भारत के इस अनोखे मंदिर में होती है मुस्लिम महिला की पूजा...

By pooja joshi
Subscribe to Boldsky

पूजा का घर और धार्मिक गतिविधियों के ढांचे के रूप में हिन्दू धर्म के लोगों द्वारा दुनिया में एक विशेष स्थान का निर्माण किया गया है जिसे हम मंदिर कहते है। भारत में मंदिर अपने आप में विशिष्ट महत्व रखते है जो कि सामान्यतः राजाओं, योद्धाओं और महान लोगों द्वारा बनाए गए है। हालांकि विभिन्न देवी-देवताओं की पूजा करने के साथ, भगवान के लिए लोगों की आस्था और विश्वास भिन्न हो सकते है। अपने अहंकार को दरकिनार रखते हुए, हिन्दू अपने समुदाय के विकास के बाद से ही मंदिर में पूजा करते आ रहे है। ऐसे में हिन्दूओं के लिए मंदिर एक इमारत या बुनियादी ढांचे से कहीं अधिक है।

यूं तो भारत में कई मंदिर है लेकिन इनमें एक अनूठा मंदिर ऐसा भी है जहां मंदिर में एक मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है। जो कि वाकई में सभी के लिए हैरत की बात है।

Boldsky

इस मंदिर में मुस्लिम महिला की होती है पूजा

गुजरात के छोटे से गांव झूलासन में स्थिति ये मंदिर अपनी इस असामान्य विशेषता के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर में डोला नामक एक मुस्लिम महिला की पूजा की जाती है और स्थानीय लोग इसे भगवान के रूप में मानते है। इससे जुड़ी कहानी 250 साल पहले की है जब कुछ उग्र लोगों ने झूलासन गांव पर हमला किया था। तब इस डोला नामक मुस्लिम महिला ने इन बदमाशों का बहादुरी के साथ मुकाबला किया। हालांकि वो इन बदमाशों के आगे ज्यादा टिक नहीं पाई और इस लड़ाई में मारी गई।

महिला का शरीर बन गया था फूल

प्रत्यक्षदर्शी बताते है कि मृत्यु के बाद महिला का शरीर तुरंत फूल में तब्दील हो गया। जिसके बाद इस निडर महिला को श्रद्धांजलि देने के लिए स्थानीय लोगों ने उस स्थान पर मंदिर का निर्माण करवाया, जहां डोला ने अंतिम सांस ली थी। तब से डोला माता की हर किसी के द्वारा पूजी जाने लगी और साथ ही कई लोग खासकर इस मुस्लिम महिला की पूजा करने के लिए इस गांव में आते है।

मंदिर में नहीं है कोई मूर्ति

हालांकि मंदिर के अंदर डोला माता की कोई मूर्ति नहीं है, बल्कि आपको वहां साड़ी में लिपटा एक पत्थर नजर आएगा। इसके अलावा, गुजरात के इस छोटे से गांव को पहली महिला अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स के मूल गांव के रूप में भी जाना जाता है। इस मंदिर ने उस वक्त अधिक प्रसिद्धि प्राप्त की जब सुनिता अपने पिता के साथ डोला माता देवी मंदिर के दर्शन करने आई। यहां कई लोग डोला माता से आशीर्वाद प्राप्त करने आते है क्यूंकि उनकी मान्यता है कि डोला माता उनकी इच्छाओं को पूरी करेगी।

250 साल पुराना है ये मंदिर

दिलचस्प बात ये है कि डोला माता मंदिर 250 साल पुराना है और इसकी सार-संभाल बीजेपी नेता द्वारा की जाती है, जो कि इस मंदिर में पूजा करने आता है। वहीं एक और हैरत की बात ये भी है कि इस झूलासन गांव में एक भी मुस्लिम परिवार नहीं है। झूलासन गांव अहमदाबाद से 40 किमी दूर है। वैसे आपको इस प्रसिद्ध डोला मंदिर तक ले जाने के लिए बस और कैब की सुविधा उपलब्ध है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    भारत के इस अनोखे मंदिर में होती है मुस्लिम महिला की पूजा... | temple in Gujarat is dedicated to this Muslim goddess

    After death, the woman's body immediately turned into flowers. After this, local people constructed a temple at that place to pay tribute to this fearless lady
    Story first published: Monday, September 25, 2017, 12:30 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more