले तारीफ होता है।

ब्‍यूटी विद् ब्रेन

रेन ने यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफोर्निया, बेर्कले से जेनेटिक इंजीनियरिंग और सिविल लॉ में डिग्री प्राप्त की है। उन्‍होंने बताया कि पढ़ाई के शुरआती दिनों में स्कॉलरशिप मिलना कठिन था परन्तु उन्‍होंने अपनी लगन और मेहनत से स्‍कॉलशिप ले ली।

समाज के बारे में उनके विचार....

वे कहती हैं, "मेरे विचार से सभी लोग उभयलिंगी हैं। ये सिर्फ हम लोग ही है जिसने लिंगभेद जैसी दिवारों को बनाया है। मेरे विचार से उभयलिंगी वे लोग होते हैं जो शारीरिक रूप से किसी विशेष लिंग के नहीं दिखते - लेकिन आप यह किसी हद तक नहीं जान सकते कि उनके कपड़ों के पीछे क्‍या छिपा है।

उन लोगों के लिए सलाह जो अपने शरीर से लड़ रहे हैं....

रेन ने अपने विचारों को व्‍यक्‍त करते हुए कहा है कि इस दुनिया में सभी अलग और अद्भूत बनने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और जो बात आपको सही मायने में अलग बनाती है वो ये है कि आप जैसे हैं वैसे हीं रहें। वो कहती हे कि लिंग भेद जैसे कोई बात इस दुनिया में अस्तित्‍व ही नहीं रखती है। इस दुनिया में ऐसे भी लोग है जो आपको आपकी असलियत के साथ स्‍वीकार करते हैं और आपसे प्‍यार करते हैं और आगे भी प्‍यार करते रहेंगे। और मैं उन खुश नसीबों में से एक हूं जिन्‍हें ऐसे लोग‍ मिले हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    Read more about: bizarre life अजब गजब
    English summary

    What's The Identity Of This Model? Male Or Female?

    is androgynous model is creating a buzz in the world of modelling. Check out some of the amazing pictures of hers, as she is ruling the world in the right sense.
    Story first published: Thursday, May 11, 2017, 12:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more